Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

'ना'पाक हरकत, राजौरी, पुंछ में 5 दिनों से गरज रहे हैं तोपखाने

webdunia

सुरेश एस डुग्गर

गुरुवार, 12 नवंबर 2020 (17:01 IST)
जम्मू। तेरह दिनों के बाद भारत-पाक के बीच हुआ सीजफायर अपने 17 साल पूरे करने जा रहा है। पर पिछले पांच दिनों से राजौरी व पुंछ के कई सेक्टरों में गरज रहे तोपखाने इसके जारी रहने पर प्रश्नचिन्ह जरूर लगा रहे थे। इन 5 दिनों के दौरान दोनों पक्षों को भारी नुकसान उठाना पड़ा है।
 
गुरुवार को भी एक बार फिर पाक सेना ने राजौरी और पुंछ जिले में सीजफायर का उल्लंघन किया है। सुबह करीब नौ बजे राजौरी जिले के नौशेरा सेक्टर और पुंछ जिले के शाहपुर, किरनी और कस्बा सेक्टरों में एलओसी पर मोर्टार के साथ छोटे हथियारों से गोलीबारी की है। भारतीय सेना भी जवाबी कार्रवाई कर रही है।
 
कसबा, किरनी और शाहपुर सेक्टर में पाकिस्तान की गोलाबारी का लगातार पांचवां दिन है। भारतीय पक्ष की ओर से पाक गोलाबार का जबाव देने की खातिर बोफोर्स का भी इस्तेमाल किया जा रहा है।
 
पाकिस्तानी गोलाबारी में धर्मस्थल और कई मकानों को नुकसान हुआ है। इससे पहले पाकिस्तानी सेना ने फिर एलओसी और आईबी पर सीजफायर का उल्लंघन करते हुए भारी गोलाबारी की। अग्रिम चौकियों के साथ ही रिहायशी इलाकों को निशाना बनाया। गोलाबारी में एक धर्मस्थल समेत कई घरों को नुकसान पहुंचा है। 
 
कई मवेशी भी घायल हो गए हैं। पाकिस्तानी सेना की नापाक हरकत का जवानों ने भी करारा जवाब दिया है। कई घंटों की गोलाबारी से इलाके में दहशत का माहौल है।  
पांच दिनों से पाक गोलाबारी के कारण लोगों में भय का माहौल बना हुआ है। लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पनाह लेनी पड़ रही है। सेना ने भी गोलाबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया। बताया जा रहा है कि पहले पाक सेना ने यूनिवर्सल मशीनगन से किरनी, कस्बा और शाहपुर सेक्टर में गोलाबारी की, जिसके बाद मोर्टार शैल दागने शुरू कर दिए। वह बड़े तोपखानों का भी इस्तेमाल कर रही है। सेना ने भी पाकिस्तान को उसी भाषा में जवाब दिया।
 
एलओसी तथा इंटरनेशनल बॉर्डर पर पाक सेना द्वारा सीजफायर का उल्लंघन ऐसे समय में किया जा रहा है जबकि सीजफायर इस महीने की 25 तारीख को अपने 17 साल पूरे करने जा रहा है। इस साल सबसे अधिक सीजफायर उल्लंघन की घटनाएं हुई हैं। आधिकारिक तौर पर इस साल अभी तक एलओसी तथा आईबी पर पाक सेना 3668 बार सीजफायर का उल्लंघन कर चुकी है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

Covid 19: त्रिपुरा में 34 फीसदी लोगों में एंटीबॉडी, दूसरी लहर की आशंका