Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

मुश्किल में सचिन वाजे, NIA ने जब्त की मर्सिडीज, कार में नकद मिले 5 लाख

webdunia
बुधवार, 17 मार्च 2021 (09:54 IST)
मुंबई। उद्योगपति मुंकेश अंबानी के आवास के पास से विस्फोटक लदे वाहन (एसयूवी) की बरामदगी मामले की जांच कर रही एनआईए मर्सिडीज कार जब्त की है। कार से पांच लाख रुपए भी बरामद किए गए हैं। NIA ने दावा किया कि इस मर्सिडीज कार को सचिन वाजे इस्तेमाल करता था।
एनआईए की टीम ने वाजे के दफ्तर की तलाशी के दौरान वहां से कुछ ‘आपत्तिजनक दस्तावेज’ और इलेक्ट्रॉनिक साक्ष्य जैसे लैपटॉप, आई-पैड और मोबाइल फोन बरामद किए हैं।
 
एनआईए के महानिरीक्षक अनिल शुक्ला ने कहा कि सीएसएमटी स्टेशन के पास पार्किंग से एक काली मर्सिडीज कार जब्त की गई है, जिसका उपयोग वाजे करते थे। कार से 5 लाख रुपए नकद, नोट गिनने की एक मशीन, दो नंबर प्लेट और कुछ कपड़े बरामद किए गए हैं।
 
अधिकारी ने बताया कि एनआईए ने अभी तक सहायक पुलिस आयुक्त सहित अपराध शाखा के 7 अधिकारियों के बयान दर्ज किए हैं।
 
मीडिया खबरों के अनुसार, मुंबई क्राइम ब्रांच ऑफिस के पास से जब्त हुई यह कार धुलै के सारांश भावसार के पास थी। उनका दावा ही कि वे यह कार पहले ही बेच चुके हैं। उन्होंने यह भी दावा किया कि वे सचिन वाजे को नहीं जानते।
 
सीएम से मिले कांग्रेस और राकांपा नेता : मुकेश अंबानी के घर के बाहर विस्फोटकों से लदा वाहन मिलने के मामले में सहायक पुलिस निरीक्षक सचिन वाजे की गिरफ्तारी की पृष्ठभूमि में कांग्रेस और राकांपा के नेताओं ने मंगलवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से मुलाकात की।
 
कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि यदि इस बात के पुख्ता सबूत हैं कि वाजे की गतिविधियों से पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों का कोई संबंध है तो उन्हें हटाया जाना चाहिए। पुलिस विभाग को कड़ा संदेश देने की जरूरत है।
 
उल्लेखनीय है कि विपक्षी भाजपा ने आरोप लगाया था कि वाजे शिवसेना का सदस्य है, हालांकि ठाकरे ने कहा था कि वह 2008 में पार्टी का सदस्य था लेकिन उसकी सदस्यता का नवीनीकरण नहीं किया गया और अब पार्टी का उससे कोई लेना-देना नहीं है।
 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

CoronaVirus Live Updates : एक्शन में पीएम मोदी, आज मुख्‍यमंत्रियों के साथ करेंगे बैठक, उठाए जा सकते हैं सख्त कदम