Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

जम्मू कश्मीर में स्कूटी सवार IS के 3 आतंकी ढेर, एक जवान शहीद

webdunia

सुरेश एस डुग्गर

बुधवार, 5 फ़रवरी 2020 (13:23 IST)
जम्मू। कश्मीर में पहली बार आईएस के आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर हमले के लिए स्कूटी का इस्तेमाल किया। 3 आतंकी एक स्कूटी पर सवार होकर आए और केंद्रीय रिजर्व पुलिसबल के जवानों पर आत्मघाती हमला बोला, जिसमें एक जवान मौके पर ही शहीद हो गया। जबकि तुरंत की गई जवाबी कार्रवाई में 3 आतंकी ढेर कर दिए गए।

यह हमला श्रीनगर-बारामुला हाइवे पर लावेपोरा नारबल इलाके में हुआ। इस इलाके में नाके पर बुधवार को स्कूटी पर आए 3 आतंकियों ने अचानक केरिपुब जवानों पर हमला बोल दिया। केरिपुब की 73वीं बटालियन के सतर्क जवानों ने भी तुरंत हरकत में आते हुए जवाब में गोलीबारी की।

इस गोलीबारी में भाग रहे 2 आतंकियों को वहीं ढेर कर दिया गया। गोलीबारी में एक नागरिक के घायल होने की भी सूचना है। मौके से घायल अवस्था में फरार तीसरे आतंकी को सुरक्षाबलों ने तलाशी अभियान के बाद जिंदा पकड़ लिया, लेकिन बाद में उसकी भी मौत हो गई।
webdunia

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, आतंकियों ने यह हमला सुबह 11.30 बजे के करीब किया। हाइवे पर स्थित लावेपोरा नारबल इलाके में वाहनों की जांच के लिए केरिपुब की 73वीं बटालियन ने यह नाका स्थापित किया था। इस नाके से कुछ ही दूरी पर टीके कॉलेज भी है। स्कूटी पर सवार 3 आतंकी अचानक नाके पर पहुंचे और वहां तैनात जवानों पर गोलीबारी करते हुए फरार होने की कोशिश करने लगे। इस बीच केरिपुब का एक जवान गंभीर रूप से घायल हो गया, जबकि अन्य जवानों ने तुरंत अपनी पोजीशन लेते हुए भाग रहे आतंकवादियों पर जवाबी कार्रवाई करते हुए गोलीबारी की। इस दौरान 2 आतंकियों को मौके पर ही ढेर कर दिया गया।

तीसरे आतंकी को भी गोली लगी परंतु वह घायल अवस्था में साथ लगते रिहायशी इलाके में छिप गया, तभी हमले के तुरंत बाद मौके पर पहुंचे एसओजी, सेना व केरिपुब के जवानों ने इलाके की घेराबंदी करते हुए तीसरे आतंकी की तलाश शुरू कर दी।

करीब एक घंटे तक चले इस तलाशी अभियान के बाद तीसरे आतंकी को सुरक्षाबलों ने जिंदा पकड़ लिया था, लेकिन वह जख्‍मों को सहन नहीं कर पाया। मारे गए तीनों आतंकवादी इस्लामिक स्टेट ऑफ जम्मू कश्मीर संगठन के हैं। इनमें से एक की पहचान खतिब निवासी अनंतनाग के तौर पर हुई है। वहीं गंभीर रूप से घायल केरिपुब का जवान शहीद हो गया। 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

सेना में बढ़ सकती है रिटायर होने की उम्र, 58 साल करने पर विचार