पेट्रोल को लेकर फैलाई अफवाह तो हो सकती है जेल

सोमवार, 7 अक्टूबर 2019 (13:44 IST)
इंदौर। मध्यप्रदेश में ट्रांसपोर्टर्स की हड़ताल चल रही है। इस हड़ताल में पेट्रोल-डीजल सप्लाई करने वाले संचालक भी शामिल हो गए। पेट्रोल पंप बंद होने की अफवाह के चलते पेट्रोल पंपों पर भारी भीड़ हो गई थी। इसके बाद प्रशासन को जनता को आश्वस्त करना पड़ा कि पेट्रोल-डीजल आपूर्ति में कोई कमी नहीं होने दी जाएगी।
ALSO READ: पेट्रोल-डीजल की आपूर्ति जारी रहेगी, इंदौर में पेट्रोल पंपों पर लगी लंबी कतारें
पेट्रोल-डीजल की अफवाह को लेकर प्रशासन सख्त हो गया है। इंदौर कलेक्टर लोकेश कुमार जाटव ने कहा कि पेट्रोल-डीजल या अन्य जरूरी कमोडिटी को लेकर किसी प्रकार की अफवाह फैलाने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
 
जाटव ने कहा कि सोशल मीडिया पर मैसेज पोस्ट करने के पहले उसकी पुष्टि करें। यदि किसी के द्वारा इस तरह के संदेश सोशल मीडिया पर वायरल किए जाते हैं तो उनके खिलाफ सीआरपीसी के तहत कार्रवाई की जाएगी। धारा 144 के उल्लंघन पर धारा 188 के तहत जेल भेजा जाएगा।
 
डिपो पर कड़ी सुरक्षा : लोगों को राहत देने के लिए इंदौर कलेक्टर लोकेश कुमार जाटव भी मैदान में आ गए और पेट्रोल पंप संचालकों से बात की। इसके बाद पेट्रोल-डीजल के टैंकर पंपों पर पहुंचना शुरू हो गए। इंदौर कलेक्टर ने जनता को आश्वस्त किया है कि कोई परेशानी नहीं होगी। 200 पुलिसकर्मियों का बल मांगलिया डिपो पर तैनात किया गया है ताकि टैंकर पंप तक आसानी से जा सके।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख भिखारी के घर से मिले डेढ़ लाख के सिक्के, 8.7 लाख की FD