Weather Predict: उत्तराखंड में हुए जबरदस्त हिमपात से ठंड बढ़ी, गुजरात में शीतलहर की वापसी

बुधवार, 29 जनवरी 2020 (22:18 IST)
नैनीताल। उत्तराखंड में इस सीजन मौसम काफी मेहरबान है तथा बुधवार को नैनीताल और पूरे कुमाऊं में जबरदस्त हिमपात हुआ। उधर गुजरात में भी शीतलहर की वापसी हो गई है। नैनीताल से लेकर सीमांत पिथौरागढ़ तक पहाड़ियां बर्फ से लकदक हैं। पहाड़ों ने सफेद चादर से ओढ़ ली है। इसके चलते तापमान काफी नीचे चला गया है।
ALSO READ: Weather Predict: दिल्ली-एनसीआर में हुई झमाझम बारिश, उत्तरी भारत में हिमपात की संभावना
नैनीताल में भी मौसम ने मंगलवार से ही करवट बदल ली थी। मंगलवार रात पहले जबर्दस्त बरसात शुरू हुई। मौसम की भविष्यवाणी एकदम सही साबित हुई और बुधवार सुबह से हिमपात ने जोर पकड़ा। बर्फ गिरने का सिलसिला दिनभर चलता रहा। दोपहर तक शहर में 1 से डेढ़ इंच बर्फ जम गई। बर्फ गिरने का सिलसिला शाम तक जारी रहा। शहर के ऊंचे और नीचे सभी इलाकों में जबर्दस्त हिमपात हुआ है।
शहर की ऊंची चोटियों चाइनापीक, किलबरी, स्नोव्यू, शेर का डांडा और टिफिन टॉप में जबरदस्त हिमपात हुआ है। यहां बर्फ की मोटी चादर जमी है। नीचे वाले इलाके और शहर में 1 से 2 इंच बर्फ जमी है। शहर में हिमपात जारी है। शहर का तापमान काफी नीचे चला गया है जिससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि देर रात और हिमपात हो सकता है।
ALSO READ: Weather Predict: पहाड़ों पर हिमपात से दिल्ली में बढ़ी ठंड, विमान से लेकर रेल यातायात पर असर
गौरतलब है कि नैनीताल में इस बार मौसम का यह 5वां हिमपात है। पिछले 9 जनवरी को भी शहर में ऐसा ही जबर्दस्त हिमपात हुआ था। नैनीताल के आसपास गागर, रामगढ़, मुक्तेश्वर और सीतलाखेत में भी जबर्दस्त हिमपात हुआ है। यहां बर्फ की मोटी चादर जीम है और पहाड़ों ने जबर्दस्त सफेदी ओढ़ी हुई है।
नैनीताल के अलावा कुमाऊं मंडल के अलमोड़ा, चंपावत, बागेश्वर और पिथौरागढ़ जिलों के ऊंचाई वाले इलाकों में बरसात और जबरदस्त हिमपात देखने को मिला है। सीमांत पिथौरागढ़ की ऊंचाई वाले इलाकों में इस बार कई दफा मोटी बर्फ गिरी है। इससे एक ओर जहां पर्यटकों और कारोबारियों की बांछें खिली हैं, वहीं आम लोगों के लिए दुश्वारियां भी बढ़ गई हैं। 
 
नैनीताल शहर में जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। सड़कों पर बर्फ जमने के कारण यातायात ठप हो गया है। बिजली और पानी की आपूर्ति भी ठप हो गई है। तापमान नीचे जाने से पहाड़ों में जबर्दस्त शीतलहर चल रही है। हाड़-मांस कंपा देने वाली ठंड पड़ रही है। बुधवार को लोग दिनभर घरों में दुबकने को मजबूर रहे। 
 
गुजरात में फिर शीतलहर की वापसी : उत्तरी राज्यों में हिमपात और हवा के बदले रुख के चलते गुजरात में बुधवार को एक बार फिर शीतलहर की वापसी हो गई।
 
राज्य के कच्छ समेत कुछ अन्य स्थानों पर बुधवार को शीतलहर महसूस की गई। कई स्थानों पर 24 घंटे में ही तापमान 6 डिग्री सेल्सियस से भी अधिक गिर गया है। राज्य में नलिया 6.5 डिग्री सेल्सियस के न्यूनतम तापमान के साथ सबसे ठंडा रहा। कांडला पोर्ट 10.1 डिग्री के साथ दूसरा सबसे ठंडा स्थान रहा।
 
अहमदाबाद शहर में भी 24 घंटे में तापमान में लगभग 5 डिग्री की गिरावट हुई और यहां तापमान 12.1 डिग्री रहा। मौसम विभाग ने अगले 48 घंटे में हालांकि तापमान में कोई विशेष बदलाव नहीं होने की बात कही है, पर गुरुवार को भी कच्छ, भावनगर, राजकोट और कच्छ जिलों में कुछ स्थानों पर शीतलहर की चेतावनी दी है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख न्यूजीलैंड के लिए रो रहा है पाकिस्तान का खतरनाक गेंदबाज, कहा- कभी नहीं जीत सकते सुपर ओवर में...