Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

LoC पर घमासान में 4 भारतीय सैनिक शहीद, 6 नागरिकों की मौत, 18 पाक सैनिक मार गिराए

webdunia

सुरेश एस डुग्गर

शुक्रवार, 13 नवंबर 2020 (20:40 IST)
जम्मू। एलओसी LoC पर कई सेक्टरों में आज भारत-पाक सेनाओं के बीच हुए घमासान युद्ध में दोनों ओर जबरदस्त तबाही हुई है। इसमें भारतीय सेना के 4 जवान शहीद हो गए जबकि 6 नागरिक भी मारे गए। भारतीय सेना की कार्रवाई में पाकिस्तानी सेना के आधा दर्जन कमांडों समेत डेढ़ दर्जन के करीब सैनिक हलाक कर दिए गए। पाक सेना के करीब 8 बंकरों व 4 चौकिओं को भी नेस्तनाबूद कर दिया गया। 
 
भारतीय सेना ने दावा किया है कि हमने पाकिस्तानी सेना के 2 आयल डिपो तथा एक आयुध भंडार को भी तबाह कर दिया है। उधर पाकिस्तान ने दावा किया है कि भारतीय गोलाबारी में उसके कई नागरिक मारे गए हैं और जख्मी हुए हैं। भारतीय सेना की कार्रवाई से बौखलाए पाकिस्तान ने कुपवाड़ा, उड़ी और पुंछ में भारी गोलाबारी की। पाकिस्तान ने भारतीय सैन्य चौकियों और रिहायशी इलाकों को निशाना बनाते हुए गोले बरसाए। 

गोलाबारी में कुल 4 भारतीय जवान शहीद हो गए जबकि 6 नागरिकों की मौत हो गई। वहीं जिला पुंछ के सब्जियां इलाके में पांच लोग घायल हो गए। सूत्रों ने बताया कि भारतीय सेना की जवाबी कार्रवाई में भी पाकिस्तान को भारी नुकसान हुआ है। पाकिस्तान के 18 से 20 सैनिक मार गिराए गए हैं। यही नहीं, पाकिस्तान की कई चौकियों को नेस्तनाबूद कर दिया गया है। उसके आयुध भंडार तथा आयल डिपो को भी उड़ा दिया गया। 
webdunia
गोलाबारी की चपेट में आने से 2 जवान (जिनमें बीएसएफ इंस्पेक्टर राकेश डोभाल भी शामिल थे) गंभीर रूप से घायल हो गए। दोनों घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया, जहां जख्मों का ताव न सहते हुए दोनों ने दम तोड़ दिया। इस गोलाबारी में एक अन्य नागरिक की हालत गंभीर बताई जा रही है।
 
शहीद बीएसएफ सब इंस्पेक्टर राकेश डोभाल गंगा नगर, ऋषिकेश उत्तराखंड के रहने वाले थे। शहीद हुए दूसरे जवान की अभी तक पहचान जाहिर नहीं की गई है। उड़ी सेक्टर में मारे गए लोगों की पहचान ताहिब अहमद मीर, इरशाद अहमद और फारूका बेगम के में रूप हुई है।
 
इस बीच, जिला पुंछ के साब्जियां सेक्टर में भी पाकिस्तानी सेना ने गोले दागे। इस दौरान कुछ मोर्टार सब्जियां के मुख्य बस अड्डे पर गिरे, जिनकी चपेट में आने से एक मध्यम आयु वर्ग की महिला, दो पोर्टरों समेत 5 नागरिक घायल हो गए। उनकी पहचान हाजरा बेगम, तौसीफ अहमद और मोहम्मद रशीद, जबकि 183 बीएन बीएसएफ के 2 पोर्टरों में मोहम्मद अफराज़ और मोहम्मद इब्राहिम के तौर पर हुई है। सभी घायलों को मंडी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
webdunia
तंगधार और करनाह में भारतीय जवानों की जवाबी कार्रवाई शुरू होने के चंद मिनट बाद ही पाक सैनिकों ने कई अन्य जगहों पर भी मोर्चा खोल दिया। जिला बारामुल्ला के उड़ी सेक्टर में भी पाक सैनिकों ने सीजफायर तोड़ भारतीय ठिकानों पर गोलाबारी शुरू कर दी।

उड़ी सेक्टर के सामने एलओसी पार हाजीपीर दर्रे में बैठे पाक सैनिकों ने भारतीय ठिकानों पर तोप और मोर्टार के गोले दागे। उड़ी में गोलाबारी शुरू होने के लगभग 20 मिनट बाद बांदीपोरा जिले में एलओसी के साथ सटे गुरेज सेक्टर में भी गोलाबारी शुरू हो गई। गोलबारी इतनी तेज थी कि बांदीपोरा के कस्बे तक आवाज सुनाई दे रही थी।
 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

ऑस्ट्रेलिया सरकार ने Team India के खिलाड़ियों के परिवारों को भी साथ में ठहरने की अनुमति दी