शहीद की पत्नी के Love You शब्द ने सबकी आंखें नम कर दीं...

मंगलवार, 19 फ़रवरी 2019 (14:01 IST)
पत्नी के सामने उसके पति की पार्थिव देह थी, वह बार-बार ताबूत को छू रही थीं, बार-बार पति को निहार रही थीं। यह ऐसा दृश्य था जो वहां हर किसी के दिल को छलनी कर रहा था। वहां मौजूद हर आंख नम थी। 
 
मेजर विभूति शंकर ढौंडियाल के साथ निकिता की शादी को अभी सालभर भी पूरा नहीं हुआ था, उनके सपने तो अभी परवान ही चढ़ रहे थे, लेकिन नियति का क्रूर मजाक देखिए कि उनके पति मां भारती पर सर्वस्व न्योछावर कर महाप्रयाण कर चुके हैं। 
 
वे अपने पति की पार्थिव देह को बार-बार छू रही थीं। भारत माता की जय और शहीद मेजर ढौंडियाल जिंदाबाद के नारों के बीच उन्होंने पति को I Love You बोलकर ताबूत को चूमा और फिर वीरतापूर्वक उन्हें सेल्यूट कर तीन बार जय हिन्द बोलकर विदा किया। यह दृश्य जिसने भी देखा वह अपनी आंखों के आंसू नहीं रोक पाया। 
 
जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकवादियों से मुठभेड़ में शहीद हुए मेजर ढौंडियाल का पार्थिव शरीर सोमवार शाम को देहरादून लाया गया था शहीद मेजर का पार्थिव शरीर मंगलवार सुबह उनके निवास डंगवाल मार्ग पर अंतिम दर्शन के लिए रखा गया। उनके अंतिम दर्शन के लिए वहां जनसैलाब उमड़ पड़ा था। लोग रुंधे हुए गले से भारत की जय और पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगा रहे थे। 
 
निकिता की बहादुरी देखकर हर व्यक्ति सदमे में तो था ही आश्चर्यचकित भी था। खुद को संभालते हुए निकिता ने स्वयं ही शवयात्रा की अगुआई की। उन्होंने कहा कि जो चले गए हैं उनसे कुछ सीखें, दुनिया में जो शहादत देते हैं, उनसे सीखना चाहिए। देश के लिए काम करने के बहुत सारे क्षेत्र हैं, ईमानदारी से काम करें।
 
सोशल मीडिया पर उमड़ा भावनाओं का ज्वार : अंतिम दर्शन के लिए रखी गई मेजर की पार्थिव देह के वीडियो को देखकर सोशल मीडिया पर भी भावनाओं का ज्वार उमड़ पड़ा। अंकित शर्मा नामक व्यक्ति ने फेसबुक पर लिखा उठ खड़ी हुई शहादत भी सलाम उसे करने को, कर रही अपना मंगलसूत्र विदा, वो वीरांगना है देखो।
 
सुनीता सिंह ने लिखा इस शहादत को कभी भी भुलाया नहीं जा सकेगा। जय हिन्द। आनन्द स्वरूप तिवारी ने लिखा- आओ झुक कर सलाम करें उनको, जिनके हिस्से मे ये मुकाम आता है, खुशनसीब होता है वो खून, जो देश के काम आता है।
 
अभिषेक ठाकुर ने लिखा कि कब तक हमारे जवान ऐसे ही शहीद होते रहेंगे। सरकार रक्षा पर इतना खर्च करती है फिर भी हमारे जवानों के पास उच्च तकनीकी हथियार और सुरक्षा उपकरण नहीं हैं। इस वक्त सरकार पर अंतिम निर्णय का दबाव बनाना चाहिए। धारा 370 हटनी चाहिए। जय हिंद। 

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख अब दिग्विजय सिंह के निशाने पर आए 'इमरान के दोस्त' नवजोत सिद्धू...