इथोपिया विमान हादसे में पर्यावरण सलाहकार शिखा गर्ग समेत चार भारतीयों की मौत

सोमवार, 11 मार्च 2019 (10:03 IST)
नई दिल्ली। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा है कि इथोपियन एयरलाइंस विमान हादसे में मारे गए लोगों में पर्यावरण मंत्रालय से सम्बद्ध यूएनडीपी की एक सलाहकार सहित 4 भारतीय शामिल हैं।
 
बोइंग 737 ने रविवार सुबह नैरोबी जाने के लिए अदीस अबाबा से उड़ान भरी, लेकिन इसके कुछ मिनट बाद ही विमान हादसे का शिकार हो गया। विमान में सवार 149 यात्रियों और चालक दल के आठ सदस्यों की मौत हो गई। इनमें सैलानी, कारोबारी और भारतीय पर्यावरण मंत्रालय से सम्बद्ध संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (यूएनडीपी) की सलाहकार शिखा गर्ग भी शामिल थीं, जो संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (यूएनईपी) की बैठक में हिस्सा लेने जा रही थी।
 
प्रधानमंत्री ने नरेंद्र मोदी ने इस हादसे पर दुख जताते हुए ट्वीट किया कि इथोपियन एयरलाइंस के विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने पर हुई मौतों से दुखी हूं। मेरी संवेदनाएं शोकसंतप्त परिवारों के साथ हैं। 
 
स्वराज ने ट्विटर पर कहा कि मुझे इथोपियन एयरलाइन के विमान ईटी 302 के दुर्घटनाग्रस्त होने का पता चलने पर बहुत दु:ख हुआ। इस दुघर्टना में हमने अपने चार भारतीय नागरिकों को खोया है। मैंने इथोपिया में भारतीय उच्चायुक्त से शोकसंतप्त परिवारों की हर मदद करने को कहा है। 
 
उन्होंने कहा कि इथोपिया स्थित भारतीय दूतावास ने उन्हें बताया है कि मृतक भारतीय नागरिकों में वैद्य पन्नागेश भास्कर, वैद्य हंसिन अन्नगेश, नुकवरपु मनीषा और शिखा गर्ग शामिल हैं।
विदेश मंत्री ने कहा कि मेरे सहयोगी डॉ हर्षवर्धन (पर्यावरण मंत्री) ने पुष्टि की है कि शिखा गर्ग पर्यावरण एवं वन विभाग से संबद्ध थीं। वे नैरोबी में यूएनईपी की बैठक में हिस्सा लेने जा रही थीं।
 
उन्होंने कहा कि वह भारतीय नागरिकों के परिवारों से संपर्क करने की कोशिश कर रही हैं।
 
हर्षवर्धन ने ट्वीट किया कि मेरी संवेदनाएं इथोपियन एयरलाइन की विमान दुर्घटना में जान गवांने वाले लोगों के परिवारों के साथ हैं। दुख के साथ बताया जा रहा है कि मेरे मंत्रालय से सम्बद्ध यूएनडीपी की सलाहकार सुश्री शिखा गर्ग की भी इस हादसे में मौत हुई है। मैं दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना करता हूं। बताया जा रहा है कि विमान में 35 देशों के यात्री सवार थे।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख लोकसभा के साथ क्यों नहीं हो रहे जम्मू कश्मीर के विधानसभा चुनाव, आयोग ने बताया यह कारण...