60 घंटे बाद भारत लौटे अभिनंदन, जश्न में डूबा हिन्दुस्तान

शुक्रवार, 1 मार्च 2019 (20:30 IST)
वाघा। पाकिस्तानी विमानों द्वारा भारतीय वायु सीमा के उल्लंघन के दौरान अदम्य वीरता का प्रदर्शन करने वाले विंग कमांडर अभिनंदन शुक्रवार रात को पाकिस्तान से स्वदेश वापस लौट आए। उनकी वापसी से पहले के कुछ घंटे संशय से भरे रहे। इस कदम को आतंकवाद का पाकिस्तान से जारी समर्थन पर भारत के जवाब के बाद उत्पन्न तनाव की स्थिति को कम करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम के तौर पर देखा जा रहा है। 
 
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अभिनंदन की वापसी का स्वागत करते हुए ट्वीट में कहा, 'विंग कमांडर अभिनंदन आपका घर में स्वागत है। राष्ट्र को आपके अदम्य साहस पर गर्व है। हमारे सशस्त्र बल देश के 130 करोड़ भारतीयों के लिए प्रेरणा का स्रोत हैं।'

दिनभर वाघा बॉर्डर पर रहीं निगाहें : विंग कमांडर अभिनंदन की स्वदेश वापसी पर पूरे देश की निगाहें वाघा बॉर्डर पर दिनभर लगी रहीं। वायुसेना अधिकारी अभिनंदन वर्द्धमान के पाकिस्तान की हिरासत से मुक्त होकर लौटने के बीच भारी संख्या में मीडियाकर्मियों की नजर इस पर थी और पूरे देश के लोग टीवी सेट पर टकटकी लगाए हुए थे।
 
 
जश्न का माहौल : अटारी-वाघा सीमा के पास चेकपोस्ट पर सुबह से ही लोग तिरंगा लिए जमा थे। उनमें से अनेक अपना चेहरा तिरंगे के रंग से रंगे थे और विंग कमांडर अभिनंदन की सुरक्षित वापसी के समर्थन में नारे भी लगा रहे थे और जश्न का माहौल था। अभिनंदन की रिहाई का जश्न पूरे देश में मनाया गया। 

देशभर में अलग-अलग स्थानों पर देशभक्ति का रंग सहज ही देखा जा सकता था। अहमदाबाद में गरबा के दृश्य देखे गए तो बेंगलुरु में लोग नृत्य करते मिले। पुरी में बालू की कलाकृतियां तैयार की जा रही थीं, वहीं अलग-अलग स्थानों पर यज्ञ भी आयोजित किए गए। 
 
27 फरवरी को पाकिस्तान ने पकड़ा था : भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तानी सीमा में जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों को निशाना बनाया। उसके बाद पाकिस्तानी वायुसेना की ओर से भारत की वायु सीमा का उल्लंघन किया गया और इस दौरान हुए हवाई संघर्ष में पाकिस्तान का एक एफ-16 विमान गिरा दिया गया एवं भारत का मिग 21 दुर्घटनाग्रस्त हो गया। इस संघर्ष के परिणामस्वरूप विंग कमांडर अभिनंदन का पैराशूट सीमा पर बढ़ गया और उन्हें 27 फरवरी को पाकिस्तान ने पकड़ लिया था।
 
9 बजकर 10 मिनट पर पाक ने रिहा किया :  पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने अपनी संसद में कहा था कि वह शांति के संदेश के तौर पर भारतीय पायलट को रिहा कर रहे हैं। विंग कमांडर अभिनंदन रात 9 बजकर 10 मिनट पर पाकिस्तान की ओर वाघा चेकपोस्ट पर दिखे। वे गहरे रंग का कोट और खाकी रंग की पैंट पहने हुए थे। गर्व से सिर ऊंचा था कि विंग कमांडर अभिनंदन कैदी देश पाकिस्तान से गेट पार करके स्वदेश भारत लौटे। 
 
एयरवाइस मार्शल आरजी के कपूर ने कहा कि वायुसेना के पायलट अभिनंदन को अभी-अभी हमें सौंपा गया है। उन्होंने कहा कि हम उन्हें वापस पाकर खुश हैं।
 
उन्होंने कहा कि पायलट को विस्तृत चिकित्सा परीक्षण के लिए ले जाया जायेगा, क्योंकि उन्हें काफी तनाव के क्षणों से गुजरना पड़ा। विदेश मंत्रालय ने कहा कि विंग कमांडर अभिनंदन को वाघा-अटारी बॉर्डर पर भारतीय अधिकारियों को सौंप दिया गया।
 
तमिलनाडु में एक रैली के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि प्रत्येक भारतीय को पायलट अभिनंदन पर गर्व है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी समेत अनेक राजनीतिक दलों के नेताओं ने भारतीय वायुसेना के हीरो की घर वापसी का स्वागत किया।
 
संशयभरे रहे अंतिम कुछ घंटे : विंग कमांडर अभिनंदन की वापसी के अंतिम कुछ घंटे संशयभरे रहे। पहले यह खबर आ रही थी कि उन्हें दोपहर बाद रिहा किया जाएगा लेकिन दिन ढलने और रात आने के साथ लोगों का इंतजार बढ़ता गया। रात ढलने के साथ लोग सांसें थामकर पायलट अभिनंदन की एक झलक का इंतजार करते रहे।
 
विंग कमांडर अभिनंदन को पाकिस्तान द्वारा पकड़े जाने का मुद्दा दोनों देशों के बीच तनाव का केंद्रबिन्दु बना हुआ था। दिनभर टीवी चैनलों में भारत-पाक संबंधों पर अलग-अलग तरीके से चर्चा चलती रही। पत्रकार इस घटनाक्रम के बारे में सूचना जुटाने में लगे रहे कि अभिनंदन को कब और कैसे भारत को सौंपा जाएगा। 
 
इंतजार के क्षणों में एक समय अटारी के पास कारों का काफिला देखकर लोग काफी उत्साहित हो गए थे। उनके मन में यह उत्सुकता थी कि उनमें से एक कार में अभिनंदन हैं और क्या वे मीडिया को संबोधित करेंगे। लेकिन कोई वास्तविक उत्तर नहीं मिल रहा था। देर शाम तक यह पूरी तरह से साफ नहीं हो रहा था कि उन्हें किस प्रकार से सौंपा जाएगा।
 
इस बीच भारत ने वाघा-अटारी सीमा पर बिटींग द रिट्रीट समारोह को आज स्थगित कर दिया, क्योंकि अनुमानित 20 हजार लोग वहां एकत्र हो गए थे। अंधेरा बढ़ने के साथ अटारी में लोगों की संख्या कम हुई। 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख स्क्वाड्रन लीडर पत्नी ने शहीद को नम आंखों से दी विदाई