एसडीएम-तहसीलदार मना रहे थे रंगरेलियां, पकड़े गए तो बोले फंसाया गया

कीर्ति राजेश चौरसिया

रविवार, 30 सितम्बर 2018 (14:30 IST)
जबलपुर। धन्वंतरि नगर स्थित जसूजा सिटी में बीती रात जबलपुर में पदस्थ एसडीएम व तहसीलदार को 2 युवतियों के साथ रंगरेलियां मनाते हुए रंगेहाथों पकड़ा है। प्रशासनिक अधिकारियों के युवतियों के साथ रंगरेलियां मनाने की खबर आग की तरह पूरे प्रदेश में फैल गई। एसडीएम और तहसीलदार का आरोप है कि कुछ कथित पत्रकारों द्वारा फंसाया गया है और ब्लैकमेल भी किया जाता रहा है।
 
इस मामले की जानकारी पुलिस व वरिष्ठ अधिकारियों को लगते ही मामले की जांच शुरू कर दी गई है, साथ ही उन फर्जी पत्रकार गिरोह पर भी शिकंजा कसा जा रहा है जिन्होंने उक्त अधिकारियों को ब्लैकमेल करने के लिए हनी ट्रेप में फंसाया है।
वीडियो देखने के लिए क्लिक करें 
 
बताया जाता है कि धन्वंतरि नगर स्थित जसूजा सिटी के एक कमरे में कुछ लोगों के आपत्तिजनक अवस्था में होने की सूचना पर पुलिस ने वहां पर दबिश दी तो वहां पर दो अधिकारी लड़कियों के साथ आपत्तिजनक अवस्था में थे। इसी दौरान कुछ तथाकथित पत्रकार भी पहुंच गए जिन्होंने मामले को तूल नहीं देने के लिए अधिकारियों को ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया।
 
तभी जबलपुर के कुछ असली पत्रकारों को घटना की जानकारी लगते ही वे भी मौके पर पहुंच गए और अफसरों की रंगरेलियों व फर्जी पत्रकारों के गिरोह द्वारा ब्लैकमेल के गोरखधंधे को सबके सामने लाने की कोशिश की और भाग रहे तहसीलदार को रोककर उनसे जानकारी मांगी गई।
 
एसडीएम पाटन और शहपुरा तहसीलदार हनी ट्रैप मामले में जबलपुर एसपी ने साजिश में शामिल धानमंडी नगर पुलिस चौकी में पदस्थ एएसआई गोटिया को निलंबित कर दिया है और एक आरक्षक, एक एसआई भी राडार पर क्लीयर हैं, तो वहीं कलेक्टर ने मामले में संदिग्धों के साथ ब्लैकमेलिंग करने वाले फर्जी पत्रकारों के खिलाफ भी मामला दर्ज करने की बात कही है। बता दें कि यह वही फर्जी पत्रकारों का गिरोह है, जो पिछले साल जबलपुर के पूर्व महापौर को भी इसी तरह फंसा चुका हैं, जो मंडावली न होने पर सोशल मीडिया में वायरल हुआ था।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING