CAA के समर्थन में शाहीन बाग इलाके में गोलीबारी करने वाला आरोपी हिरासत में

शनिवार, 1 फ़रवरी 2020 (23:58 IST)
नई दिल्ली। दिल्ली में जामिया नगर के शाहीन बाग क्षेत्र में एक व्यक्ति ने शनिवार को हवा में 2 गोलियां चलाईं जिसके बाद उसे पुलिस ने हिरासत में ले लिया। शाहीन बाग में एक महीने से अधिक समय से संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं।
ALSO READ: कश्मीर में आतंकवादियों का समर्थन करने वाले ही शाहीन बाग में कर रहे हैं प्रदर्शन : योगी आदित्यनाथ
इस घटना में कोई घायल नहीं हुआ है। इस सप्ताह यह दूसरी बार है जब एक सशस्त्र व्यक्ति उस स्थान पर पहुंच गया जहां लगभग एक महीने से सीएए के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार व्यक्ति ने मंच के पीछे लगभग 250 मीटर दूर पुलिस बैरिकेड के पास से गोलीबारी की।
 
प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि पुलिसकर्मियों ने उसे पकड़ लिया और हिरासत में ले लिया। पुलिस उपायुक्त (दक्षिणपूर्व) चिन्मय बिस्वाल ने कहा कि आरोपी ने पुलिस बैरिकेड के निकट हवा में गोलीबारी की और उसे हिरासत में ले लिया गया है। आगे की जांच चल रही है।
ALSO READ: अब शाहीन बाग में चली गोली, शुक्रवार को जामिया में चली थी
हिरासत में लिए जाने के दौरान वह चिल्लाता रहा कि हमारे देश में सिर्फ हिंदुओं की चलेगी और किसी की नहीं चलेगी। उसने 'जय श्रीराम' के नारे भी लगाए। एक महिला प्रदर्शनकारी ने कहा कि इस घटना से बच्चों समेत लोगों में दहशत फैल गई।
 
उन्होंने कहा कि जब यह घटना हुई उस समय कई महिलाएं और बच्चें टेंट के भीतर थे। हम गोली की आवाज सुनकर मौके पर पहुंचे। हर कोई डरा हुआ है। लेकिन हम प्रदर्शन स्थल से नहीं जाएंगे। इस घटना के बावजूद, कई लोग प्रदर्शनकारियों के साथ एकजुटता व्यक्त करने के लिए मौके पर पहुंचे। इनमें से कई ने राष्ट्रगान गाया और कई ने वहां नमाज पढ़ी। प्रदर्शनकारियों ने दिल्ली पुलिस के खिलाफ नारे भी लगाए।
 
एक प्रकाशक और शाहीन बाग निवासी अबु अला सुहानी ने कहा कि यह व्यक्ति करीब 20 साल का दिख रहा था और उसने हवा में 2 बार गोली चलाई। जब उसे हिरासत में लिया जा रहा था, तब हमने एक पुलिसकर्मी को उसका नाम पूछते हुए सुना। व्यक्ति ने बताया कि उसका नाम कपिल गुर्जर है और वह दक्षिण पूर्वी दिल्ली रिपीट दक्षिण पूर्वी दिल्ली के दल्लूपुरा गांव का रहने वाला है।
 
हालांकि पुलिस ने कहा कि वे उसकी पहचान का सत्यापन कर रहे हैं। आरोपी व्यक्ति 'हिंदू राष्ट्र जिंदाबाद' चिल्लाया और 2 गोलियां चलाईं। गौरतलब है कि एक स्थानीय ठेकेदार कुछ दिन पहले एक बंदूक के साथ प्रदर्शन स्थल पर आया था और उसने लोगों से प्रदर्शन खत्म करने को कहा था।
 
एक युवक ने गुरुवार को जामिया मिल्लिया इस्लामिया के बाहर सीएए विरोधी प्रदर्शनकारियों पर गोली चलाई थी जिसमें एक छात्र घायल हो गया था।
 
इस बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को उत्तरी दिल्ली के रोहिणी में एक चुनाव रैली के दौरान दिल्ली की आप सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि अरविंद केजरीवाल सरकार शाहीन बाग में प्रदर्शनकारियों को बिरयानी बांट रही है।
 
पूर्वी दिल्ली के करावल नगर चौक पर एक अन्य चुनावी रैली को संबोधित करते हुए योगी ने सीएए विरोधी प्रदर्शनकारियों पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि उनके पूर्वजों ने भारत को विभाजित किया इसलिए उनमें इस उभरते हुए 'एक भारत, श्रेष्ठ भारत' के खिलाफ असंतोष व्याप्त है।
 
उन्होंने आरोप लगाया कि दिल्ली में विभिन्न स्थानों पर हो रहे ए प्रदर्शन सीएए के बारे में नहीं है बल्कि ए उन लोगों के कारण हो रहे है जो यह सवाल उठाते है कि विश्व में भारत एक बड़ी ताकत के रूप में कैसे उभर रहा है? और ऐसे लोग भारत को आगे बढ़ने से रोकना चाहते है।
 
इस बीच इस घटना पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए आप नेता संजय सिंह ने कहा कि उन्होंने पहले ही चुनाव आयोग को चेताया था कि चुनाव में विलंब करने के लिए भाजपा एक साजिश रच रही है।
 
उन्होंने दावा किया कि देश में कोई कानून व्यवस्था नहीं है। बंदूक तानने वाले लोग दिल्ली को अपना अड्डा बना रहे है। हम कल से चुनाव आयोग से समय मांग रहे हैं ताकि हम इन घटनाक्रमों के बारे में उन्हें अवगत करा सके लेकिन उन्होंने हमें कोई समय नहीं दिया है।
 
हालांकि भाजपा के वरिष्ठ नेता बी एल संतोष ने गोलीबारी की हाल की घटनाओं में पार्टी प्रतिद्वंद्वियों की संलिप्तता की तरफ इशारा किया। उन्होंने कहा कि दिल्ली की ड्रामेबाज पार्टी देश के लिए बहुत महंगी पड़ रही है। इस घटना को लेकर भाजपा पर निशाना साधते हुए कांग्रेस ने कहा कि बंदूकधारी बदल जाते हैं, लेकिन विचारधारा वही 'गोली मारो' वाली है।
 
पार्टी प्रवक्ता जयवीर शेरगिल ने कहा कि बंदूकधारी बदल जाते हैं, लेकिन विचारधारा वही 'गोली मारो' वाली है। चाहे वह 1948 (गोडसे) हो या फिर 2020 हो। यह सब गोली मारो वाली विचारधारा की देन हैं। जिन हाथों को भारत के विकास को गति देनी चाहिए वो गोलीबारी कर रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि 'मेक इन इंडिया' की बजाय 'स्प्रेडिंग हेट इन इंडिया' हो रहा है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख तड़पती गर्भवती को न नसीब हुई एम्बुलेंस और न ही स्ट्रेचर...