Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

दूसरी महिला से पति करता था अश्लील चैटिंग, पत्नी ने चार्जर की केबल से ली जान

हमें फॉलो करें webdunia
शनिवार, 16 जुलाई 2022 (12:56 IST)
फतेहपुर। कई बार पारिवारिक विवाद के चलते ऐसी घटनाएं सामने आती है, जो रिश्तों की मर्यादा को शर्मसार कर देती है। छोटे-छोटे झगड़ों के चलते लोग अपने ही सगे-संबंधियों की जान लेने पर उतारू हो जाते हैं। इन दिनों राजस्थान के फतेहपुर की एक घटना चर्चाओं का विषय बन गई है, जिसके अनुसार एक महिला ने अपने पति को मोबाइल की चार्जर केबल से गला घोंट कर मार डाला। पत्नी के मुताबिक उसके पति का किसी अन्य महिला के साथ नाजायज संबंध था और वह उस महिला के साथ अश्लील चैटिंग करता था। महिला ने पुलिस से बचने के लिए इसे आत्महत्या का रूप देने की कोशिश भी की। 
 
दूसरी महिला से अश्लील चैटिंग और वीडियो कॉल करता था पति:
इस महिला का नाम मदीना है, जिसकी शादी करीब 6 साल पहले मकसूद से हुई थी। लेकिन, अभी तक दोनों का कोई बच्चा नहीं था। इससे दोनों असंतुष्ट रहने लगे। इसी बीच मकसूद के जीवन में दूसरी महिला आई। मदीना का आरोप है कि उसने अपने पति को किसी दूसरी महिला के साथ अश्लील चैटिंग और वीडियो कॉल करते हुए भी कई बार देखा था। इस बात से मदीना को बहुत गुस्सा आया और उसने पति को मारने की साजिश रचना शुरू कर दी।  
 
चार्जिंग केबल से घोंटा गला:
मदीना अपने पति मकसूद और अपनी सास के साथ 2 जुलाई को एक शादी में गई थी। जहां से उसका पति दोपहर 2 बजे अकेले लौट गया और कमरे में जाकर सो गया। इसके ठीक एक घंटे बाद मदीना घर पहुंची और उसने मौका देखकर अपने दुपट्टे से पति का गला घोंटने की कोशिश की। पुलिस के मुताबिक मदीना ने इस काम के लिए चार्जिंग केबल का भी उपयोग किया।  
 
पुलिस से बचने के लिए पति को फंदे से लटकाया:
इसके बाद मदीना ने अपने पति की लाश को फंदे से लटका दिया, जिससे पुलिस को ये लगे की यह खुदकुशी है। लेकिन, मकसूद की मां को मदीना पर शक हुआ और उसने मदीना पर दबाव डालकर उससे सारा सच जान लिया। पुलिस ने मदीना को गिरफ्तार कर लिया। मदीना ने पूछताछ के दौरान पुलिस को बताया कि मकसूद उसके साथ मारपीट करता था। 
 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

Presidential election : उत्तरप्रदेश के विधायकों के मतों का मूल्य सर्वाधिक, सिक्किम का सबसे कम