Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

मुन्नार हिल स्टेशन, प्रकृति के स्वर्ग में हनीमून डेस्टिनेशन इन इंडिया

हमें फॉलो करें Munnar hill station

अनिरुद्ध जोशी

हिल स्टेशन को मनोरम पहाड़ी इलाका कहते हैं। भारत में पहाड़ियों की विशालतम, लंबी, सुंदर और अद्भुत श्रृंखलाएं हैं। एक और जहां विध्यांचल, सतपुड़ा की पहाड़ियां है, तो दूसरी ओर आरावली की पहाड़ियां। कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक भारत में एक से एक शानदार पहाड़ हैं, पहाड़ों की श्रृंखलाएं हैं और सुंदर एवं मनोरम घाटियां हैं। गर्मियों में यहां पर घूमने बहुत ही यादगार और शानदार होता है। यदि आप हनीमून मनाने के सोच रहे हैं तो हमारे बताए गए हि स्टेशननों में से किसी एक पर जरूर जाएं। आओ इस बार जानते हैं भारत के टॉप हिल स्टेशनों में से एक मुन्नार हिल स्टेशनन के बारे में रोचक जानकारी।
 
मुन्नार (केरल) :
1. कश्मीर और केरल को भारत का स्वर्ग कहा जाता है। केरल में एक ओर जहां शानदार अद्भुत समुद्री तट हैं तो दूसरी ओर ऊंची-ऊंची हरी-भरी पहाड़ियां और उन पर से गिरते झरने हैं। इसी इसी तरह का एक स्थान है मुन्नार हिल स्टेशन।
 
2. केरल का मुन्नार हिल स्टेशन स्वर्ग के समान है। तीन पर्वतों की श्रृंखला- मुथिरपुझा, नल्लथन्नी और कुंडल, के मिलन स्थल पर स्थित है मुन्नार। 
 
3. इस हिल स्टेशन की पहचान है यहां के विस्तृत भू-भाग में फैली चाय की खेती, औपनिवेशिक बंगले, छोटी नदियां, झरनें और ठंडे मौसम। 
 
4. विशाल चाय बागान और घुमावदार गलियों को देखकर आप रोमांचित हो जाएंगे। चाय के अलावा यह मसालों की खेती और खुशबू के लिए भी जाना जाता है। 
 
5. ट्रैकिंग और माउंटेन बाइकिंग के लिए यह एक शानदार स्थल है। यहां पर्यटकों के बीच हाउसबोटिंग काफी लोकप्रिय है।
 
6. चाय के बगीचे, वॉंन्डरला अम्यूसमेंट पार्क, कोची फोर्ट, गणपति मंदिर और हाउस बोट प्रमुख रोमांच है। 
 
7. मुन्नार से मात्र 15 किलोमीटर दूर इरविकुलम राष्ट्रीय उद्यान लुप्तप्राय प्राणी- नीलगिरी टार के लिए जाना जाता है। 97 वर्ग किमी में फैला यह उद्यान तितलियों, जानवरों और पक्षियों के अनेक दुर्लभ प्रजातियों का बसेरा है। 
 
8. नीलकुरिंजी के फूल खिलने से जब पहाड़ों की ढ़ाल नीली चादर से ढ़क जाती हैं, तब यह उद्यान ग्रीष्मकालीन पर्यटन स्थल बन जाता है। यह पौधा पश्चिमी घाट के इस भाग का स्थानीय पौधा है जिसपर बारह वर्षों में एक बार फूल खिलता है। अंतिम बार यह 2018 में खिला था।
 
9. इसके अलावा यहां आनामुड़ी शिखर, खूबसूरत झील के लिए माट्टूपेट्टी, प्राकृतिक सुंदरता से भरपूर पल्लिवासल, झरनों के लिए प्रसिद्ध चिन्नकनाल, चाय के बगीचे और खेल के लिए प्रसिद्ध अनयिरंगल, मुन्नार और तमिलनाडु और नीलकुंरिंजी के फूल को देखने के लिए उपयुक्त स्थान टॉप स्टेशन यहां के प्रमुख दर्शनीय स्थल है।
 
10. यहां पहुंचने के लिए: निकटतम रेलवे स्टेशन: तेनी (तमिलनाडु), लगभग 60 किमी दूर है जबकि चेंगनचेरी, लगभग 93 किमी दूर। निकटतम हवाईअड्डा: मदुरई (तमिलनाडु) में लगभग 140 किमी दूर है। कोचीन अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डा, लगभग 190 किमी दूर है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

रनवे 34 की कहानी: रहस्यमयी रास्ते पर फ्लाइट