जियो प्लेटफॉर्म्स में सिल्वर लेक करेगी 4,546.80 करोड़ का अतिरिक्त निवेश

शुक्रवार, 5 जून 2020 (23:40 IST)
• पहले भी सिल्वर लेक 5,655. 75 करोड़ का निवेश कर चुकी है
• छठे हफ्तें में सातवां इंवेस्टमेंट मिला जियो प्लेटफॉर्म्स को
• कुल 92,202.15 करोड़ रुपए का इंवेस्टमेंट हुआ
 
नई दिल्ली। अमेरीका की सिल्वर लेक और सहयोगी पार्टनर्स ने मिलकर 0.93% इक्विटी के लिए जियो प्लेटफॉर्म्स में 4,546.80 करोड़ रुपए के अतिरिक्त निवेश की घोषणा की है। यह सिल्वर लेक का जियो प्लेटफॉर्म्स में दूसरा इंवेस्टमेंट है।

इससे पहले भी सिल्वर लेक पार्टनर्स ने 4 मई को जियो प्लेटफॉर्म्स में 1.15% इक्विटी के लिए 5,655.75 करोड़ का इंवेस्टमेंट किया था। सिल्वर लेक का कुल इंवेस्टमेंट अब बढ़कर 10,202.55 करोड़ रुपए हो गया है। साथ ही उसकी जियो प्लेटफॉर्म्स में इक्विटी भी बढ़कर 2.08% हो गई है।
 
सिल्वर लेक ने इस इंवेस्टमेंट में पिछली बार की तरह जियो प्लेटफॉर्म्स की इक्विटी वैल्यू 4.91 लाख करोड़ रुपए आंकी है। अब तक जियो प्लेटफॉर्म्स में 19.90% इक्विटी के लिए कुल 92,202.15 करोड़ रुपए का निवेश हो चुका है।
जियो प्लेटफॉर्म्स, रिलायंस इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड की 'फ़ुली ओन्ड सब्सिडियरी' है। ये एक 'नेक्स्ट जनरेशन' टेक्नोलॉजी कंपनी है, जो भारत को एक डिजिटल सोसायटी बनाने के काम में मदद कर रही है। इसके लिए जियो के प्रमुख डिजिटल एप, डिजिटल ईकोसिस्टम और भारत के नंबर #1 हाइ-स्पीड कनेक्टिविटी प्लेटफ़ॉर्म को एक-साथ लाने का काम कर रही है। रिलायंस जियो इंफ़ोकॉम लिमिटेड, जिसके 38 करोड़ 80 लाख ग्राहक हैं, वो जियो प्लेटफ़ॉर्म्स लिमिटेड की 'होल्ली ओन्ड सब्सिडियरी' बनी रहेगी।
 
सिल्वर लेक 40 बिलियन डॉलर से अधिक की एसेस्टस दुनिया भर में मैनेज करती है। इसने Airbnb, Alibaba, Ant Financial, Alphabet’s Verily and Waymo units, Dell Technologies, Twitter जैसी अनेकों विशाल कंपनियों में निवेश किया हुआ है।
सिल्वर लेक द्वारा किए गए समग्र निवेश पर टिप्पणी करते हुए, रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक, मुकेश अंबानी ने कहा, 'सिल्वर लेक और इसके सह-निवेशक मूल्यवान साझेदार हैं। मैं इस बात पर जोर देना चाहूंगा कि कोविड-19 महामारी के दौरान पांच सप्ताह के भीतर Jio प्लेटफार्मों में सिल्वर लेक का अतिरिक्त निवेश, भारतीय अर्थव्यवस्था में उनके विश्वास का प्रतीक है।'
निवेश पर टिप्पणी करते हुए, सिल्वर लेक के सह-सीईओ और प्रबंध साझेदार, एगॉन डरबन ने कहा, 'हम अपने एक्सपोज़र को बढ़ाने और अपने सह-निवेशकों को भी अपने साथ लाने पर उत्साहित हैं। उपभोक्ता और छोटे व्यवसायों के लिए उच्च-गुणवत्ता और सस्ती डिजिटल सेवाएं प्रदान करने के जियो के मिशन का हम समर्थन करते हैं। जियो में और अधिक निवेश जियो के बिजनेस मॉडल की मान्यता है। साथ ही हम मुकेश अंबानी और उनकी टीम की प्रशंसा करते हैं जिनके साहसिक विजन से जियो दुनिया की सबसे उल्लेखनीय प्रोद्योगिकी कंपनी बन पाई।'
 
जियो एक ऐसे 'डिजिटल भारत' का निर्माण करना चाहता है जिसका फ़ायदा 130 करोड़ भारतीयों और व्यवसायों को मिले। एक ऐसा “डिजिटल भारत” जिससे ख़ास तौर पर देश के छोटे व्यापारियों, माइक्रो व्यावसायिओं और किसानों के हाथ मज़बूत हों। जियो ने भारत में डिजिटल क्रांति लाने और भारत को दुनिया की सबसे बड़ी डिजिटल ताकतों के बीच अहम स्थान दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख Weather Prediction : मानसून का आगे बढ़ना जारी, अगले 5 दिन नहीं चलेगी लू