Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

राहुल गांधी से मिले कन्हैया कुमार, क्या थामेंगे कांग्रेस का हाथ...

webdunia
गुरुवार, 16 सितम्बर 2021 (10:18 IST)
नई दिल्ली। भाकपा नेता और जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने वरिष्ठ कांग्रेस नेता राहुल गांधी से मुलाकात की। इस मुलाकात के बाद कहा जा रहा है कि कन्हैया कुमार जल्द ही कांग्रेस का हाथ थाम सकते हैं।
 
कन्‍हैया कुमार से जुड़े करीबी सूत्रों के मुताबिक भाकपा में वह घुटन महसूस कर रहे हैं। उन्‍होंने मंगलवार को राहुल गांधी से मुलाकात की थी। माना जा रहा है कि कन्‍हैया जल्‍द ही कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं।
 
हालांकि कन्हैया कुमार जनाधार वाले नेता नहीं है। ऐसे में पार्टी के अंदर यह सवाल भी उठ रहा है कि कन्हैया से पार्टी को क्या फायदा होगा। कांग्रेस इसी नफा-नुकसान के आंकलन में जुटी है।
 
जानिए कन्हैया कुमार से जुड़ी बड़ी बातें... 
1. कन्हैया कुमार का जन्म बिहार के बैगुसराय जिले के एक गांव में हुआ। यह गांव तेघरा विधानसभा क्षेत्र में आता है जहां सीपीआई को काफी समर्थन दिया जाता है। 
2. कन्हैया कुमार के पिता, जयशंकर सिंह, को पैरालिसिस है और वे काफी सालों से बिस्तर पर ही रहते हैं। 
3. कन्हैया कुमार की माता, मीना देवी, एक आंगनवाडी कार्यकर्ता हैं। वहीं उनके बड़े भाई प्राइवेट सेक्टर में काम करते हैं। कन्हैया की पढ़ाई बरौनी के आरकेसी हाई स्कूल में हुई। यह इलाका इंडस्ट्री से भरा हुआ है। 
4. अपने स्कूल दिनों में, कन्हैया अभिनय में रूचि रखते थे और इंडियन पीपल्स थियेटर एसोसिएशन के सक्रिय सदस्य थे। 
5. 2002 में कन्हैया ने पटना के कॉलेज ऑफ कॉमर्स में दाखिला लिया, जहां से उनके छात्र राजनीति की शुरुआत हुई। कन्हैया भूगोल में ग्रेजुएट हैं और फिलहाल पीएचडी कर रहे हैं। 
6. पटना में अध्ययन के दौरान, कन्हैया ऑल इंडिया स्टूडेंट फेडरेशन के सदस्य बने।
7. पटना में पोस्ट ग्रेजूएशन खत्म करने के बाद, कन्हैया ने जेएनयू (दिल्ली) में अफ्रीकन स्टडीज के लिए पीएचडी के लिए एडमिशन ले लिया। 
8. 2015 में, कन्हैया कुमार ऑल इंडिया स्टूडेंट फेडरेशन के ऐसे पहले सदस्य बने जो जेएनयू में छात्र संघ के अध्यक्ष पद के लिए चुने गए। उन्होंने इस पद के लिए एआईएसए, एबीवीपी, एसएफआई और एनएसयूआई के सदस्यों को हराया। 
9. कन्हैया कुमार के दोस्त और अन्य लोग उन्हें बेहतरीन वक्ता कहते हैं। उनके चुनाव के एक दिन पहले दी गई उनकी स्पीच उनके चुनाव जीतने का कारण मानी जाती है। 
10. इससे पहले जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में छात्र संघ के नेता रहे कन्हैया 2016 में भी राहुल गांधी से मुलाकात कर चुके हैं। 2019 में उन्होंने बेगूसराय से भाकपा के टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़ा था।
 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

आधार से जुड़ा मोबाइल नंबर जानें, यह है प्रक्रिया