मध्यप्रदेश : जयस ने कांग्रेस को गठबंधन के लिए पेश किया फॉर्मूला, राहुल गांधी करेंगे फैसला

विकास सिंह

बुधवार, 24 अक्टूबर 2018 (10:49 IST)
भोपाल। मध्यप्रदेश में कांग्रेस और जयस के बीच गठबंधन का फैसला अब राहुल गांधी करेंगे। सूबे में 80 सीटों पर चुनाव लड़ने का ऐलान करने वाली जयस सूबे में भाजपा को हराने के लिए कांग्रेस के साथ गठबंधन करना चाह रही है।

जयस संरक्षक हीरालाल अलावा ने कहा कि हम भाजपा को हराने के लिए कांग्रेस के साथ गठबंधन करना चाह रहे हैं। इसके लिए जयस ने कांग्रेस के सामने गठबंधन का नया फॉर्मूला भी पेश कर दिया है।

हीरालाल अलावा ने कहा कि गठबंधन के लिए जयस ने कांग्रेस के सामने 40 सीटों पर चुनाव लड़ने की मांग रखी है, वहीं जयस ने आदिवासी सीटों पर अपने उम्मीदवारों के समर्थन का फार्मूला भी पेश किया है। दोनों दलों के गठबंधन के बीच कुक्षी सीट को लेकर पेंच फंसा हुआ है। इस सीट को जयस गठबंधन में अपने लिए मांग रहा है।

यहां से जयस संरक्षक हीरालाल अलावा चुनाव लड़ना चाह रहे हैं। इसके लिए अलावा लंबे समय से यहां जमीनी स्तर पर काम कर रहे हैं। पिछले दिनों जयस ने यहां पर बड़ा कार्यक्रम भी किया था। कांग्रेस अपनी इस परंपरागत सीट को छोड़ना नहीं चाह रही है।

इस सीट पर कांग्रेस का तीन दशक से अधिक लंबे समय तक कब्जा है। वर्तमान में यहां से कांग्रेस का विधायक है, वहीं दूसरी सीट इंदौर 5 को लेकर भी जयस ने अपना दावा कांग्रेस के सामने रखा है। पिछले लंबे समय से जयस के मंच पर दिख रहे आरटीआई एक्टिविस्ट आनंद राय ने इंदौर 5 विधानसभा सीट पर चुनाव लड़ने का संकेत देते हुए अपनी जमीनी ताकत मजबूत करने के लिए संपर्क अभियान और तेज कर दिया है।

जयस के बड़े नेता डॉक्टर आनंद राय सोशल मीडिया पर खुद के चुनाव लड़ने के बारे में लोगों से सुझाव मांग रहे हैं। आनंद राय की कांग्रेस के नेताओं से भी नजदीकी है। ऐसे में आनंद राय को कांग्रेस से भी टिकट की उम्मीद है।

कांग्रेस से भी दावेदारी कर रहे हैं आनंद राय : चर्चा इस बात की जोरशोर से चल रही है कि गठबंधन के तहत कुछ सीटों पर जयस के उम्मीदवार कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ सकते हैं। जयस के कुछ उम्मीदवारों ने अपनी चुनावी तैयारी तेज कर दी है।

हीरालाल कहते हैं कि पहले की कई दौर की बातचीत के बाद अब राहुल गांधी से मुलाकात के बाद ही गठबंधन अंतिम रूप से फाइनल होगा। सूत्र बताते हैं कि कांग्रेस जयस को 15 से अधिक सीट नहीं देना चाहती।

चुनाव मैदान में निर्दलीय की भी उतरने की तैयारी : गठबंधन न होने की सूरत में आदिवासियों को लेकर खासी चर्चा में आया संगठन जयस अब निर्दलीय के तौर पर अपने उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतारने की तैयारी कर रहा है।

जयस सूबे की 80 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी में है। जयस संरक्षक हीरालाल अलावा ने कहा कि गठबंधन न होने पर पार्टी के उम्मीदवार चुनाव मैदान में निर्दलीय उतरेंगे, वहीं जयस ने चुनाव आयोग से एक चुनाव चिन्ह देने की मांग की है।

हीरालाल अलावा ने कहा कि प्रत्याशियों के चयन की प्रकिया जारी है और पार्टी 25 अक्टूबर के बाद अपने उम्मीदवारों के नामों का ऐलान कर देगी। जयस संरक्षक ने भाजपा पर अपने संभावित उम्मीदवारों पर दबाव बनाने का आरोप भी लगाया। जयस आदिवासियों के बीच काम करने वाले युवा प्रोफेशनल को चुनावी मैदान में उतारने जा रही है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख शेयर बाजार में उछाल, सेंसेक्स और निफ्टी में रही तेजी