मोदी सरकार विरोधी सोशल मीडिया एक्टीविस्ट भोपाल से गिरफ्तार, गृहमंत्री ने कहा- तानाशाहीपूर्ण कार्रवाई...

भोपाल। सोशल मीडिया पर केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ मुखर होकर टिप्पणी करने वाले सोशल मीडिया एक्टीविस्ट अभिषेक मिश्रा को दिल्ली पुलिस ने गुपचुप तरीके से भोपाल से गिरफ्तार कर लिया है। अभिषेक की गिरफ्तारी पर मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने कड़ी नाराजगी जाहिर की है। मध्यप्रदेश के गृहमंत्री बाला बच्चन ने अभिषेक मिश्रा की गिरफ्तारी के तरीके पर सवाल खड़े करते हुए इसे तानाशाही करार दिया है।


अभिषेक की गिरफ्तारी के तरीके को लेकर मध्यप्रदेश सरकार के गृह विभाग ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर को पत्र लिखकर कड़ी नाराजगी जाहिर की है। गृह विभाग ने अभिषेक की गिरफ्तारी पर सवाल उठाते हुए दिल्ली पुलिस कमिश्नर को लिखा है कि दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल (एसबी) टीम ने अभिषेक की गिरफ्तारी के समय उच्चतम न्यायालय के निर्देशों का पालन नहीं किया।

दिल्ली पुलिस ने न ही स्थानीय पुलिस को गिरफ्तारी की सूचना नहीं दी और न ही अभिषेक मिश्रा के परिजनों को गिरफ्तारी की सूचना दी, जिससे अभिषेक के अपहरण की आशंका उत्पन्न हुई। गृह विभाग के उप सचिव ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर को पत्र लिखकर नियम विरुद्ध हुई कार्रवाई की जांच की मांग करते हुए जिम्मेदार पुलिस अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

मूलतः छतरपुर के रहने वाले अभिषेक के पिता अशोक मिश्रा ने पुलिस को बताया कि उनके बेटे को भोपाल के कोहेफिजा स्थित घर से कुछ अज्ञात लोग साथ ले गए हैं। इसके बाद अभिषेक मिश्रा के बारे में कोई जानकारी नहीं मिल रही है और मोबाइल भी बंद है। इस शिकायत के बाद स्थानीय पुलिस ने जब जांच शुरू की तो अभिषेक की कंपनी सोशल मीडिया के डायरेक्टर अंशुमान सिंह नेबताया कि अभिषेक को दिल्ली पुलिस की साइबर स्पेशल सेल टीम ने गिरफ्तार किया है।

बताया जा रहा है कि आईटी एक्सपर्ट और कांग्रेस समर्थक अभिषेक मिश्रा को दिल्ली पुलिस ने धार्मिक भावना को ठेस पहुंचाने की एक शिकायत के आधार पर गिफ्तार किया है, वहीं दूसरी ओर सूत्र बताते हैं कि अभिषेक मिश्रा सोशल नेटवर्किंग साइट पर मोदी सरकार के खिलाफ टिप्पणी करने के बाद गिरफ्तार किया गया है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख प्रियंका गांधी की औपचारिक इंट्री पर शिवसेना का बड़ा बयान, दिखती है इंदिरा गांधी की छवि