सिंधिया को लेकर सस्पेंस बढ़ा, पीसीसी चीफ को लेकर जबरदस्त घमासान

विकास सिंह

शुक्रवार, 30 अगस्त 2019 (15:00 IST)
भोपाल। मध्य प्रदेश में नए पीसीसी चीफ को लेकर घमासान अपने चरम पर पहुंच गया है। भोपाल से दिल्ली तक कांग्रेस के नए प्रदेश अध्यक्ष के नाम को लेकर अटकलें तेज हो गई है। इस बीच सूबे में कांग्रेस के दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया को लेकर पार्टी में सस्पेंस बढ़ गया है। एक ओर सिंधिया समर्थक अपने महाराज को अध्यक्ष बनाने की मांग को लेकर पूरी तरह मैदान में कूद चुके हैं तो दूसरी ओर सिंधिया ने पूरी तरह  चुप्पी साध ली है।
 
ALSO READ: 'महाराज' को कमान नहीं मिलने पर भड़कीं मंत्री, सिंधिया ने साधी चुप्पी
सिंधिया ने दिया अल्टीमेटम- मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक ज्योतिरादित्य सिंधिया अब खुलकर प्रदेश अध्यक्ष की दावेदारी में आकर पार्टी अलाकमान को अल्टीमेटम भी दे दिया है। इस बीच कांग्रेस के दिग्गज नेता और मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने भी सिंधिया को प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने की मांग कर दी है। उनका कहना हैं कि अगर सिंधिया को प्रदेश अध्यक्ष बनाया जाएगा तो इससे पार्टी मजबूत होगी। वहीं सिंधिया के घोर समर्थक माने जाने वाले कमलनाथ सरकार के मंत्री प्रद्युम्मन सिंह तोमर, गोविंद सिंह राजपूत और इमरती देवी ने महाराज सिंधिया को प्रदेश अध्यक्ष बनने की मांग आलाकमान से फिर की है।
 
ALSO READ: धारा 370 पर अकेले पड़ गए राहुल गांधी, सिंधिया भी आए मोदी सरकार के समर्थन में
समर्थकों ने दी इस्तीफे की धमकी- सिंधिया को प्रदेश अध्यक्ष नहीं बनाए जाने पर सिंधिया समर्थकों ने अपने इस्तीफे की धमकी भी दे दी है। भोपाल जिला कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष कृष्णा घाडगे की इस्तीफा देने की धमकी के बाद अब दतिया जिला कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष अशोक दांगी बगदा ने बकायदा प्रेस रिलीज जारी कर एलान कर दिया है कि अगर सिंधिया को मध्य प्रदेश की राजनीति से दूर किया गया वह पांच सौ लोगों के साथ कांग्रेस से इस्तीफा दे देंगे। इसके पहले कई अन्य सिंधिया समर्थक भी दबाव बनाते हुए इस्तीफा देने की धमकी दे चुके है।
  
भाजपा में जाने की अटकलें तेज – एक ओर सिंधिया को प्रदेश अध्यक्ष बनाने के लिए उनके समर्थक दबाव बना रहे है तो दूसरी ओर सिंधिया के भाजपा में जाने की अटकलें भी तेज हो गई है। सिंधिया के भाजपा के बड़े नेताओं से संपर्क में होने की खबरें पिछले कई दिनों से सोशल मीडिया पर चल रही है। जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाए जाने के मोदी सरकार के फैसले का समर्थन करने के बाद शुरु हुआ अफवाहों और अटकलों का दौर बढ़ता ही जा रहा है । ग्वालियर-चबंल के कई भाजपा नेताओं ने सोशल मीडिया पर सिंधिया के भाजपा में शामिल होने के कयासों को लेकर टीका टिप्प्णी की थी।
 
सोनिया से मिले मुख्यमंत्री कमलनाथ –प्रदेश अध्यक्ष पद को लेकर जारी घमासान के बीच दिल्ली में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की। मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि उनकी प्रदेश और राष्ट्रीय संगठन के साथ ही कई अन्य महत्वपूर्ण मुद्दो को लेकर चर्चा हुई। मुख्यमंत्री ने  कहा कि जल्द ही प्रदेश अध्यक्ष के नाम का एलान हो जाएगा।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख अब हीरा कारोबार पर मंदी की मार, 4 साल से बेहाल है यह 'चमचमाता' कारोबार