डिजाइनर ने जिस शख्स को जेल से निकालने में मदद की, उसी ने ले ली जान

शुक्रवार, 16 नवंबर 2018 (22:41 IST)
नई दिल्ली। उसने अपनी बहन के साथ लंबी बातचीत को यह कहते हुए विराम दिया कि वह 'बिग बॉस' देखने के बाद वापस से फोन करेगी लेकिन यह कभी हो नहीं पाया। करीब 1 घंटे बाद फैशन डिजाइनर माला लखानी की कथित तौर पर उनके ही दर्जी द्वारा हत्या कर दी गई जिसे उन्होंने जेल से निकलवाने में मदद की थी। यह बात माला की बहन आरती शर्मा ने शुक्रवार को कही।
 
 
सफदरजंग अस्पताल के शवगृह के बाहर अपनी बहन के शव का इंतजार कर रहीं आरती के आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे। माला (53) और उनके घरेलू सहायक बहादुर की उनके वसंतकुंज स्थित घर पर हत्या कर दी गई थी।
 
आरती ने बताया कि मेरी रात करीब 8.15 बजे (बुधवार को) उससे बात हुई। इसके बाद मैंने दोबारा बात की और रात 9 बजकर 50 मिनट पर हमने बात खत्म की। वह मेरी बेटी से बात करना चाहती थी लेकिन बाद में कहा कि वह 'बिग बॉस' खत्म होने के बाद हमें फोन करेगी। लेकिन उसका फोन नहीं आया। हत्याओं के संबंध में इन 3 लोगों को गिरफ्तार किया गया है- माला के दर्जी राहुल अनवर (24), उसका भाई रहमत (24) और उसका दोस्त वसीम (25)।
 
माला को परिवार के लोग 'मीनू' के तौर पर जानते थे। आरती ने कहा कि माला ने ही राहुल को जेल से निकलवाने में मदद की थी, जब वह छेड़छाड़ के आरोप में गिरफ्तार था। पुलिस ने कहा कि अनवर को 2017 में कथित तौर पर रंगपुरी पहाड़ी इलाके में एक नाबालिग से छेड़छाड़ के मामले में गिरफ्तार किया गया था। आरती ने कहा कि वह हमेशा कहती थी कि अनवर मेरे 'बच्चे' जैसा है। 

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING