Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Modi In Ayodhya: दीपोत्सव कार्यक्रम में बोले PM मोदी- भगवान राम जैसी संकल्प शक्ति देश को नई ऊंचाई पर ले जाएगी

हमें फॉलो करें webdunia
रविवार, 23 अक्टूबर 2022 (16:52 IST)
अयोध्‍या (उत्‍तर प्रदेश)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अयोध्या पहुंचे। एयरपोर्ट पर उनका स्वागत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने किया। प्रधानमंत्री मोदी ने रामलला के दर्शन और पूजन किया। प्रधानमंत्री सरयू नदी के घाट पर आरती के साथ भव्य दीपोत्सव में भी शामिल होंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को यहां राम जन्मभूमि पर रामलला की पूजा-अर्चना की। राम मंदिर के निर्माण के लिए 5 अगस्त, 2020 को 'भूमि पूजन' के बाद यह पहला मौका है जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या आए हैं।दीपोत्सव समारोह के लिए अयोध्या पहुंचने के तुरंत बाद प्रधानमंत्री राम मंदिर गए और रामलला की पूजा की।

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या में प्रधानमंत्री का स्वागत किया। मोदी ने राम मंदिर में दीपक जलाया और भगवान राम दरबार की प्रतिमाओं के सामने फूल की पंखुड़ियां अर्पित कीं और आरती की।
webdunia
क्या बोले प्रधानमंत्री :  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दीपोत्सव कार्यक्रम में कहा कि भगवान राम जैसी संकल्प शक्ति देश को नई ऊंचाई पर ले जाएगी।
 
हमारे संविधान की मूल प्रति पर भगवान राम, मां सीता और लक्ष्मण जी का चित्र अंकित है। संविधान का वह पृष्ठ भी मौलिक अधिकारों की बात करता है। यानी हमारे संवैधानिक अधिकारों की एक और गारंटी। साथ ही प्रभु राम के रूप में कर्तव्यों का शाश्वत, सांस्कृतिक बोध भी। इसलिए हम जितना कर्तव्यों के संकल्प को मजबूत करेंगे राम जैसे राज्य की संकल्पना उतनी ही साकार होती जाएगी।
 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि पंच प्राणों की ऊर्जा जिस एक तत्व से जुड़ी हुई है वह है भारत के नागरिकों का कर्तव्य और आज अयोध्या नगरी में दीपोत्सव के इस पावन अवसर पर हमें अपने इस संकल्प को दोहराना है। 
 
अगले 25 वर्षों में विकसित भारत की आकांक्षा लिए आगे बढ़ रहे हिन्दुस्तानियों के लिए श्रीराम के आदर्श उस प्रकाश स्तंभ की तरह हैं जो हमें कठिन से कठिन लक्ष्यों को हासिल करने का हौसला देंगे। 
 
भगवान राम ने अपने वचन, अपने विचारों और अपने शासन में जिन मूल्यों को गढ़ा है वह 'सबका साथ, सबका विकास' की प्रेरणा है और 'सबका विश्वास, सबका प्रयास' का आधार भी है। आजादी के इस अमृत काल में भगवान राम जैसी संकल्प शक्ति देश को नई ऊंचाई पर ले जाएगी। अयोध्या के कण-कण में श्री राम का दर्शन समाहित है। आज अयोध्या की रामलीलाओं, सरयू आरती, दीपोत्सव और रामायण पर शोध और अनुसंधान के माध्यम से यह दर्शन पूरे विश्व में प्रसारित हो रहा है।

राम मंदिर का लिया जायजा : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम की नगरी में श्रीरामजन्मभूमि पर विराजमान रामलला के दर्शन-पूजन कर राममंदिर निर्माण का जायजा लिया। इस अवसर पर श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अधिकारी नृपेंद्र मिश्रा और चंपत राय भी मौजूद थे।

प्रधान पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने प्रधानमंत्री के माथे पर तिलक लगाया। मोदी ने मंदिर के निर्माण कार्य का भी निरीक्षण किया और प्रगति की जानकारी ली।
Edited by : Chetan Gour

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

गुजरात चुनाव : आज तक 9 फीसदी महिलाएं भी नहीं पहुंच सकीं विधानसभा