Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

समय से पहले रिहा होंगे राजीव गांधी के हत्यारे, सुप्रीम कोर्ट के फैसले से कांग्रेस नाराज

हमें फॉलो करें supreme court
शुक्रवार, 11 नवंबर 2022 (15:32 IST)
नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने राजीव गांधी हत्याकांड में उम्रकैद की सज़ा काट रही नलिनी श्रीहरन और आर. पी. रविचंद्रन को समय से पहले रिहा करने का शुक्रवार को आदेश दिया। दोनों ने समय से पहले रिहाई की मांग को लेकर शीर्ष अदालत का दरवाज़ा खटखटाया था।हालांकि कांग्रेस ने शीर्ष अदालत के फैसले पर कड़ी नाराजगी जाहिर की। 
 
न्यायाधीश बी. आर. गवई और न्यायाधीश बी. वी. नागरत्ना की पीठ ने कहा कि मामले के दोषियों में से एक आरोपी ए. जी. पेरारिवलन के मामले में शीर्ष अदालत का पहले दिया गया फैसला इन दोनों के मामले में भी लागू होता है।
 
संविधान के अनुच्छेद-142 के तहत प्रदत्त शक्ति का इस्तेमाल करते हुए, सुप्रीम कोर्ट ने 18 मई को पेरारिवलन को रिहा करने का आदेश दिया था, जिसने 30 साल से अधिक जेल की सज़ा पूरी कर ली थी।
 
उल्लेखनीय है कि 21 मई 1991 की रात राजीव गांधी की तमिलनाडु के श्रीपेरुंबदूर में एक चुनावी सभा के दौरान हत्या कर दी गई थी। इसके लिए धानु नाम की एक महिला आत्मघाती हमलावर का इस्तेमाल किया गया था।
 
क्या बोली कांग्रेस : कांग्रेस ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के हत्यारों को समयपूर्व रिहा करने का सुप्रीम कोर्ट का फैसला पूरी तरह अस्वीकार्य और त्रुटिपूर्ण है।
 
पार्टी महासचिव जयराम रमेश ने आरोप लगाया कि देश की शीर्ष अदालत ने भारत की भावना के अनुरूप कदम नहीं उठाया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी स्पष्ट रूप से इसकी आलोचना करती है और इसे अरक्षणीय पाती है।
Edited by : Nrapendra Gupta (एजेंसियां)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

विधानसभा चुनाव में टिकट बंटवारे के 'गुजरात फॉर्मूला' से टेंशन में मध्यप्रदेश भाजपा के नेता!