Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

मौसम अपडेट : मूसलधार बारिश ने बढ़ाई परेशानी, मुंबई पानी-पानी

webdunia
बुधवार, 24 जुलाई 2019 (21:26 IST)
मुंबई। दो दिनों से आसमान से बरस रही आफत की बारिश ने मुंबईवासियों की जिंदगी को हलकान करके रख दिया है। मौसम विभाग ने रेड अलर्ट जारी करते हुए कहा कि 25 जुलाई को भी भारी बारिश से रोजमर्रा की जिंदगी प्रभावित हो सकती है।
 
मुंबई में मंगलवार रात से शुरू हुई मूसलाधार बारिश बुधवार तक जारी रही। इसके चलते लोगों की मुसीबत बढ़ गई है। भारी बारिश की वजह से शहर के कई इलाकों में पानी भर गया।

सभी चित्र : गिरीश श्रीवास्तव 
webdunia
इस बीच भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने मुंबई में भारी बारिश की चेतावनी जारी करते हुए कहा कि चक्रवात की स्थिति के कारण शहर में अगले दो दिन भारी बारिश होगी।
webdunia
वैसे मुंबई की तुलना में महाराष्ट्र के रायगढ़ और रत्नागिरी जिलों में छिटपुट जगहों पर बुधवार रात और गुरुवार को अत्यधिक भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है।
webdunia
मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि मुंबई के पास चक्रवात की स्थिति बन रही है, जिससे शहर में भारी बारिश होगी। सुरक्षाबलों, राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) और संबंधित जिलों के आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठों को इसके बारे में सूचित कर दिया गया है।
webdunia
बुधवार को बीएमसी के अधिकारियों ने सड़कों पर मोर्चा संभाला। सड़कों पर इतना अधिक जल जमाव हो गया कि कारें फूंक फूंककर चल रही थी, जबकि स्कूटर और मोटरसाइकिलें तैर रही थीं। रेलवे ट्रेक्स पर भी पानी के भरे रहने से रेल यातायात प्रभावित हुआ। बुधवार को कई लोकल ट्रेने 15 से 30 मिनट की देरी से चल रही थीं।
webdunia
मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों के लिए रेड अलर्ट जारी किया है। मुंबई के थाणे और पालघर इलाकों में जबरदस्त बारिश की संभावना जताई जा रही है। मुंबई के कई इलाकों में 200 मिलिमीटर तक वर्षा दर्ज की गई।
webdunia
आईएमडी अधिकारी ने कहा, अरब सागर से मुंबई की ओर बादल बढ़ रहे हैं। कम दबाव का क्षेत्र विकसित हो रहा है, जिससे अगले 48 घंटों में मुंबई क्षेत्र में और अधिक बारिश होगी। बुधवार और गुरुवार को कोंकण क्षेत्र के पड़ोसी रायगढ़ जिले और रत्नागिरी में कई स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है।
webdunia
उन्होंने बताया, हम बादल की स्थिति पर बारीकी से नजर रख रहे हैं। सुरक्षाबलों, राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) और संबंधित जिलों के आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठों को इसके बारे में सूचित कर दिया गया है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

पाकिस्तान में बढ़ी महंगाई, इमरान खान सरकार के खिलाफ लोगों में गुस्सा