चपरासी के बेटे ने इस तरह दी केंद्रीय मंत्री के बेटे को मात, चुनाव परिणाम ने किया हैरान

शुक्रवार, 14 दिसंबर 2018 (12:10 IST)
आलोट। मध्यप्रदेश के रतलाम जिले की आलोट सीट पर हुए एक बेहद रोमांचक मुकाबले में मनोज चावला ने पूर्व विधायक जितेंद्र गहलोत को हरा दिया। मनोज चावला के पिता ताल तहसील में चपरासी है और जितेंद्र के पिता थावरचंद गहलोत मोदी सरकार में मंत्री।
 
इस हॉट सीट पर हार का खतरा मंडराता देख थावरचंद गहलोत ने कांग्रेस से सीट पर दावेदार चल रहे प्रेमचंद गु्ड्डू को न सिर्फ भाजपा में शामिल कराया बल्कि उनके बेटे अजीत बौरासी को घट्टिया सीट से टिकट भी दिला दिया। वह खुद पूरे समय दोनों सीट पर प्रचार करते रहे। केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत भी इस सीट पर अपने विधायक बेटे जितेंद्र गहलोत की जीत को लेकर आश्वस्त थे। 
 
दूसरी और गुड्डू के भाजपा में शामिल होने से कांग्रेस को बड़ा झटका लगा। पार्टी ने ऐन वक्त पर मनोज पटेल को टिकट थमा दिया। मगर मनोज चावला का जादू ऐसा चला कि भाजपा के दावे धरे के धरे रह गए। वह भी उस स्थिति में जब मनोज को टिकट देने के बाद कांग्रेस ने उन्हें अकेला छोड़ दिया। हां, उनके लिए राज बब्बर ने जरूर एक सभा ली। 
 
जितेंद्र के समर्थन में शिवराज सिंह चौहान, योगी आदित्यनाथ और राजनाथ सिंह जैसे दिग्गजों ने भी रैलियां की लेकिन यह सब भी उन्हें चुनाव में जीत नहीं दिलवा सके। 
 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख ट्रंप ने कानूनी स्कैंडल में खुद को बताया निर्दोष, अटॉर्नी पर फोड़ा ठीकरा