वडोदरा में 6 घंटे में 442 मिलीमीटर बारिश से मचा कोहराम, स्कूल-कॉलेज बंद

गुरुवार, 1 अगस्त 2019 (00:38 IST)
अहमदाबाद। गुजरात के वडोदरा में बुधवार को 6 घंटे में 442 मिलीमीटर बारिश ने पूरे शहर में कोहराम मचा दिया। भारी बारिश से जगह-जगह सड़कों पर पानी भर गया और पूरी व्यवस्था ठप हो गई। प्रशासन ने गुरुवार को सभी स्कूल-कॉलेजों को बंद रखने के आदेश दिए हैं और कई ट्रेनों को डायवर्ट किया गया है।  
 
राज्य के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने वडोदरा की स्थिति की समीक्षा बैठक की और दो अधिकारियों को स्थिति पर नजर रखने के लिए निर्देश दिए हैं। अहमदाबाद शहर में शाम छह से आठ बजे तक 40 मिमी वर्षा रिकॉर्ड की गई। अहमदाबाद और वडोदरा में अभी भी बारिश जारी है। वडोदरा में कई जगहों पर पेड़ गिरने के समाचार हैं।
 
सड़कें स्वीमिंगपूल में तब्दील : वडोदरा में लोगों का गुस्सा इसलिए भी भड़क उठा क्योंकि यहां पानी की निकासी नहीं होने की वजह से सड़कें स्वीमिंगपूल में तब्दील हो गईं। कई लोग ऑफिसों में फंस गए। सड़कों पर भारी जल जमाव की वजह से लोग अपने वाहनों को ऑफिस में ही छोड़कर पैदल निकले लेकिन घुटनों के ऊपर तक पानी के भरे रहने की वजह से कई घंटों के बाद वे घर पहुंचे। 
 
नर्मदा बांध का जल स्तर बढ़कर 122.09 मीटर पर : राज्य में आज सुबह 6 बजे से अपराह्न 2 बजे तक 158 तालुका में एक मिमी से 60 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई। डांग जिले के वघई में सर्वाधिक 60 मिमी, डांग आहवा में 51 मिमी, वलसाड जिले के कपराडा में 50 मिमी बारिश दर्ज की गई। पानी की आवक अधिक होने से अपराह्न 1 बजे तक नर्मदा बांध का जल स्तर बढ़कर 122.09 मीटर पर पहुंच गया।
 
पांच दिनों से लगातार बारिश, 1 वृद्ध पानी में बहा : राज्य के सौराष्ट्र, उत्तर, दक्षिणी हिस्सों में पिछले पांच दिनों से हो रही बारिश आज भी जारी रही। सौराष्ट्र, कच्छ के कई गांवों में बिजली चली गई। राजकोट के एयरपोर्ट रोड, मारुतिनगर रोड पर पानी भर गया, वीयर डैम ओवरफ्लो और ओजत नदी में बाढ़ आ गई। कच्छ में बरसात होने से किसानों के चेहरे खिल उठे। दक्षिण गुजरात में बारिश के चलते एक वृद्ध की पानी में बह जाने से मौत हो गई। 
        
भारी बारिश से अहमदाबाद भी बेहाल : लगातार हो रही बारिश ने अहमदाबाद का हाल भी बेहाल कर दिया। शहर में अनेक जगहों पर पेड़ गिर गए। सिविल अस्पताल के निकट पेड़ गिरने से उसके नीचे दो बच्चे दबकर घायल हो गए। दक्षिण गुजरात में गोडधा, काकरापाड़ा डैम ओवरफ्लो हुए। ओलण नदी में पानी बढ़ने से गांवों में बरसात का पानी घुस गया। 
 
अगले 3 दिनों तक गुजरात में भारी बारिश की चेतावनी : मौसम विभाग ने गुजरात में अगले तीन दिनों तक अत्याधिक बारिश की चेतावनी जारी की है, जिसके कारण राज्य में राष्ट्रीय आपदा राहत बल (एनडीआरएफ) की टीमों को तैनात किया गया है। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक जयंत सरकार ने बताया कि बंगाल की खाड़ी में कम दबाव बनने के कारण राज्य के उत्तर, मध्य और दक्षिण हिस्सों में अगले तीन दिनों तक अत्याधिक बारिश हो सकती है।
 
जामनगर शहर में 173 मिलिमीटर बारिश दर्ज : राज्य में पिछले 24 घंटे के दौरान 33 जिलों के 216 तालुका में बारिश हुई जिसमें से सर्वाधिक 173 मिलिमीटर जामनगर शहर में हुई। राज्य में अब तक औसत 40.56 प्रतिशत बारिश दर्ज की गई है। पिछले 24 घंटे के दौरान कच्छ जिले के अबडासा में 79, अंजार में 74 मिमी, भुज में 35 मिमी, गांधीधाम में 23 मिमी, लखपत में 66 मिमी, मांडवी (के) 137 मिमी, मुंद्रा 84 मिमी, नखत्राणा 62 मिमी बारिश रिकार्ड की गई।
 
गांधीसागर में 24 घंटे में 10 फीट पानी बढ़ा : मध्यप्रदेश के मंदसौर जिले के गांधीसागर बांध का जलस्तर बुधवार शाम तक 1275 फीट पर पहुंच गया है। इसकी पूर्ण भराव क्षमता 1312 फीट है। गांधीसागर बांध में इस वर्ष बेहद कम पानी रह गया था, जिससे बिजली बनने की भी स्थिति न्यूनतम स्तर पर पहुंच गई थी। कल सुबह तक जहां गांधीसागर बांध में 1265 फीट पानी था, वहीं 24 घंटे में करीब 10 फीट पानी  मंदसौर जिले में हुई भारी बरसात से आने से इसका जलस्तर 1274.40 पर दर्ज हुआ।
 
हथनूर बांध लबालब भरने से  21 गेट खोले : मध्यप्रदेश में आज वर्षा का वेग ज्यादा नही रहा लेकिन बुरहानपुर जिले में महाराष्ट्र की सीमा पर स्थित हथनूर बांध लबालब भर गया है और इसके 41 में से 21 गेट खोल कर प्रति सेकंड 1140 क्यूबिक मीटर पानी छोड़ा जा रहा है। बुरहानपुर में ताप्ती नदी खतरे के निशान 220.800 मीटर पर चल रही है।
 
हरदा जिले में कल एक व्यक्ति की नदी में बह जाने से मौत हो गई है। रायसेन जिले में बेतवा नदी के पुल पर पानी बहने से रायसेन -  विदिशा का सड़क संपर्क बाधित है।खंडवा जिले में दो दिन पूर्व आई बाढ़ में पांच मकान गिर गए और 25 मकान आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हुए हैं। 
 
राजधानी भोपाल के बड़े तालाब का जलस्तर आज शाम तक 1663.30 फीट हो गया है, जो अब लगभग साढ़े 3 फीट ही खाली है। बड़े तालाब की पूर्ण भराव क्षमता 1666. 80 फीट है। इस बीच आज प्रदेश में कुछ स्थानों पर वर्षा हुई। जिसमें पचमढ़ी में 59 मिमी, होशंगाबाद में 22 मिमी, दमोह में 15 मिमी, भोपाल में 10.5 मिमी तथा कुछ अन्य स्थानों पर 6 से 2 मिमी वर्षा हुई।
 
राजस्थान के 6 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी : राजस्थान के मौसम विभाग ने आगामी 24 घंटों के दौरान राज्य के छह जिलों में भारी बारिश होने की चेतावनी जारी की है। मौसम विभाग के आंकडों के अनुसार, पिछले 24 घंटों के दौरान झालावाड़ के पचपदरा—अकलेरा में 4-4 सेंटीमीटर, कोटा के रामगंजमंडी में 3 सेंटीमीटर, झालावाड़ के असनावर-डग में 3-3 सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई।

नासिक में 20 दिन में दूसरी बार छाती तक डूबे हनुमान : धर्मनगरी नासिक में भी पिछले 4 दिनों से आ रहे बाढ़ के पानी से हाहाकार मचा हुआ है। रामकुंड के आसपास के इलाके में जहां 12 साल में होने वाले कुंभ में शाही स्थान होता है, वहां पानी भरा हुआ है। 20 दिन में दूसरी बार हनुमान जी मूर्ति छाती तक पानी में डूब गई। 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख सस्ता हुआ बिना सब्सिडी वाला एलपीजी सिलेंडर, 62.50 रुपए घटे दाम