Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

बॉर्डर पर संदिग्ध को देखते ही मार दो गोली, आखिर क्यों मिले हैं सुरक्षाबलों को ऐसे निर्देश?

हमें फॉलो करें webdunia
webdunia

सुरेश एस डुग्गर

  • बॉर्डर पर संदिग्धों को गोली मारने के आदेश। 
  • पाक खुफिया एजेंसी सीमा पार कर रही है साजिश।
  • आतंकियों से सैनिकों पर सीधे हमले के लिए कहा गया है। 
  • आतंकवादियों ने सीमा के नजदीक कई बार फायरिंग की है।
जम्मू। सुरक्षाबलों को सीमा पर संदिग्धों को देखते ही गोली मारने के निर्देश दिए गए हैं। दरअसल, ऐसी सूचनाएं मिली हैं कि पाकिस्तानी खुफिया संस्था आईएसआई ने अपने यहां रुके आतंकियों को भारत में घुसपैठ करने की बजाय सीमा पर ही भारतीय सैनिकों पर हमले बोलने के लिए कहा है। 
 
रक्षा सूत्रों ने ऐसे निर्देशों की पुष्टि करते हुए कहा है कि पिछले कुछ अरसे से सीमा पर होने वाली इक्का-दुक्का गोलीबारी की घंटनाओं में पाक रेंजरों द्वरा अपना हाथ होने से इंकार किए जाने के कारण इसको लेकर शंका पैदा हो रही है कि ऐसा उस पार प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे आतंकियों द्वारा किया जा रहा है, जिन्हें पाक सेना ही शरण दिए हुए है।
 
स्थानीय नागरिकों को भी सुरक्षाबलों की सलाह : नतीजतन सैनिकों ने भारतीय नागरिकों से भी देर-सवेर सीमा के पास फटकने से मना करते हुए कह दिया है कि संदिग्ध हालात में घूमने वाले लोगों को गोली मार दी जाएगी। वैसे कुछ हफ्ते पहले हीरानगर सेक्टर में दो बार बीएसएफ जवान संदिग्धों पर गोली चला चुके हैं। यह हलचल तारबंदी के पार देखी गई थी।
 
बताया जाता है कि पाक सेना ने अपने यहां मौजूद आतंकियों को सीमा पर तैनात भारतीय सेना पर सीधे कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं। इसी आदेश के तहत आतंकवादियों ने सीमा के नजदीक कई बार फायरिंग की है। 
 
क्या हैं आईएसआई चीफ के आदेश? : जानकारी के मुताबिक, आईएसआई के चीफ ने यूनाइटेड जेहाद काउंसिल को आदेश दिया है कि आतंकवादियों को सीमा पर ही सीधे कार्रवाई करने के लिए कहा जाए। इस रणनीति के तहत आतंकी अपने मंसूबों में कामयाब भी हुए हैं। सीधी कार्रवाई के तहत आतंकी कुछ अरसे से सीमा पर ऐसी कोशिशों को अंजाम भी दे रहे हैं।
 
इस बीच, सीमा पर सुरक्षा बढ़ाने के भी आदेश दिए गए। जम्मू फ्रंटियर का जिम्मा संभालने वाली बीएसएफ के अधिकारियों के अनुसार सीमा पर आतंकवादियों की हरकतें बढ़ी हैं। घुसपैठ की कोशिशें लगातार जारी हैं और हर समय सुरक्षा की मानिटरिंग गंभीर रूप से की जा रही है। आतंकियों की इस रणनीति का तोड़ तलाशने के लिए सुरक्षा बल गंभीर रूप से तैयारियों में जुटे हैं। हालांकि उनकी तैयारियों में सीजफायर अब बाधा पैदा कर रहा है।
Edited by: Vrijendra Singh Jhala
 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

95 साल के हुए लालकृष्ण आडवाणी, घर पहुंचे पीएम मोदी और राजनाथ सिंह