गंगा में जल ‍परिवहन, वाराणसी में नवंबर से शुरू होगा बंदरगाह

सोमवार, 29 अक्टूबर 2018 (13:29 IST)
वाराणसी। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विकास कार्यों की समीक्षा एवं रात में घंटों स्थलीय निरीक्षण के बाद कहा कि नवंबर के आखिरी सप्ताह तक बंदरगाह समेत कई परियोजनाएं पूरी हो जाएंगी, जिन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राष्ट्र को समर्पित करेंगे।


अपने दो दिवसीय वाराणसी दौरे पर रविवार को वाराणसी पहुंचे योगी ने 'संस्कृत भारती' के राष्ट्रीय अधिवेशन में भाग लेने के बाद सर्किट हाउस में अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की तथा रात 11 बजे से दो बजे तक स्थलीय निरीक्षण करने के बाद सोमवार सुबह लखनऊ रवाना हो गए। अपनी यात्रा के दौरान उन्होंने एक बार फिर अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों से अगले साल जनवारी में यहां आयोजित 15वें प्रवासी भारतीय सम्मेलन को यादगार बनाने की अपील की।

योगी ने प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी की कई परियोजनाओं के साथ-साथ रामनगर में रविवार रात निर्माणाधीन बंदरगाह का स्थलीय निरीक्षण के दौरान कहा कि इस महत्वाकांक्षी परियोजना का कार्य अगले एक महीने में पूरा हो जाएगा तथा प्रधानमंत्री के करकमलों द्वारा नवंबर के अंत में इसे राष्ट्र को समर्पित कर दिया जाएगा।

ख्यमंत्री ने कहा कि काशी (वाराणसी) से हल्दिया (कोलकाता) तक जल आवागमन की व्यवस्था से यहां के किसानों एवं व्यापारियों के सामान कोलकाता तथा वहां से दुनिया के अन्य देशों, खासकर दक्षिण-पूर्व देशों में पहुंचाने तथा वहां से जरूरी सामान यहां लाने में मदद मिलेगी। गंगा में जल परिवहन शुरू होने से समय, पैसे एवं ईंधन की बचत के साथ-साथ जरूरी समानों की कीमतें कम होंगी साथ ही प्रदूषण कम होने से पर्यावरण की भी रक्षा होगी।

न्होंने एक लाख टन प्रतिमाह माल ढुलाई वाली परियोजना को अद्भुत बताते हुए मोदी का आभार व्यक्त किया। योगी ने रात में करीब 11 बजे से रात दो बजे के दौरान अत्यंत आवश्यक गाड़ियों के काफिले के साथ करीब 100 किलोमीटर की सड़क यात्रा के कर गंगा नदी के तट पर बन रहे बंदरगाह के अलावा राष्ट्रीय राजमार्ग बाबतपुर फोर लेन सड़क, रिंग रोड, विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर, शाही नाला, समेत कई विकास परियोजनाओं का स्थलीय निरीक्षण किया।

उन्होंने केंद्र एवं राज्य सरकार की विकास परियोजनाओं की समीक्षा एवं निरीक्षण के दौरान कई अधिकारियों को नसीहत देते हुए कहा कि काशी में काम करने का मौका मिला है तो थोड़ा पुण्य कमा लीजिए। अधिकारिक सूत्रों ने बताया कि समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से टीम भावना के तहत काम करने की नसीहत देते हुए कहा कि काशी का बदलाव का देश-दुनिया में नया संदेश जाए, इस बात का ध्यान रखना जरूरी है।

साथ ही उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि विकास कार्यों की झूठी रिपोर्ट बर्दाश्त नहीं की जाएगी तथा संबंधित कार्यों का थर्ड पार्टी वेरिफिकेशन करवाया जाएगा और किसी प्रकार की कमी होने पर संबंधित अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

मुख्यमंत्री ने समीक्षा बैठक के दौरान मुख्य रूप से काशी विश्वनाथ कोरिडोर, प्रधानमंत्री आवास योजना, राष्ट्रीय राजमार्गों, रिंग रोड, अस्पताल भवनों, विद्युतीकरण, हृदय, अमृत, स्मार्ट सिटी, सेंट्रल कमांड सिस्टम, लाइट एंड साउंड सिस्टम, सीवरेज, पेयजल आदि परियोनाओं की प्रगति से संबंधित जानकारियां विशेष रूप से ली तथा निर्धारित समय पर उन्हें पूरा करने को कहा। (वार्ता)

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING