Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

भारतीय सेना का पलटवार, तबाह किए पाकिस्तानी ठिकाने

webdunia
शुक्रवार, 13 नवंबर 2020 (17:33 IST)
श्रीनगर। पाकिस्तानी सैनिकों ने शुक्रवार को जम्मू कश्मीर के कमलकोट सेक्टर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर संघर्ष विराम समझौते का उल्लंघन किया जिससे एक नागरिक की मौत हो गई जबकि एक अन्य घायल हो गया। भारतीय सेना ने जवाबी कार्रवाई करते हुए सीमापार पाकिस्तान के ठिकाने तबाह कर दिए। 
 
अधिकारियों ने कहा कि पाकिस्तानी सैनिकों ने मोर्टार दागे और अन्य हथियारों से गोलाबारी की। उन्होंने कहा कि घायल नागरिक को अस्पताल भेजा गया है। 
 
अधिकारियों ने कहा कि उरी के कमलकोट सेक्टर के अलावा दो अन्य स्थानों से भी संघर्ष विराम के उल्लंघन की सूचना है। इन स्थानों में बांदीपोरा जिले के गुरेज़ सेक्टर में इज़मर्ग और कुपवाड़ा जिले में केरन सेक्टर शामिल हैं। आपको बता दें कि पाकिस्तान अब तक 2000 से ज्यादा बार संघर्ष विराम का उल्लंघन कर चुका है। 
 
एक रक्षा प्रवक्ता ने यह भी बताया कि सेना ने घुसपैठ की एक कोशिश को विफल कर दिया। केरन सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास संघर्ष विराम का उल्लंघन कर घुसपैठ के लिए मदद की जा रही थी।
 
श्रीनगर स्थित रक्षा प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने कहा कि केरन सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास अग्रिम चौकियों पर शुक्रवार को हमारे सैनिकों ने संदिग्ध गतिविधियां देखीं। सतर्क सैनिकों ने संदिग्ध घुसपैठ के प्रयास को नाकाम कर दिया। उन्होंने कहा कि घुसपैठ के प्रयास के साथ ही पाकिस्तान ने बिना किसी उकसावे के संघर्षविराम का उल्लंघन शुरू किया।
 
कर्नल कालिया ने कहा कि उन्होंने मोर्टार और अन्य हथियारों से गोले दागे। इसका उचित जवाब दिया गया। एक सप्ताह के भीतर यह घुसपैठ की दूसरी कोशिश थी। इससे पहले 7- 8 नवंबर की मध्यरात्रि माछिल सेक्टर में घुसपैठ का असफल प्रयास किया गया था जिसमें तीन आतंकवादी मारे गए थे।
उस अभियान में सेना के एक कैप्टन और बीएसएफ के एक जवान सहित तीन सैनिक शहीद हो गए थे। प्रवक्ता ने कहा कि भारत की सेना पाकिस्तान द्वारा जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों की घुसपैठ कराने के सभी प्रयासों को नाकाम बनाने के लिए पूरी तरह से तैयार है।
 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

LOC पर केरन सेक्‍टर में घुसपैठ की कोशिश विफल, भारतीय सेना ने दिया कड़ा जवाब