Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Uttarakhand : जोशीमठ में ग्लेशियर फटने से तबाही, नदी किनारे के इलाके कराए जा रहे हैं खाली

webdunia
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp
share

हिमा अग्रवाल

रविवार, 7 फ़रवरी 2021 (14:44 IST)
उत्तराखंड। जोशीमठ जिले के तपोवन क्षेत्र में ग्लेशियर फटने के कारण तबाही का मंजर सामने आया है। माना जा रहा है कि इसमें लगभग 100 के करीब लोग लापता है, जिसके चलते उत्तराखंड में हड़कंप मच गया है। राज्य के मुख्यमंत्री भी त्रिवेंद्र रावत भी क्षेत्र के दौरे के लिए रवाना हो गए हैं।
 
जोशीमठ में ग्लेशियर फटने से बारिश का पानी और मलबा भारी मात्रा में नीचे की तरफ आ रहा है। इस कारण तपोवन स्थित बांध को भी नुकसान पहुंच सकता है। निचले क्षेत्र में नदी किनारे रहने वाले लोगों को अलर्ट कर दिया गया है। वही सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने नदी किनारे बसे लोगों को अप्रिय घटना से बचाने के लिए, उन्हें तत्काल वहां से हटाने के निर्देश दिए हैं।
 
ग्लेशियर फटते ही उत्तराखंड सरकार बचाव के लिए मुस्तैदी से जुट गई है। वही सरकार ने कुछ हेल्पलाइन नंबर जारी करतै हुए लोगों से अपील की है कि जिन लोगों के निकटत परिजन आपदा में फंसे है गए हैं, या किसी को मदद की जरूरत है तो वह 955744486, 1070 पर संपर्क करके आपदा परिचालन केंद्र से मदद मांग 
 
सकता है। वही उत्तराखंड सरकार ने कहा है कि लोगों से अनुरोध है कि वह किसी प्रकार की अफवाह न फैलायें और पुराने वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट न करें।
 
रविवार को तपोवन क्षेत्र में ग्लेशियर फटने से ऋषिगंगा पावर प्रोजेक्ट को भारी नुकसान पहुंचा है। ग्लेशियर फटने से अलकनंदा नदी और धौलीगंगा नदी में हिमस्खलन और बाढ़ का खतरा बढ़ गया है, जिसके चलते आसपास के इलाकों को खाली कराया जा रहा है। जोशीमठ के नजदीक बांध टूटने की जानकारी मिलते ही आईटीबीपी के जवान बचाव और राहत कार्य के लिए  पहुंच गए हैं। मिली सूचना के मुताबि एनडीआरएफ की तीन टीमें गाजियाबाद से जोशीमठ के लिए रवाना हो रही है।
 
ग्लेशियर फटने से चमोली जिले के तपोवन क्षेत्र के रैणी गांव में बिजली परियोजना पर हिमस्खलन के बाद धौलीगंगा नदी में जलस्तर अचानक बढ़ गया है। ग्लेशियर की तबाही से बचाव के लिए श्रीनगर, ऋषिकेश और हरिद्वार समेत अन्य जगहों पर अलर्ट जारी किया गया है।
 
अलर्ट जारी हो  भी उत्तराखंड के अधिकांश जिले आपदा से निपटने के लिए अलर्ट हो गए हैं। यदि कोई व्यक्ति आपदा में फंसा है तो वह जोशीमठ के अतिरिक्त चमौली पुलिस से भी मदद मांग सकता है। मदद के लिए पुलिस के.व्हाट्सएप नंबर 9458322120 है। वही chamoli police (फेसबुक), @chamolipolice @SP_chamoli (ट्विटर) और chamoli_police (इंस्टाग्राम) पर संपर्क किया जा सकता है। मिली जानकारी के मुताबिक वायुसेना के तीन हेलीकॉप्टर मदद के लिए आयें है।
 
फिलहाल पानी रूद्रप्रयाग तक पहुंच गया है, एतियात के चलते भागीरथी नदी का फ्लो रोक दिया गया है, जिससे अलकनन्दा के पानी का बहाव रोका जा सके। श्रीनगर डैम तथा ऋषिकेष डैम को खाली करवा दिया है। SDRF के सेनानायक नवनीत भूल्लर आपरेशन की कमान संभालने के लिए चमोली पहुंच रहे हैं।

Share this Story:
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

webdunia
Uttarakhad Live Updates : ग्लेशियर टूटने से तबाही, पीएम मोदी बोले- संकट की इस घड़ी में पूरा देश उत्तराखंड के साथ