Weather Updates : देश के कई हिस्सों में भारी बारिश के आसार, मध्यप्रदेश के लिए भी चेतावनी

शुक्रवार, 2 अगस्त 2019 (23:24 IST)
पुणे/भोपाल। कोंकण, गोवा, मध्य महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ में अगले 24 घंटे के दौरान अलग-अलग स्थानों पर तेज से बहुत तेज और कहीं-कहीं मूसलधार बारिश होने का अनुमान है। मध्यप्रदेश के लिए भी कुछ-कुछ हिस्सों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है।
 
मौसम विभाग के मुताबिक राजस्थान में कुछ स्थानों पर तेज और अलग-अलग स्थानों पर बहुत तेज वर्षा हो सकती है जबकि ओडिशा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, पश्चिम राजस्थान गुजरात, विदर्भ, तटीय आंध्रप्रदेश और तेलंगाना के अलग-अलग हिस्सों में तेज से बहुत तेज बारिश होने के आसार हैं।
 
इस दौरान पश्चिम उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, जम्मू-कश्मीर, मध्यप्रदेश, सौराष्ट्र, कच्छ, मराठवाड़ा और तटीय उत्तर आंतरिक कर्नाटक में अलग अलग स्थानों पर तेज बारिश हो सकती है।
 
उत्तर, मध्य और दक्षिण-पश्चिम अरब सागर, मध्य बंगाल की खाड़ी और गुजरात-महाराष्ट्र-गोवा तटों और तटीय आंध्रप्रदेश में 40-50 किमी प्रति घंटे की तेज गति हवा चलने का अनुमान है इसलिए मछुआरों को अगले 24 घंटों के दौरान इन क्षेत्रों में उद्यम नहीं करने की सलाह दी गई है।
 
मध्यप्रदेश में अगले 48 घंटों के लिए चेतावनी : मौसम विभाग ने अगले 48 घंटों में मध्यप्रदेश के 19 जिलों में कहीं-कहीं फिर भारी बारिश होने की चेतावनी दी है।
 
गुना, अशोकनगर, शिवपुरी, टीकमगढ़, पन्ना, सतना, रीवा, छतरपुर, सागर, सिवनी, बालाघाट, अनूपपुर, डिंडोरी, हरदा, खंडवा, खरगोन, बड़वानी, बुरहानपुर एवं देवास जिलों में अगले 48 घंटों में भारी बारिश होने की चेतावनी जारी की गई है। इस दौरान कहीं-कहीं अति भारी बारिश हो सकती है।
 
शुक्रवार को सागर, मलाजखंड एवं गुना में 40 मिमी, पचमढ़ी एवं रायसेन में 20 मिमी तथा ग्वालियर एवं मंडला में 10 मिमी वर्षा हुई है। पिछले 24 घंटों के दौरान भी उदयपुरा एवं नलखेड़ा में 70 मिमी, कोलारस, सुवासरा एवं कोतमा में 60 मिमी तथा आगर में 50 मिमी वर्षा हुई है। अगले 24 घंटों के दौरान भी भोपाल समेत प्रदेश के अधिकांश स्थानों पर वर्षा की बौछारें पड़ने की संभावना है।
वडोदरा में बाढ़ की स्थिति में सुधार : गुजरात के वडोदरा शहर तथा आसपास में हुई भारी वर्षा के कारण आई बाढ़ की स्थिति में शुक्रवार को सुधार हुआ, पर दोपहर बाद एक बार फिर तेज बारिश होने से चिंता बढ़ गई है।
 
मुख्यमंत्री विजय रूपाणी अपने गृहनगर राजकोट का दौरा बीच में छोड़कर शुक्रवार शाम यहां पहुंच गए। उन्होंने कहा कि शुक्रवार को दोपहर हुई वर्षा से चिंता बढ़ी है, पर अगर और वर्षा नहीं हुई तो शनिवार से स्थिति लगभग सामान्य हो जाएगी।

शहर के बीचोबीच बहने वाली विश्वामित्री नदी और आजवा डैम में जलस्तर घटने से राहत मिली है। लगभग पूरे शहर में बिजली लगभग सुचारु हो गई है। अब पेयजल आपूर्ति तथा साफ-सफाई पर जोर दिया जा रहा है।
 
मौसम विभाग ने वडोदरा में शुक्रवार देर रात और शनिवार को भारी वर्षा की चेतावनी जारी की है। वडोदरा शहर में 31 जुलाई को 1 ही दिन में 499 मिलीमीटर वर्षा हुई, जो उसके सालाना औसत वर्षा का 50 प्रतिशत से भी अधिक है।
नाले के तेज बहाव में बहे पिता, पुत्र और 2 बेटियां : हिमाचल प्रदेश के ऊना जिले में बग स्थोतर में खड्ड में आए पानी के तेज बहाव में पिता, पुत्र सहित 2 बेटियां पानी में बह गईं लेकिन चरवाहों की हिम्मत से उन्हें निकाल लिया गया।
 
खड्ड के किनारे मौजूद स्थानीय लोगों ने हिम्मत दिखाते हुए चारों को पानी से बाहर निकाला। इनमें से एक युवती की हालत गंभीर होने पर क्षेत्रीय अस्पताल ऊना में भर्ती करवाया। उसकी हालत में सुधार आया है।
 
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार देर शाम को स्थोत्तर निवासी देवराज अपने बेटे और 2 बेटियों के संग खड्ड को पार करने लगा। तभी पानी के तेज बहाव में देवराज बहने लगा। पिता को पानी में बहता देख बच्चे भी खड्ड में कूद गए, लेकिन पिता तक नहीं पहुंच पाए। इस पर पिता और बच्चे पानी के बहाव में बहने लगे। 
 
उनके चिल्लाने की आवाज सुनकर खड्ड के समीप पशु चरा रहे चरवाहों ने हिम्मत दिखाई और पानी में उतर गए और कड़ी मशक्कत के बाद चारों को बाहर निकाला गया। देवराज की एक बेटी पानी के तेज बहाव में काफी दूर तक बहती चली गई जिसमें 2 अन्य को चोटें आई हैं। देवराज पेशे से दूध बेचने का काम करता है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख चंद्रयान 2 ने चौथी बार सफलतापूर्वक बदली कक्षा, अभी पृथ्वी से 277 किलोमीटर दूर है