मौसम अपडेट : ठंड का कहर जारी, कश्मीर में चिल्लईकलां, राजस्थान में तापमान शून्य से नीचे...

शनिवार, 29 दिसंबर 2018 (14:10 IST)
जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, उत्तर प्रदेश समेत कई अन्य राज्यों में कड़ाके की ठंड के चलते लोगों की मुश्किलें  बढ़ गई हैं। राजस्थान और कश्मीर में तापमान शून्य से नीचे दर्ज किया गया।
 
राजस्थान में कड़ाके की ठंड से लोग परेशान : राजस्थान में कड़ाके की ठंड एवं शीत लहर के कारण सामान्य जनजीवन प्रभावित हुआ हैं। इस बार प्रदेश में रिकॉर्ड तोड़ सर्दी पड़ रही है और सीकर जिले के फतेहपुर क्षेत्र में लगातार दूसरे दिन न्यूनतम तापमान जमाव बिन्दु से चार डिग्री सेल्सियस से अधिक नीचे दर्ज किया गया।
 
फतेहपुर में शनिवार को न्यूनतम तापमान शून्य से 4.5 डिग्री सेल्सियस नीचे रहा। कल फतेहपुर में न्यूनतम तापमान जमाव बिन्दु से 4.2 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया था। फतेहपुर में पिछले सोलह दिनों में एक-दो दिन को छोड़कर शेष सभी दिनों न्यूनतम तापमान जमाव बिन्दु एवं उससे नीचे ही रहा हैं।   
 
पंजाब में मौसम की सबसे ठंडी राज : पंजाब के आदमपुर में मौसम की सबसे ठंडी रात रहने के साथ न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे 1.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं पंजाब और हरियाणा दोनों जगह शीत लहर का कहर और बढ़ गया। दोनों राज्यों में घने कोहरे के कारण समान्य जनजीवन भी प्रभावित रहा।
 
मौसम विज्ञान विभाग के अधिकारियों ने बताया कि अम्बाला, हिसार, करनाल, लुधियाना, पटियाला और अमृतसर सहित कई स्थानों पर शनिवार तड़के घना कोहरा छाया रहा। उन्होंने बताया कि न्यूनतम तापमान कई स्थानों पर शून्य से नीचे दर्ज किया गया। पंजाब में आदमपुर सबसे ठंडा शहर रहा जबकि हल्वारा और बठिंडा दोनों जगह तापमान 0.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। अमृतसर में न्यूनतम तापमान सामान्य से दो डिग्री कम 0.8 डिग्री सेल्सियस और फरीदकोट में 0.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज रहा।
 
हरियाणा में हिसार राज्य का सबसे ठंडा शहर रहा जहां न्यूनतम तापमान सामान्य से छह डिग्री कम 0.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। नारनौल में भी ठंड का कहर बढ़ता दिखा और न्यूनतम तापमान सामान्य से पांच डिग्री नीचे 0.7 डिग्री सेल्सियस रहा और रोहतक में सामान्य से चार डिग्री कम 2.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। करनाल में भी शीत लहर का कहर जारी रहा, जहां तापमान सामान्य से पांच डिग्री सेल्सियस नीचे दो डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।
 
दोनों राज्य की साझा राजधानी चंडीगढ़ में तापमान सामान्य से एक डिग्री कम 4.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विज्ञान विभाग के अधिकारियों ने बताया कि दोनों राज्यों में शीत लहर अगले कुछ दिन और जारी रहेगी।
  
कश्मीर में अभी 40 दिवसीय ‘चिल्लईं कलां' का समय जारी है, जो 31 जनवरी तक चलेगा लेकिन शीत लहर इसके बाद भी जारी रहेगी। इसके बाद 20 दिन का ‘चिल्लईं खुर्द’ (कम जाड़ा) और 10 दिन ‘चिल्लईं बच्चा’ (बहुत कम जाड़ा) आता है। 
 
हालांकि कश्मीर घाटी में अधिकतर स्थानों पर जहां लोगों को ठंड से थोड़ी राहत मिली है, वहीं राज्य के लद्दाख के लेह में मौसम की सबसे ठंडी रात दर्ज की गई। मौसम विज्ञान विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि कोकरनाग के अलावा घाटी में अधिकतर स्थानों पर तापमान में हल्की बढ़ोतरी दर्ज की गई, जिससे लोगों को थोड़ी राहत मिली। हालांकि लेह में पारे में गिरावट आई।
 
जम्मू-कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर में तापमान शून्य से नीचे 7.7 डिेग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। अधिकारियों ने बताया कि काजीकुंड में तापमान शून्य से नीचे 6.2 डिग्री सेल्सियस और उत्तर कश्मीर के कुपवाड़ा में शुक्रवार रात तापमान शून्य नीचे से 6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं पहलगाम में तापमान शून्य से नीचे 8.3 डिग्री सेल्सियस और उत्तर कश्मीर के गुलमर्ग में शून्य से नीचे 7 डिग्री सेल्सियस रहा।
 
दक्षिण कश्मीर के कोकरनाग में तापमान शून्य से नीचे 5.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, पिछली रात यहां तापमान शून्य से नीचे 5.5 डिग्री सेल्सियस रहा था। लद्दाख क्षेत्र के लेह में तापमान शून्य से नीचे 17.5 डिग्री सेल्सियस रहा। अधिकारी ने बताया कि लेह की यह इस मौसम की सबसे ठंडी रात रही। वहीं कारगिल में तापमान शून्य से नीचे 16.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING