Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

अंग्रेजों पर राज करेगा 'हिन्दुस्तानी', भारत में नोटों पर 'महाभारत'

हमें फॉलो करें webdunia
शनिवार, 29 अक्टूबर 2022 (22:10 IST)
इस सप्ताह 4 प्रमुख खबरें सुर्खियों में रहीं। इनमें ब्रिटेन में भारतवंशी ऋषि सुनक की ताजपोशी, दिल्ली में कचरे और यमुना में प्रदूषण, नोटों पर लक्ष्मी-गणेश के फोटो की मांग, कांग्रेस अध्यक्ष पद पर 24 साल बाद गैर गांधी परिवार के व्यक्ति की ताजपोशी। ये खबरें प्रमुख रूप से मीडिया में सुर्खियां बनी रहीं। आइए जानते हैं अब इन्हीं खबरों के बारे में विस्तार से... 
इंग्लैंड में भारतवंशी की ताजपोशी : ब्रिटेन की करीब 200 साल की गुलामी झेलने वाले भारतवासियों को इस बात की खुशी जरूर होगी कि उन्हीं के वंश से आने वाले ऋषि सुनक की इंग्लैंड के प्रधानमंत्री पद पर ताजपोशी हुई है। हालांकि सुनक का जन्म ब्रिटेन में ही हुआ है, लेकिन उनकी जड़ें अविभाजित भारत के गुजरांवाला से जुड़ी हुई हैं। वे पंजाबी खत्री समुदाय से आते हैं। 
 
भारतवंशी सुनक की ताजपोशी इस मायने में भी काफी खास है कि ठीक दिवाली के दिन पेनी मॉर्डंट के दौड़ से हटने की घोषणा के बाद सुनक को कंजरवेटिव पार्टी का निर्विरोध नेता चुन लिया गया। 210 वर्षों में सबसे कम उम्र के ब्रिटिश प्रधानमंत्री बने पूर्व वित्त मंत्री सुनक के लिए यह एक विशेष दिवाली बन गई। उन्होंने कहा कि हम ऐसा ब्रिटेन बनाएंगे, जहां हमारे बच्चे, पोते-पोतियां अपने दीये जला सकें।
 
भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिकों ने भी सुनक के पीएम बनने पर जश्न मनाया और कहा कि यह विदेशों में रह रहे भारतीय समुदाय के लिए ‘बड़ा दिन’ है। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष की पहली उपप्रबंध निदेशक गीता गोपीनाथ ने कहा कि इस साल की दिवाली खास है, क्योंकि ब्रिटेन में पहली बार भारतीय मूल का व्यक्ति प्रधानमंत्री बना है।
 
भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी सुनक को बधाई दी। जवाब में सुनक ने कहा कि दो महान लोकतांत्रिक देश क्या हासिल कर सकते हैं, वे इस बात को लेकर ‘उत्साहित’ हैं क्योंकि हम अपने सुरक्षा, रक्षा एवं आर्थिक संबंधों को मजबूत बनाने में लगे हैं। वहीं, मोदी ने फोन पर कहा कि हम अपनी व्यापक रणनीतिक साझेदारी को और मजबूत करने के लिए मिलकर काम करेंगे। सुनक के पीएम बनने के बाद अब भारत-ब्रिटेन मुक्त व्यापार सौदे को बहुत जरूरी गति मिलने की संभावना है। 
webdunia
दिल्ली में कचरे पर कलह : सूर्यदेव की आराधना के पर्व छठ पूजा के मौके में यमुना में प्रदूषण और दिल्ली के कचरे को लेकर आम आदमी पार्टी और भाजपा के बीच एक बार फिर जंग छिड़ गई है। भाजपा के सांसद मनोज तिवारी ने दिल्ली सरकार पर छठ पूजा से पहले यमुना से झाग हटाने के लिए उसमें जहरीले रसायन के छिड़काव का आरोप लगाया। वहीं, दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष सौरभ भारद्वाज ने कहा कि भाजपा नेताओं को विज्ञान और प्रौद्योगिकी के बारे में कुछ सीखना चाहिए। डीजेबी रसायन की ‘एंटी-फोमिंग’ रासायनिक तकनीक की सिफारिश केंद्र सरकार के राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन ने भी की है।
 
दूसरी ओर, आप नेताओं ने एमसीडी द्वारा शहर में ‘कचरे के कुप्रबंधन’ के खिलाफ शुक्रवार को कई विधानसभा क्षेत्रों में प्रदर्शन किया। आप विधायक आतिशी ने आरोप लगाया कि एमसीडी ने पूरे शहर को ‘डंपिंग ग्राउंड’ में तब्दील कर दिया है। वहीं, एनजीटी के न्यायाधीश और पर्यावरण साइंटिस्ट डॉ. अफरोज अहमद ने वेबदुनिया से बातचीत में सही तरीके से कचरा प्रबंधन की बात कही।
उधर, वायु गुणवत्ता पर केंद्रीय आयोग ने चरणबद्ध प्रतिक्रिया कार्य योजना के पहले चरण को लागू करने के बाद से वायु प्रदूषण से संबंधित कानूनों और दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करने के लिए दिल्ली एनसीआर में 24 औद्योगिक इकाइयों को बंद करने का आदेश जारी किया है।
webdunia
भारत में नोटों पर 'महाभारत' : चुनावी माहौल के चलते भारत में नोटों पर नई महाभारत शुरू हो गई है। दिल्ली के मुख्‍यमंत्री और आम आदमी पार्टी के नेता अरविन्द केजरीवाल ने नोटों पर लक्ष्मी और गणेश के चित्र लगाने की मांग की है। वहीं, भाजपा ने इसे चुनावी स्टंट बताया है। कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने सवाल किया कि नोटों पर डॉ. अंबेडकर का फोटो क्यों नहीं हो सकता है? वहीं, राजद के नेता ने एक कदम आगे बढ़ते हुए नोटों पर कर्पूरी ठाकुर और लालू यादव के चित्र लगाने की मांग कर डाली। 
केजरीवाल ने अपनी बात के पक्ष तर्क देते हुए कहा कि यदि नोट पर गणेश एवं लक्ष्मी की तस्वीर होगी तो देश प्रगति करेगा। मैं यह नहीं कह रहा हूं कि केवल उनके चित्र छाप देने से देश प्रगति करेगा, हम कठिन परिश्रम भी करेंगे। देश के लोग कड़ी मेहनत करेंगे, लेकिन जब तक ईश्वर का आशीर्वाद नहीं मिलता है, तब तक कड़ी मेहनत भी सफल नहीं होती।
webdunia
कांग्रेस में बदलाव की बयार : कांग्रेस के 80 वर्षीय नेता मल्लिकार्जुन खड़गे सीताराम केसरी के बाद गैर गांधी अध्‍यक्ष बन गए हैं। उन्होंने पार्टी में 50 फीसदी पद 50 साल से कम उम्र के लोगों को देने का ऐलान किया। इससे जाहिर है आने वाले समय में कांग्रेस में युवा चेहरों को अहमियत मिल सकती है। हालांकि खड़गे ने कांग्रेस वर्किंग कमेटी के बदले 47 सदस्यों की जो स्टीयरिंग कमेटी की घोषित की है, उसके लगभग सभी सदस्य 50 साल से ऊपर के हैं। इसमें पूर्व पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, राहुल गांधी का भी नाम है। इस कमेटी में तमिलनाडु के विरुदनगर से लोकसभा सांसद बी. मणिकम टैगोर हैं एकमात्र ऐसे नेता हैं, जिनकी उम्र 47 साल है।
 
पदभार ग्रहण करने के बाद भाजपा के कांग्रेस मुक्त भारत के नारे पर तंज कसते हुए खड़गे ने कहा कि अपने मुताबिक नया भारत बनाने के नाम पर वे कांग्रेस मुक्त भारत बनाने का नारा देते हैं, लेकिन हम ऐसा नहीं होने देंगे। इस मौके पर सोनिया ने कहा कि खड़गे को अध्यक्ष पद की कमान सौंपकर वे राहत महसूस कर रही हैं। उनके सिर से बड़ा बोझ उतर गया है।
 
सप्ताह की इन सुर्खियों पर भी डाल लें एक नजर- 
रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन रुख में नरमी, कहा- उनकी तरफ से यूक्रेन पर नहीं किया जाएगा परमाणु हमला, भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को बताया देशभक्त
भ्रष्टाचार को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की कड़ी चेतावनी, व्यक्ति हो या संस्था किसी को भी बख्‍शा नहीं जाएगा
शी जिनपिंग तीसरी बार चुने गए चीन के राष्ट्रपति, माओ त्से तुंग के बाद तीन कार्यकाल पाने वाले शी एकमात्र नेता
लाहौर के लिबर्जी चौक से इमरान खान का हकीकी आजादी मार्च शुरू, पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री ने की भारत की विदेश नीति की तारीफ
अमेरिका ने ख्यात लेखक सलमान रुश्दी के सिर पर इनाम घोषित करने वाले ईरानी समूह पर  ‘15 खोरदाद फाउंडेशन’ लगाया प्रतिबंध

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

सियोल में जानलेवा बनी हैलोवीन की पार्टी, भगदड़ से 20 की मौत, 50 को आया हार्टअटैक