Assembly Elections 2018 : 12 नवंबर से 7 दिसंबर के बीच होंगे 5 राज्यों के विधानसभा चुनाव

शनिवार, 6 अक्टूबर 2018 (23:36 IST)
नई दिल्ली। देश के 5 राज्यों के विधानसभा चुनाव 12 नवंबर से 7 दिसंबर के बीच होंगे और मतों की गिनती 11 दिसंबर को होगी। छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव 2 चरणों में होंगे जबकि मध्यप्रदेश, राजस्थान, तेलंगाना और मिजोरम के चुनाव एक चरण में होंगे। चुनाव आयोग की इस घोषणा के साथ ही इन 5 राज्यों में आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू हो गई।
 
 
मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत ने चुनाव तिथियों की घोषणा करते हुए बताया कि छत्तीसगढ़ में नक्सालियों की समस्या को देखते हुए 2 चरणों में चुनाव होंगे, क्योंकि कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए भारी संख्या में सुरक्षाकर्मियों की जरूरत होगी। वहां नक्सलियों के बम विस्फोट एवं हिंसा को देखते हुए यह निर्णय लिया गया, क्योंकि आयोग हर नागरिक की सुरक्षा चाहता है।
 
 
छत्तीसगढ़ की 90 सीटों में से 18 नक्सल प्रभावित क्षेत्रों की सीटों के लिए मतदान 12 नवंबर को होगा। अधिसूचना 16 अक्टूबर को, नामांकन की अंतिम तारीख 23 अक्टूबर, नामांकन पत्रों की अंतिम जांच 24 अक्टूबर और नाम वापस लेने की अंतिम तिथि 26 अक्टूबर होगी, मतदान 12 नवंबर को होगा। दूसरे चरण में 72 सीटों के चुनाव होंगे, अधिसूचना 26 अक्टूबर को होगी, नामांकन की अंतिम तारीख 2 नवंबर को, नामांकन पत्रों की जांच 3 नवंबर तथा नाम वापस लेने की अंतिम तिथि 5 नवंबर होगी और मतदान 20 नवंबर को होगा।
 
 
मध्यप्रदेश की 230 तथा मिजोरम की 40 सीटों के चुनावी कार्यक्रम एक समान होंगे जबकि राजस्थान की 200 एवं तेलंगाना की 119 सीटों के चुनाव कार्यक्रम एक समान होंगे। मध्यप्रदेश और मिजोरम के लिए अधिसूचना 2 नवंबर को, नामंकन की अंतिम तिथि 9 नवंबर, नामांकन पत्रों की जांच की अंतिम तारीख 12 नवंबर और नाम वापस लेने की अंतिम तारीख 14 नवंबर होगी तथा मतदान 28 नवंबर को होगा।
राजस्थान और तेलंगाना के चुनाव के लिए अधिसूचना 12 नवंबर को, नामांकन वापस लेने की अंतिम तारिख 19 नवंबर और नामांकन पत्रों की जांच 20 नवंबर, नाम वापस लेने की अंतिम तारीख 22 नवंबर होगी तथा मतदान 7 दिसंबर को होंगे।
 
 
आयोग ने बताया कि छत्तीसगढ़ विधानसभा की अवधि 5 नवंबर 2019, मध्यप्रदेश विधानसभा की अवधि 7 जनवरी 2019, राजस्थान विधानसभा की अवधि 20 जनवरी 2019 तथा मिजोरम की अवधि 15 दिसंबर 2018 तक है।
 
 
छत्तीसगढ़ में अनुसूचित जाति की 10 तथा अनुसूचित जनजाति की 29 सीटें आरक्षित हैं जबकि मध्यप्रदेश में क्रमश: 35 तथा 47 सीटें हैं। मिजोरम में 39 सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए सुरक्षित हैं। राजस्थान में अनुसूचित जाति के लिए 34 तथा जनजाति के लिए 25 सीटें सुरक्षित हैं। तेलंगाना के लिए क्रमश: 19 तथा 12 सीटें सुरक्षित हैं।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING