Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

सचिन वाजे मामले में एक और खुलासा, PPE किट नहीं बड़ा कुर्ता-पायजामा पहना था

webdunia
बुधवार, 17 मार्च 2021 (12:50 IST)
मुंबई। देश के प्रसिद्ध उद्योगपति मुकेश अंबानी के आवास 'एंटीलिया' के बाहर मिली विस्फोटकों वाली संदिग्ध कार और मुंबई क्राइम ब्रांच के पुलिस इंस्पेक्टर सचिन वाजे (अब निलंबित) के मामले में नित नए खुलासे हो रहे हैं। ताजा मामले में खुलासा हुआ है कि सीसीटीवी टीवी फुटेज में जिस व्यक्ति के पीपीई किट पहने दिखाई देने की बात सामने आ रही है, वह दरअसल लंबा कुर्ता और पायजामा है। 
बताया जा रहा है कि राष्ट्रीय एजेंसी (एनआईए) इस पूरे मामले को सुलझाने के लगभग करीब है। एनआईए के मुताबिक सीसीटीवी फुटेज में जो व्यक्ति दिखाई दे रहा है, वह सचिन वाजे ही हैं। उस व्यक्ति ने पीपीई किट नहीं बल्कि बड़ी साइज का कुर्ता और पायजामा पहन रखा है। साथ ही लंबे रूमाल से सिर को बांध रखे हैं। 
 
लैपटॉप का पूरा डाटा डिलीट : इस बीच, एनआईए ने लगातार छापेमारी के बाद सचिन वाजे का लैपटॉप भी जब्त किया। हालांकि लैपटॉप का सारा डाटा डिलीज कर दिया गया है। इसके साथ ही एजेंसी ने मंगलवार को सचिन वाझे के दफ्तर की तलाशी ली, जहां से कुछ आपत्तिजनक दस्तावेज और लैपटॉप, आई-पैड और मोबाइल फोन आदि बरामद किए गए हैं। 
 
एजेंसी के मुताबिक जब सचिन वाजे से उनका मोबाइल मांगा तो उन्होंने बताया कि वह कहीं रखने में आ गया है, जबकि असलियत में उसे जानबूझकर कहीं फेंक दिया गया है। वाजे के यहां तलाशी का काम सोमवार शाम करीब 8 बजे शुरू हुआ और मंगलवार सुबह 4 बजे तक चला। उल्लेखनीय है कि मुंबई की क्राइम ब्रांच से संबद्ध वाजे को 13 मार्च को गिरफ्तार किया गया था।
 
पुलिस कमिश्नर ठाकरे से मिले : इस बीच, मुम्बई पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से मुलाकात की है। सिंह ने ऐसे समय में मुख्यमंत्री से मुलाकात की है, जब उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के पास विस्फोटकों से भरी कार बरामद होने के मामले में पुलिस के अधिकारी सचिन वाजे की गिरफ्तारी का मामला राज्य में सुर्खियों में है। सूत्रों ने बताया कि सिंह ने ठाकरे के आवास पर मंगलवार रात उनसे मुलाकात की।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

डिजिटल लेनदेन और एटीएम से धन निकासी में उपभोक्ताओं से धोखाधड़ी का मामला उठा राज्यसभा में