Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

#नमस्‍तेTrump : भारत और अमेरिका का 21वीं सदी में होगा विश्‍व में प्रभावी योगदान

webdunia
सोमवार, 24 फ़रवरी 2020 (21:25 IST)
नई दिल्ली/ आगरा/ अहमदाबाद। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारत और अमेरिका को ‘स्वाभाविक साझीदार’ करार देते हुए सोमवार को कहा कि दोनों देश हिन्द प्रशांत क्षेत्र में शक्ति संतुलन की स्थापना और आतंकवाद को पराजित करने तक सीमित नहीं होंगे, बल्कि 21वीं सदी में पूरी दुनिया में शांति, प्रगति और सुरक्षा के लिए एक प्रभावी योगदान देंगे। भारत की पहली यात्रा पर आए अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप और उनके परिवार ने पहले दिन इस महान राष्ट्र की सदियों पुरानी संस्कृति एवं जीवन मूल्यों की विविधतापूर्ण धरोहर एवं उसके वैभव के दर्शन किए तथा दुनिया के सबसे विशाल लोकतंत्र की जनशक्ति के सामने नतमस्तक हुए।

गुजरात में अहमदाबाद में करीब 3 घंटे तक के व्यस्त कार्यक्रम में इंडिया रोड शो, साबरमती आश्रम और मोटेरा के सरदार पटेल स्टेडियम में अपने जीवन की सबसे बड़ी जनसभा में शामिल होने के बाद ट्रंप परिवार शाम को आगरा पहुंचा और यमुना के तट पर बने प्रेम के अनूठे स्मारक ताजमहल को हर कोने से जी-भरकर निहारा। वे वहां करीब एक घंटे रहे। आगरा के खेरिया वायुसैनिक हवाई अड्डे पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनकी अगवानी की और विदाई दी। ट्रंप यात्रा का पहला चरण समाप्त करके शाम साढ़े 7 बजे नई दिल्ली पहुंच गए।

यूं तो आज़ादी के बाद यह अमेरिकी राष्ट्रपति की आठवीं भारत यात्रा है लेकिन पहली बार कोई अमेरिकी राष्ट्रपति केवल भारत की यात्रा पर आए हैं। ट्रंप, उनकी पत्नी एवं प्रथम महिला मेलनिया ट्रंप, पुत्री इवांका ट्रंप और दामाद जेरैड कुशनर पूर्वाह्न 11 बजकर 40 मिनट पर अहमदाबाद पहुंचे। हवाई अड्डे पर भव्य स्वागत के बाद उनका काफिला प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के काफिले के साथ लगभग 22 किमी लंबे रोड शो ‘इंडिया रोड शो’ पर निकल पड़ा। दोपहर 12 बजे शुरू हुए रोड शो के दौरान रास्ते में दोनों तरफ लाखों लोग सड़क किनारे खड़े थे। इसके अलावा मार्ग पर बनाए गए 28 मंचों पर अलग-अलग प्रांतों की सांस्कृतिक झांकियां एवं कलाएं प्रस्तुत करते कलाकार भी उपस्थित थे।

एक घंटे से अधिक समय तक चले रोड शो के दौरान ट्रंप ने महात्मा गांधी के साबरमती आश्रम में भी लगभग 15 मिनट का समय गुजारा। मोदी ने दोनों को महात्मा गांधी आश्रम स्थित निवास हृदय कुंज दिखाया और इसके बारे में जानकारी दी। इस मौके पर ट्रंप ने वहां बरामदे में रखे चरखे पर भी हाथ आजमाया। इस आश्रम में ट्रंप और उनकी पत्नी का स्वागत पारपंरिक तौर पर सूत की माला पहनाकर किया गया। इस अवसर पर गांधीजी के प्रिय भजन भी बजाए गए। मोदी और ट्रंप दंपति ने हृदय कुंज के बरामदे में बैठकर एक साथ तस्वीर भी खिंचाई। ट्रंप ने वहां आगंतुक पुस्तिका में लिखा, मेरे दोस्त प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को इस शानदार दौरे के लिए धन्यवाद।

आश्रम में कुछ समय बिताने के बाद दोपहर एक बजकर 20 मिनट पर मोटेरा स्टेडियम पहुंचे ट्रंप अपने भव्य स्वागत से अभिभूत दिखे। दुनिया के सबसे बड़े सरदार पटेल किकेट स्टेडियम में आयोजित 'नमस्ते ट्रंप' कार्यक्रम में अमेरिकी राष्ट्रपति ने भारत एवं अमेरिका के संबंधों के नए धरातल पर पहुंचने का उद्घोष करते हुए कहा, आज से भारत हमेशा हमारे दिलों में एक विशेष स्थान रखेगा।

ट्रंप ने डेढ़ लाख से अधिक लोगों को संबोधित करते हुए मोदी और भारत की खूब तारीफ भी की और दोनों देशों के रिश्तों तथा भविष्य की योजनाओं पर भी चर्चा की। अमेरिकी राष्ट्रपति ने मंच पर मोदी की मौजूदगी में लगभग 26 मिनट लंबे अपने संबोधन की शुरुआत में कहा कि वह और उनकी पत्नी मेलानिया 8000 मील की दूरी तय करते हुए हरेक भारतवासी को यह संदेश देने के लिए आए हैं कि अमेरिका भारत का सम्मान करता है और इसे प्यार करता है तथा यह हमेशा एक विश्वासी मित्र बना रहेगा।

प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में अमेरिका को भारत का एक स्वाभाविक भागीदार बताते हुए कहा कि 21वीं सदी में नई चुनौतियां और अवसर, बदलाव की नई नींव रख रहे हैं। ऐसे में अमेरिका भारत के संबंधों की इसमें महत्वपूर्ण भूमिका होगी। भारत अमेरिका स्वाभाविक भागीदार हैं। हमारे संबंध सिर्फ एशिया प्रशांत क्षेत्र में सहयोग और आतंकवाद को हराने तक ही सीमित नहीं हैं, बल्कि दोनों देश 21वीं सदी में पूरी दुनिया में शांति, प्रगति और सुरक्षा के लिए एक प्रभावी योगदान देंगे। 
अहमदाबाद का कार्यक्रम पूरा होते ही ट्रंप परिवार समेत हवाईअड्डे पहुंचे और आगरा के लिए रवाना हो गए। करीब साढ़े 4 बजे वे आगरा पहुंचे और हवाई अड्डे से सीधे ताजमहल पहुंच गए। ताजमहल की खूबसूरती पर फिदा अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि यह भारत की संपन्न और विविधतापूर्ण संस्कृति का सजीव नमूना है। वे ताज महल के परिसर में करीब एक घंटे रहे। ट्रंप अपनी पत्नी मेलानिया का हाथ थामे गाइड से अनमोल धरोहर के बारे में जानकारी प्राप्त कर रहे थे, वहीं उनकी पुत्री एवं सलाहकार इवांका अपने पति के साथ ताज की खूबसूरती को आंखों में बसाने को आतुर थीं।

ताजमहल परिसर में पहुंचने पर ट्रंप ने विजिटर बुक में अपना संदेश लिखा, ताजमहल हमें प्रेरित और चकित करता है। इसे समय में बांधकर नहीं रखा जा सकता। ताज भारत की धनी और विविधतापू्र्ण संस्कृति का जीता जागता उदाहरण है। धन्यवाद भारत।

ट्रंप का आधिकारिक कार्यक्रम मंगलवार सुबह 10 बजे शुरू होगा, जब उनका राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में रस्मी स्वागत किया जाएगा। इसके बाद वे राजघाट में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की समाधि पर श्रद्धासुमन अर्पित करेंगे। दोपहर में हैदराबाद हाउस में प्रधानमंत्री मोदी के साथ एकांत में और फिर प्रतिनिधिमंडल स्तर की शिखर बैठक करेंगे।

बैठक में दोनों देशों के बीच कई महत्वपूर्ण समझौतों पर हस्ताक्षर किए जाएंगे जिनमें करीब 3 अरब डॉलर के रक्षा सौदे शामिल हैं। रक्षा एवं सुरक्षा, ऊर्जा सुरक्षा, विज्ञान एवं तकनीक, व्यापार एवं निवेश के अलावा विभिन्न क्षेत्रीय एवं वैश्विक मुद्दों पर भी दोनों के बीच चर्चा होगी। ट्रंप शाम को राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से भेंट करेंगे और उनके सम्मान में आयोजित स्वागत भोज में शिरकत करने के बाद देर रात स्वदेश रवाना हो जाएंगे।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

राष्ट्रीय टेलेंट हंट टेबल टेनिस में प्रिया, संप्रति, आदर्श और सार्थ अगले दौर में