प्रियंका पर रहीं सबकी निगाहें...लखनऊ में पहले रोड शो में बताया मां दुर्गा का रूप

सोमवार, 11 फ़रवरी 2019 (23:30 IST)
नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्वी उत्तरप्रदेश मामलों की प्रभारी महासचिव नियुक्त किए जाने के बाद उत्तरप्रदेश के पहले दौरे पर गईं प्रियंका गांधी पर सोमवार को कई लोगों की नजरें रहीं। आम लोगों, राजनीतिक विश्लेषकों, प्रियंका के पति रॉबर्ट वाड्रा और लखनऊ में उनके पहले रोड शो में शामिल हुए कांग्रेस के हजारों कार्यकर्ताओं की नजरें उन पर टिकी रहीं। इतना ही नहीं, केंद्र एवं उत्तरप्रदेश में सत्ताधारी भाजपा भी प्रियंका के हर एक कदम पर नजरें गड़ाए हुए है।
 
बहरहाल, प्रियंका के लिए राजनीति एवं परिवार और सार्वजनिक एवं निजी जीवन की सीमा रेखाएं उस वक्त धुंधली पड़ती दिखीं, जब भाजपा के एक सांसद ने उनके कपड़ों को लेकर महिला विरोधी टिप्पणी कर दी।

उत्तरप्रदेश के बस्ती से भाजपा सांसद हरीश द्विवेदी ने अपने संसदीय क्षेत्र में पत्रकारों से कहा कि प्रियंका जब दिल्ली में रहती हैं तो जींस और टॉप पहनती हैं और जैसे ही वह क्षेत्र में जनता के बीच जाती हैं तो वह साड़ी और सिंदूर लगाकर आती हैं।
 
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एम. वीरप्पा मोइली और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने महिला विरोधी टिप्पणी के लिए भाजपा सांसद की आलोचना की। प्रियंका के लखनऊ के कार्यक्रम में एक बात गौर करने लायक रही कि कांग्रेस महासचिव के तौर पर पहला रोड शो करने के बाद भी उन्होंने कोई भाषण नहीं दिया और न ही सार्वजनिक तौर पर कोई टिप्पणी की।
प्रियंका ने सोमवार को माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर दस्तक दी और लॉग इन करने के कुछ ही घंटों के भीतर उनके 95 हजार से अधिक फॉलोवर हो गए। द्विवेदी की महिला विरोधी टिप्पणी संभवत: उसी बदले की भावना वाले और जहरीले राजनीतिक माहौल की तरफ इशारा कर रही थी जिसके खिलाफ प्रियंका के पति वाड्रा ने उन्हें आगाह किया।
 
सोमवार को एक फेसबुक पोस्ट में वाड्रा ने प्रियंका को शुभकामनाएं देते हुए लिखा कि भारत के लोगों की सेवा और उत्तरप्रदेश में आपके काम के नए सफर पर आपको मेरी शुभकामनाएं पी. (प्रियंका)। आप मेरी सबसे अच्छी दोस्त, परफेक्ट पत्नी और अपने बच्चों के लिए बेहतरीन मां रही हैं।
 
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल के बहनोई वाड्रा ने कहा कि बदले की भावना वाला और जहरीला राजनीतिक माहौल है लेकिन मैं जानता हूं कि लोगों की सेवा करना उनका कर्तव्य है और अब हम उन्हें भारत के लोगों को सौंपते हैं। कृपया उन्हें सुरक्षित रखें। विदेश में संपत्तियां खरीदने और राजस्थान के बीकानेर में जमीन आवंटन से जुड़े मामलों में वाड्रा के खिलाफ जांच चल रही है। पिछले हफ्ते वह पूछताछ के सिलसिले में 3 बार ईडी के समक्ष पेश हुए। मंगलवार को भी वह जयपुर में ईडी के सामने पेश हो सकते हैं।
 
साल 1997 में वाड्रा से शादी करने वाली प्रियंका ने बीते बुधवार को अपने पति का पुरजोर समर्थन करते हुए कहा था कि वह मेरे पति हैं, वह मेरा परिवार हैं, मैं अपने परिवार का समर्थन करती हूं। प्रियंका बुधवार को अपने पति को ईडी के दफ्तर तक छोड़ने आई थीं।
सोमवार को लखनऊ में प्रियंका की एक झलक पाने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। कई बुजुर्गों ने कहा कि प्रियंका में अपनी दादी इंदिरा गांधी की छवि नजर आती है। प्रियंका ने अपनी मां सोनिया गांधी और भाई राहुल गांधी के साथ राज्य में पहले भी चुनाव प्रचार किए हैं, लेकिन इस बार कांग्रेस महासचिव के तौर पर रोड शो करने के बावजूद उन्होंने सार्वजनिक तौर पर कुछ नहीं बोला।
 
जब प्रियंका का रथ आगे बढ़ रहा था, उत्साही लोग और पार्टी कार्यकर्ता उनकी एक अदद तस्वीर लेने के लिए बेसब्र दिखे। प्रियंका के रथ पर रास्ते में खड़े सैकड़ों कार्यकर्ता गुलाब और गेंदे के फूलों की वर्षा करते दिखे। कुछ पोस्टरों में प्रियंका को शेर पर सवार दुर्गा माता के अवतार में दिखाया गया।
 
होर्डिंगों और बैनरों पर लिखा नजर आया कि मां दुर्गा का रूप बहन प्रियंकाजी का लखनऊ आगमन पर हार्दिक स्वागत एवं अभिनंदन है। इसके आगे की लाइन है, दहन करो झूठे मक्कारों की लंका, बहन प्रियंका, बहन प्रियंका। कांग्रेस के कुछ कार्यकर्ताओं ने प्रियंका सेना भी बना ली। उन्हें गुलाबी रंग की टी-शर्ट पहने देखा गया जिस पर प्रियंका की तस्वीर थी।
 
इससे पहले भाजपा सांसद द्विवेदी की टिप्पणी की निंदा करते हुए मोइली ने ट्वीट किया कि लिंगभेदी और अनुचित टिप्पणियां पुरुषवादी और महिला विरोधी मानसिकता दर्शाती हैं। महबूबा ने कहा कि कोई महिला क्या पहनना पसंद करती है, इससे किसी और को कोई मतलब नहीं होना चाहिए। जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा ने कहा कि दुखद है कि आज की आधुनिक दुनिया में भी पितृसत्ता और लिंगभेद हमेशा अपना बदसूरत सिर उठा लेते हैं और इसे आम बना दिया गया है। (भाषा)

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख इस्लामी क्रांति के 40 साल पूरे होने पर उमड़े लोग, अमेरिका पर बरसा ईरान