ऑपरेशन बदलापुर खत्म, महालक्ष्मी एक्सप्रेस के सभी यात्रियों को निकाला

शनिवार, 27 जुलाई 2019 (15:45 IST)
मुंबई। महाराष्ट्र में ट्रैक पर पानी भरने की वजह से बदलापुर और वांगणी के बीच फंसी महालक्ष्मी एक्सप्रेस से शनिवार को सभी 700 यात्रियों को सुरक्षित निकाल लिया गया है। एनडीआरएफ ने सेना और स्थानीय प्रशासन की मदद से इस ऑपरेशन को अंजाम दिया। मामले से जुड़ी हर जानकारी...

-ऑपरेशन बदलापुर खत्म, सभी 700 यात्रियों को ट्रेन से सुरक्षित निकाला। 
-600 लोगों को ट्रेन से सुरक्षित बाहर निकाला गया। करीब 100 लोग अब भी ट्रेन में फंसे हैं। 
-उपचार के लिए 37 डॉक्टरों की टीम पहुंची।
-सभी 9 गर्भवती महिलाओं को निकाला गया। 
-निकाले गए लोगों के लिए 14 बसों का इंतजाम किया गया है। 

-अभी भी कई यात्री ट्रेन में फंसे हैं। जल्द ही पूरा हो जाएगा रेस्क्यू ऑपरेशन।
- एयरफोर्स ने राहत और बचाव कार्य में MI-17 हैलीकॉप्टर भी लगाया। 
- D-1 कोच में मौजूद गर्भवती महिला तक पहुंची NDRF की टीम।
- ट्रेन में फंसे लगभग 700 यात्रियों में से अब तक 500 को बचा लिया गया है।
- NDRF ने 117 महिलाओं और बच्चों को ट्रेन से सुरक्षित निकाला।
- NDRF की टीम पानी में फंसी ट्रेन तक पहुंची। राहत और बचाव अभियान शुरू।
- 2 फुट पानी में ट्रेन खड़ी हुई है। आसपास 6 फुट तक पानी भरा हुआ है। 
- ट्रेन शुक्रवार रात मुंबई से रवाना हुई थी। इसमें पेंट्री कार नहीं होने से यात्री परेशान।
- समाचार एजेंसी एएनआई ने महाराष्ट्र सरकार के पीआरओ के हवाले से बताया कि ट्रेन में करीब 2000 यात्री फंसें हुए हैं।
- रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स और पुलिस की टीमें मौके पर मौजूद हैं। ट्रेन में फंसे यात्रियों को बिस्कुट और पानी वितरित किया जा रहा है।

- एनडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंच चुकी है। राहत और बचाव कार्य में नेवी और एयरफोर्स की भी मदद ली जा रही है। नेवी ने यात्रियों को बचाने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू कर दिया है। एयरफोर्स के विमान भी स्थिति का जायजा ले रहे हैं। 
 
- सेंट्रल रेलवे के मुख्य पब्लिक रिलेशन ऑफिसर ने यात्रियों से ट्रेन से बाहर नहीं निकलने की अपील की है। उन्होंने कहा कि रेल सुरक्षित स्थान पर खड़ी हुई है। स्टाफ, आरपीएफ और पुलिस ट्रेन में आपकी सुरक्षा के लिए मौजूद है। एनडीआरएफ और अन्य आपदा प्रबंधन अधिकारियों के निर्देश का इंतजार करें।

-  महाराष्‍ट्र के DGIPR ब्रजेश सिंह ने कहा कि बदलापुर और वंगानी के बीच जहां ट्रेन खड़ी है, बचाव कार्य के लिए 3 नौकाएं पहुंच गई है। 
- मध्य रेलवे के वरिष्ठ प्रवक्ता ए. के. जैन ने बताया कि एनडीआरएफ की टीमें यात्रियों को वहां से निकाल बदलापुर स्टेशन लाएंगी।
- हमने यात्रियों को उनके गंतव्य पर पहुंचाने के लिए विशेष राहत ट्रेन का इंतजाम करने की योजना बनाई है। 
- रेजिडेंट डिप्टी कलेक्टर (ठाणे) शिवाजी पाटिल ने कहा, 'उल्हास नदी में पानी बढ़ने के कारण चमटोली में पटरी पर पानी भर गया और ‘महालक्ष्मी एक्सप्रेस’ वहां अटक गई। यात्री सुरक्षित हैं लेकिन पटरियों पर पानी का बढ़ता स्तर चिंता का कारण बना हुआ है।' 
- पानी में फंसी ट्रेन, मुश्किल में 700 यात्रियों की जान 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख भारी बारिश ने दिखाए तबाही के मंजर... (फोटो)