Weather Prediction: उत्तर भारत में बारिश दिला सकती है राहत, महाराष्ट्र-गुजरात में तूफान की आशंका

सोमवार, 1 जून 2020 (08:53 IST)
नई दिल्ली। दिल्ली सहित उत्तर भारत के अनेक राज्यों में रविवार को हल्की से मध्यम बारिश हुई जिससे क्षेत्र में लू से 1 सप्ताह राहत मिलने के आसार हैं। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा कि अरब सागर के ऊपर बना कम दबाव क्षेत्र चक्रवाती तूफान में तब्दील होकर ऊपरी पश्चिमी तट की ओर बढ़ सकता है।
ALSO READ: रातभर हुई बारिश, तेज हवाओं से दिल्ली में गिरा पारा
दिल्ली में रातभर हल्की बारिश और दिन में भी बारिश होने से अधिकतम तापमान 36 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विज्ञानी ने अगले 2 दिन में दिन का तापमान 40 डिग्री से नीचे रहने का अनुमान व्यक्त किया है। दिल्ली-एनसीआर के कई निवासियों ने आसमान में इंद्रधनुष देखा और खेलप्रेमियों ने बारिश के बाद वॉलीबॉल खेला। हरियाणा, राजस्थान और उत्तरप्रदेश में भी वर्षा हुई।
 
भारत मौसम विज्ञान विभाग के क्षेत्रीय पूर्वानुमान केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा कि 1 से 3 जून के बीच दिल्ली-एनसीआर में तापमान 2-4 डिग्री बढ़ने की संभावना है। श्रीवास्तव ने कहा कि जून के पहले सप्ताह में उत्तर-पश्चिम भारत में एक और पश्चिमी विक्षोभ की आशंका है, 8 जून से पहले इस क्षेत्र में लू चलने की आशंका नहीं है।
 
पिछले हफ्ते उत्तर भारत के कुछ हिस्सों में लू चलनी शुरू हो गई थी। ताजा पश्चिमी विक्षोभ और दक्षिण-पश्चिमी हवाओं तथा अरब सागर में कम दबाव का क्षेत्र बनने से दिल्ली-एनसीआर में और नमी सकती है। आईएमडी ने कहा कि 3 जून तक उत्तर महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात में जाने से पहले कम दबाव का क्षेत्र एक चक्रवाती तूफान में तब्दील होने की आशंका है।

मुंबई और आस-पास के इलाकों में हल्की बारिश : मुंबई और उसके आस-पास के कुछ इलाकों में सोमवार सुबह तूफान आने के साथ ही हल्की बारिश हुई। अरब सागर में कम दबाव का क्षेत्र बनने के बाद यहां गरज के साथ छींटे पड़े हैं।
 
मुंबई शहर, उसके उपनगरीय इलाकों और पड़ोस के ठाणे और पालघर के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश होने से वहां के लोगों को गर्म एवं चिपचिपे मौसम से कुछ राहत मिली है। रविवार को भी पुणे समेत राज्य के कुछ हिस्सों में तूफान और तेज हवाएं चलने के साथ बारिश हुई थी।
 
भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी), मुंबई के मौसम विज्ञान के उपमहानिदेशक केएस होसलिकर ने सोमवार को एक ट्वीट में कहा कि महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटे में तूफान के साथ ही बारिश भी हुई, खासकर आंतरिक इलाकों में।
 
आईएमडी के मुताबिक अरब सागर में बन रहा कम दबाव का क्षेत्र चक्रवाती तूफान में बदल सकता है और 3 जून को उत्तरी महाराष्ट्र और गुजरात तट से टकरा सकता है। महाराष्ट्र के मु्ख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मछुआरों से समुद्र में नहीं जाने की रविवार को अपील की थी।
 
राज्य सरकार ने किसी भी तरह की आपात स्थिति से निपटने के लिए कोंकण तट के पास सुरक्षा उपाय बढ़ा दिए हैं। ठाकरे ने पिछले हफ्ते सरकार, आईएमडी, बृहन्मुंबई महानगरपालिका, सेना, नौसेना और वायुसेना के अधिकारियों के साथ मॉनसून की तैयारी को लेकर बैठक की थी। (भाषा)

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख इंफोसिस सीईओ को मिला 61.5 लाख डॉलर वेतन, कोविड 19 से मुनाफे पर मामूली असर का अनुमान