Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

करगिल में उमंग, 10 फोटों में जानिए कैसे मनी पीएम मोदी की दिवाली?

हमें फॉलो करें webdunia
सोमवार, 24 अक्टूबर 2022 (16:56 IST)
करगिल। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने करगिल में सैनिकों के साथ दिवाली का जश्न मनाया। इस दौरान उन्होंने कविता सुनाकर जवानों का हौंसला मनाया। सैनिकों ने भी गाने गाकर पीएम मोदी के साथ दिवाली मनाई। इस दौरान पीएम ने तालियां बजाकर उनकी हौसला अफजाई की। प्रधानमंत्री ने इस मौके पर अपनी पुरानी यादों को ताजा करते हुए भावुक होकर कहा कि यहां आकर उनकी 23 वर्ष पुरानी यादें ताजा हो गई हैं जब वह यहां राहत सामग्री लेकर पहुंचे थे। 10 फोटों से जानिए करगिल में कैसे मनी नरेंद्र मोदी की दिवाली...
 
webdunia
सेना की शौर्य गाथा तथा बलिदान और विजय की भूमि करगिल में वीर जवानों को संबोधित करते हुए सोमवार को कहा कि दीपावली आतंक के अंत का उत्सव है और सेना ने करगिल में आतंक का फन कुचलते हुए विजय पताका फहराया था।
 
प्रधानमंत्री बनने के बाद से जवानों के बीच दीपावली मनाने की अपनी परंपरा के तहत सोमवार को यहां पहुंचे मोदी ने दुश्मन को बेहद सख्त संदेश भी दिया। उन्होंने कहा कि भारत पर बुरी नजर डालने वालों को उनके दुस्साहस का उसी भाषा में करारा जवाब दिया जायेगा।
 
webdunia
जवानों के बीच नौवीं बार दीपावली मनाने पहुंचे प्रधानमंत्री ने सैन्यकर्मियों के साथ मुलाकात की और उन्हें दीपोत्सव की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि कई वर्षों से आप सब मेरा परिवार हैं, मेरी दीपावली की मिठास और प्रकाश आप लोगों के बीच है, मेरी उमंग आप के पास है। यही मुझे बार-बार मां भारती के वीर बेटे बेटियों के खींच लाती है।
 
webdunia
वर्ष 1999 की करगिल विजय का दीपावली के परिप्रेक्ष्य में उल्लेख करते हुए मोदी ने कहा कि दीपावली का अर्थ है आतंक के अंत के साथ उत्सव, आतंक के अंत का उत्सव और यही करगिल ने भी किया था। करगिल में हमारी सेना ने आतंक के फन को कुचला था। पाकिस्तान के साथ ऐसा कोई युद्ध नहीं हुआ है जहां करगिल ने विजय पताका नहीं फहराया हो।
 
webdunia
उन्होंने कहा कि कारगिल का कुरूक्षेत्र भारतीय सेना के साहस और शौर्य का गवाह बन चुका है। यहां दुश्मन भारतीय सेना की बहादुरी के आगे बौना बन जाता है।
 
webdunia
मोदी ने कहा कि भारत ने कभी किसी के साथ पहले युद्ध नहीं लड़ा। उन्होंने कहा कि हमने युद्ध को हमेशा अंतिम विकल्प माना है। चाहे वह लंका में हो या कुरूक्षेत्र में हो उसे अंत तक टाला है। हम युद्ध के पक्षधर नहीं है, लेकिन शांति भी बिना सामर्थ्य के संभव नहीं होती है। हमारी सेनाओं के पास सामर्थ्य भी है और रणनीति भी, अगर कोई हमारी तरफ नजर उठाकर देखेगा तो हमारी तीनों सेनाएं दुश्मन को उसी की भाषा में मुंहतोड़ जवाब देना जानती हैं।
 
webdunia
प्रधानमंत्री ने जवानों से कहा आप सीमा पर कवच बनकर खड़े हैं तो देश के भीतर भी आतंकवाद और नक्सलवाद की जड़ों को उखाड़ा जा रहा है। उन्होंने कहा कि साथ ही भ्रष्टाचार के खिलाफ भी सख्त कार्रवाई की जा रही है।
 
webdunia
उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचारी चाहे कितना ही ताकतवर हो वह बच नहीं सकता और वह बचेगा भी नहीं। उन्होंने कहा कि वर्षों तक कुशासन ने देश की प्रगति में बाधा पहुंचाई लेकिन अब राष्ट्रहित में बड़े से बड़े निर्णय तेजी से लिए जाते हैं और उन्हें तेजी से लागू किया जाता है।
 
webdunia
सेना का बदलती परिस्थितयों के अनुरूप तैयार किये जाने की जरूरत पर बल देते हुए उन्होंने कहा कि नए दौर में युद्ध का स्वरूप बदल रहा है और उसी के अनुरूप हम सेना को तैयार कर रहे हैं। हर चुनौती का तेजी से सामना करने के लिए सुधार कर एकीकरण पर बल दिया जा रहा है जिससे सेना देश की रक्षा की अपनी जिम्मेदारी को निभा सके। सेनाओं को स्वदेशी हथियारों से लैस किया जा रहा है।
 
webdunia
मोदी ने कहा कि जब भारत की ताकत बढ़ती है, तो वैश्विक शांति और समृद्धि की संभावना भी बढ़ती है। राष्ट्र की सुरक्षा के लिए ‘आत्मनिर्भर भारत’ बहुत महत्वपूर्ण है। विदेशी हथियारों और प्रणाली पर हमारी निर्भरता कम से कम होनी चाहिए। सशस्त्र बलों में दशकों से सुधार की जरूरत थी, जिन्हें अब लागू किया जा रहा है। सशस्त्र बलों में महिलाओं को शामिल करने से हमारी ताकत बढ़ेगी।
 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

केजरीवाल का दावा, एशिया के 10 में से 8 सबसे प्रदूषित शहरों भारत के, दिल्ली शामिल नहीं