पीएम मोदी ने पाकिस्तान को दी चेतावनी, हम किसी को छेड़ते नहीं, छेड़ा तो छोड़ते नहीं...

सोमवार, 28 जनवरी 2019 (15:21 IST)
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को पाकिस्तान का नाम लिए बिना उसे कड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि भारत ने सुरक्षा क्षेत्र में अपने सामर्थ्य का विस्तार किया है और राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए वह कोई भी कदम उठाने से पीछे नहीं हटेगा।
 
मोदी ने यहां दिल्ली छावनी स्थित करियप्पा परेड ग्राउंड में राष्ट्रीय कैडेट कोर के गणतंत्र दिवस शिविर के समापन समारोह में कैडेटों को संबोधित करते हुए कहा कि देश ने अर्थव्यवस्था और सुरक्षा क्षेत्र में अपने सामर्थ्य का विस्तार किया है। 
 
सेना द्वारा सीमा पार की गई सर्जिकल स्ट्राइक का परोक्ष रूप से उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि भारतीय सेना ने दुश्मन को कड़ा संदेश देते हुए स्पष्ट कर दिया है कि हम किसी को छेड़ते नहीं हैं, पर छेड़ा तो फिर छोड़ते नहीं है। उन्होंने कहा कि राष्ट्र की सुरक्षा के लिए जरूरी होने पर और भी कड़ा फैसला किया जाएगा।
  
उन्होंने कहा कि भारत शांति का प्रबल समर्थक है, लेकिन राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ कोई समझौता नहीं किया जाएगा और इसके लिए हम कोई भी कदम उठाने से चुकेंगे नहीं। सरकार राष्ट्रीय सुरक्षा के मामले में कड़े फैसले लेती रहेगी।
 
प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत दुनिया के उन चुनिंदा देशों में शामिल हो गया है जो जल, थल और नभ तीनों जगह से परमाणु हमले और आत्मरक्षा की क्षमता रखता है। राफेल लड़ाकू विमान के सौदे को लेकर विपक्ष द्वारा उठाए जा रहे सवालों के संदर्भ में उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने दशकों से लटके पड़े लड़ाकू विमानों के सौदे को जमीन पर उतारा है। उन्होंने कहा कि अब देश में ही हेलिकॉप्टर, टैंक, मिसाइल और गोला-बारूद बनाया जा रहा है। 
 
मोदी ने कहा कि उनकी सरकार में भ्रष्टाचार को बिलकुल बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और कोई कितना भी ताकतवर हो यदि वह भ्रष्टाचार करता है तो बच नहीं पाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार फाइलों और फैसलों की बोली लगाने वालों की सफाई करने में ईमानदारी से जुटी है। 
 
उन्होंने युवाओं का आह्वान किया कि वे बड़े सपने देखें और आकांक्षाओं को उडान दें। सरकार कंधे से कंधा मिलाकर उनके सपनों को उडान देने और पूरा करने के लिए उनके साथ खड़ी है। सरकार हर तरह की असमानता को दूर कर कुशल, परिश्रमी और आत्मविश्वासी युवाओं की सफलता के लिए सभी कदम उठा रही है। 
 
उन्होंने कहा कि सरकार ‘वीआईपी’ संस्कृति समाप्त कर ‘ईपीआई’ ‘एवरी पर्सन इज इंर्पोटेंट’ यानी हर व्यक्ति महत्वपूर्ण है कि संस्कृति पर काम कर रही है।
 
प्रधानमंत्री ने कहा कि नारी शक्ति को हर स्तर पर बढ़ावा दिया जा रहा है और उन्हें आगे बढ़ने के लिए अच्छा माहौल दिया जा रहा है। देश की बेटियां लड़ाकू विमान उड़ा रही हैं और अब उन्हें सेना में भी मजबूती देने के लिए सेना पुलिस में उनकी भागीदारी 20 फीसदी की जा रही है। इस बार गणतंत्र दिवस परेड में पुरुषों के दस्ते का नेतृत्व देश की एक बेटी ने ही किया, यह गौरव का विषय है। 
 
मोदी ने कहा कि पिछले साढ़े चार सालों में उनकी सरकार ने देश की विरासत को संजोने के लिए कई महान हस्तियों के स्मारक दिल्ली में बनाए हैं। युवा कैडेटों को इन स्मारकों पर जाना चाहिए जिससे उन्हें इनके बारे में जानकारी मिलेगी।
 
उन्होंने कहा कि देश में लंबे समय से राष्ट्रीय युद्ध स्मारक का इंतजार हो रहा था। उनकी सरकार ने इसे पूरा किया है और अगले महीने इसका उद्घाटन किया जाएगा। यह स्मारक आजादी के बाद देश के लिए शहीद होने वाले सैनिकों के लिए बड़ी श्रद्धांजलि होगी। राष्ट्रीय पुलिस स्मारक का भी हाल ही में उद्घाटन किया गया था।
 
उन्होंने युवा कैडेटों के उत्साह और जोश की सराहना करते हुए कहा कि उन्होंने अपने अनुशासन और समर्पण से सरकार की कई महत्वाकांक्षी योजनाओं को सफल बनाने मे योगदान दिया है। (वार्ता)

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख दुश्मनों के रोंगटे खड़े कर देगा जांबाजों का ऐसा अभ्यास, 11000 फुट की ऊंचाई पर बर्फीले मौसम में मार्शल आर्ट