Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

आजादी के 75वें जश्न में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पहना तिरंगा साफा

हमें फॉलो करें webdunia
सोमवार, 15 अगस्त 2022 (08:50 IST)
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को 76वें स्वतंत्रता दिवस पर तिरंगे की धारियों वाला सफेद रंग का साफा पहना।
 
पारंपरिक कुर्ता और चूड़ीदार पायजामे के ऊपर नीले रंग का जैकेट तथा काले रंग के जूते पहने, प्रधानमंत्री ने लाल किले की प्राचीर से राष्ट्रीय ध्वज फहराया और लगातार नौवीं बार देश को संबोधित किया।
इसी के साथ ही मोदी ने स्वाधीनता दिवस और गणतंत्र दिवस समारोहों में आकर्षक, चटकीले और रंग-बिरंगे साफे पहनने का सिलसिला जारी रखा। प्रधानमंत्री का साफा पीछे की ओर लंबा था तथा उस पर भी तिरंगे की धारियां बनी हुई थी। पिछली बार मोदी ने स्वतंत्रता दिवस पर धारीदार केसरिया साफा पहना था।
 
74वें स्वतंत्रता दिवस पर ऐतिहासिक लाल किले पर आयोजित समारोह में मोदी ने केसरिया और क्रीम रंग का साफा पहना था। प्रधानमंत्री ने इसके साथ आधी बाजू वाला कुर्ता और चूड़ीदार पायजामा पहना था। उन्होंने केसरिया किनारी वाला सफेद गमछा भी डाल रखा था, जिसे उन्होंने कोविड-19 से बचाव के उपायों के तहत इस्तेमाल किया।
 
वर्ष 2019 में लगातार दूसरी बार सत्ता में आने के बाद लाल किले से अपने पहले संबोधन में प्रधानमंत्री ने कई रंगों से बना साफा पहना था। यह लाल किले से उनका लगातार छठा संबोधन था।
 
पहली बार देश की कमान संभालने के बाद जब ऐतिहासिक लाल किले से प्रधानमंत्री ने पहली बार देश को 2014 में संबोधित किया था तब उन्होंने गहरे लाल और हरे रंग का जोधपुरी बंधेज साफा पहना था।
 
प्रधानमंत्री मोदी ने 2015 में पीले रंग का साफा पहना था, जिस पर बहुरंगी धारियां थीं, जबकि 2016 में उन्होंने गुलाबी और पीले रंग का लहरिया ‘टाई एंड डाई’ साफा चुना था। उन्होंने 2017 में सुनहरी धारियों वाला चटकीले लाल रंग का साफा पहना था।
 
उन्होंने 2018 में केसरिया साफा पहना था। गणतंत्र दिवस समारोहों में भी कच्छ के लाल बांधनी साफे से लेकर पीले राजस्थानी साफे तक, मोदी के साफे लोगों का ध्यान आकर्षित करते रहे हैं।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

PM मोदी ने 9वीं बार लालकिले पर फहराया तिरंगा, कहा- ये गांधी, बोस, आंबेडकर को याद करने का वक्त ( Live Update)