योगी आदित्यनाथ के जन्मदिन पर जानिए उनसे जुड़ीं ख़ास बातें

बुधवार, 5 जून 2019 (10:20 IST)
उत्तराखंड के एक साधारण गांव में जन्मे अजयसिंह (महंत आदित्यनाथ) अब उत्तर प्रदेश भाजपा का एक बड़ा चेहरा हैं। वे लव जेहाद, तीन तलाक और धर्मांतरण को लेकर दिए बयानों के चलते हमेशा विवादों में रहे हैं। आदित्यनाथ गोरखपुर स्थित गोरखनाथ मंदिर के पीठाधीश्वर भी हैं। 
 
वे एक ऐसे नेता हैं, जिन्होंने हिन्दुत्व के मुद्दे पर न सिर्फ यूपी बल्कि पूरे देश में अलग पहचान बनाई है। भाजपा ने उन्हें उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाकर परोक्ष रूप से हिन्दुत्व समर्थकों को संदेश दिया है। हनुमानजी पर टिप्पणी करके उन्होंने विवाद को अपने गले लगा लिया। हनुमानजी को दलित बताकर योगी देश की विवादित शख्सियतों की सूची में शीर्ष पर आ गए। 
 
नाम : योगी आदित्यनाथ, अजय सिंह बिष्ट, महंत आदित्यनाथ
 
जन्म स्थान : उत्तराखंड
 
शिक्षा : स्नातक (छात्र जीवन में  राष्ट्रवादी आंदोलनों से जुड़े)
 
संन्यास : सनातन हिन्दू धर्म की विकृतियों एवं उस पर हो रहे प्रहार ने व्यथित हुए 22 साल की उम्र में संन्यास ग्रहण
 
छुआछूत ख़त्म करने की कोशिश : सहभोज के माध्यम से अस्पृश्यता की भेदभावकारी रुढ़ियों पर जमकर प्रहार
 
मतान्तरित हिन्दुओं की ससम्मान घर वापसी :  वृहद् हिन्दू समाज को संगठित करने की कोशिश  
 
विवादित बयान : लव जेहाद, तीन तलाक और धर्मांतरण पर
 
सर्वाधिक विवादित बयान : हनुमानजी को बताया दलित
 
नेता के तौर पर छवि : कट्टर हिंदुत्व समर्थक 
 
गोरक्षा के लिए जागरूकता पर कार्य : आम जनमानस को जागरूक करके गोवंशों का संरक्षण एवं संवर्धन करवाया
 
लेखक भी : अपने दैनिक वृत्त पर विज्ञप्ति लिखने जैसे श्रमसाध्य कार्य के साथ-साथ वे समय-समय पर अपने विचार को स्तम्भ के रूप में समाचार पत्रों में भेजते रहते हैं।
 
पुस्तकें : अत्यल्प अवधि में ही ‘यौगिक षटकर्म’, ‘हठयोग : स्वरूप एवं साधना’, ‘राजयोग: स्वरूप एवं साधना’ तथा ‘हिन्दू राष्ट्र नेपाल’ नामक पुस्तकें लिखीं। 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख NEET 2019 का परीक्षा परिणाम आज