Pulwama attack : गृहमंत्री ने NSA-RAW और IB के साथ मिलकर बनाया आतंकियों के खात्मे का प्लान

शनिवार, 16 फ़रवरी 2019 (20:27 IST)
नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में गुरुवार को सेंट्रल रिजर्व पुलिस फोर्स (CRPF) के काफिले पर हुए आतंकी हमले में 42 जवानों के शहीद होने के बाद देशभर में गुस्सा है। देश की जनता सड़कों पर निकलकर सरकार से मांग कर रही है कि जवानों की शहादत का बदला लिया जाए। मोदी सरकार इसके लिए एक्शन मोड में आ गई है। शनिवार को सर्वदलीय बैठक के बाद गृहमंत्री राजनाथ सिंह के घर पर एक महत्वपूर्ण बैठक हुई। सूत्रों के अनुसार इस बैठक में NSA-RAW और IB के प्रमुख मौजूद थे।

सूत्रों के अनुसार इस बैठक में पुलवामा हमले का बदला लेने और पाकिस्तान के खिलाफ सख्त कदम उठाए जाने को लेकर प्लान तैयार किया गया।
 
गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा स्थिति की समीक्षा के लिए शनिवार को उनके घर पर एक उच्च स्तरीय बैठक की। सूत्रों के अनुसार इस बैठक में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, गृह सचिव राजीव गौबा, रॉ प्रमुख अनिल धस्माना, खुफिया ब्यूरो के अतिरिक्त निदेशक अरविंद कुमार मौजूद थे।
 
उन्होंने गृहमंत्री को केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के काफिले पर 14 फरवरी को पुलवामा में हुए हमले के बाद की राज्य की सुरक्षा स्थिति के बारे में जानकारी दी। उन्होंने सिंह को इस हमले की जांच में हुई प्रगति के बारे में भी बताया।
 
खुफिया अधिकारियों ने सिंह को आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद की नई रणनीति से अवगत कराया जिसके तहत वह स्थानीय तथा नए युवाओं की भर्ती कर रहा है जिनका कोई पूर्व रिकॉर्ड नहीं है। उन्हें यह भी बताया गया कि राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने विस्फोट स्थल से पर्याप्त फॉरेंसिक साक्ष्य एकत्र किए हैं। इन साक्ष्यों से भी पता चलता है कि हमले में जैश-ए-मोहम्मद का हाथ हो सकता है।
 
आतंक के खिलाफ लड़ाई में सरकार को मिला विपक्ष का साथ : सरकार ने दिल्ली में हमले की कार्रवाई पर एकराय बनाने के लिए सर्वदलीय बैठक बुलाई। इसमें सभी नेताओं ने शहीदों को श्रद्धांजलि दी और आतंकवाद पर सख्त कार्रवाई करने का प्रस्ताव पास हुआ। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी कहा कि आंतकवाद की लड़ाई में विपक्ष सरकार के साथ है। सरकार जो भी कदम उठाएगी, विपक्ष उसका पूरा समर्थन करेगा।
ALSO READ: पुलवामा CRPF हमला: भावनाओं के उन्माद में सेना में मेजर रहे डीपी सिंह की खरी-खरी
करीब ढाई घंटे चली बैठक में पारित प्रस्ताव में कहा गया कि भारत ने इन चुनौतियों से निपटने के लिए दृढ़ता दिखाई है। इन चुनौतियों से लड़ने में पूरा देश दृढ़ संकल्प व्यक्त करने को एक स्वर है। आज हम भारत की एकता और अखंडता की रक्षा करते हुए आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में अपने सुरक्षा बलों के साथ एकजुट होकर खड़े हैं।
ALSO READ: भारत का सिर्फ एक कदम और तबाह हो जाएगा पाकिस्तान, युद्ध की भी जरूरत नहीं...
लोकसभा चुनाव से पहले हो पाकिस्तान में भी शोकसभा : गुजरात के वरिष्ठ मंत्री गणपतसिंह वसावा ने कहा कि पुलवामा हमले के लिए पाकिस्तान के खिलाफ एक जवाबी कार्रवाई जरूरी है, चाहे इसकी कीमत आगामी लोकसभा चुनाव में विलंब के रूप में चुकानी पड़े। गुजरात के वन, आदिवासी विकास एवं पर्यटन मंत्री वसावा ने सूरत में एक जनसभा में जैसे को तैसा जवाब की पैरवी की। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव से पहले पाकिस्तान में भी एक शोकसभा होनी चाहिए।

पाकिस्तान को घर में घुसकर देंगे जवाब : झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने पुलवामा की आतंकवादी घटना में शहीद हुए झारखंड के जवान विजय को एक बार फिर श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि ऐसी कायराना हरकत के लिए पाकिस्तान को उसके घर में घुसकर जवाब दिया जाएगा।
 
मुख्यमंत्री रघुवर दास ने शनिवार को यहां मोरहाबादी में एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि झारखंड की वीर भूमि से हमारा लाल विजय सोरेंग भी श्रीनगर में हुए आतंकी हमले में शहीद हुआ है। मैं विजय सोरेंग सहित सभी शहीद जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं। उनकी शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी। पूरा झारखंड, पूरा देश उनके साथ खड़ा है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख पुलवामा हमला मामले में आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाला युवक गिरफ्तार