Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

PM मोदी जन्‍म‍दिन 2021- जानिए एक क्लिक पर 17 सितंबर से 7 अक्‍टूबर तक कैसे मनाया जाएगा मोदी का जन्‍मदिन

हमें फॉलो करें webdunia
शुक्रवार, 17 सितम्बर 2021 (11:44 IST)
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 71 साल के हो गए। आज पूरे देश में उनके जन्‍मदिन को अलग- अलग प्रकार की गतिविधियों के साथ मनाया जा रहा है। बीजेपी शासित राज्‍य में जन जगारूकता अभियान, स्‍वास्‍थ अभियान से लेकर अनेक प्रकार की गतिविधियां की जा रही है। वहीं 7 अक्‍टूबर 2021 को उनके प्रशासनिक जीवन के 20 साल पूरे होने जा रहे हैं।इसे देखते हुए पीएम मोदी की राजनीतिक यात्रा और उनकी उपलब्धियों के प्रचार के लिए 3 सप्‍ताह तक बड़ा अभियान चलाया जाएगा। प्रधानमंत्री मोदी के 71 जन्‍मदिन से 7 अक्‍टूबर तक बड़े-बड़े अभियान चलाए जाएंगे। आइए जानते हैं - 
 
 
- पीएम मोदी की तस्‍वीर वाले 14 करोड़ राशन बैग बांटे जाएंगे।
 
- देश में बूथ लेवल से Thank you Modi ji! के 5 करोड़ पोस्‍टकार्ड भेजे जाएंगे।
 
-71 जगहों पर नदियों की सफाई के अलावा सोशल मीडिया कैंपेन, वैक्‍सीनेशन वीडियो, पीएम मोदी के लाइव फॉर काम पर सेमिनार ये सब बर्थडे सेलिब्रेशन का हिस्‍सा होगा।
 
- वहीं पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा गया है कि 25 सितंबर को दीनदयाल जयंती से 2 अक्‍टूबर गांधी जयंती तक कुछ न कुछ सामाजिक गतिविधियां करते रहे।
 
- पिछली बार पीएम मोदी का जन्‍मदिन 'सेवा सप्‍ताह' के रूप में मनाया गया था।
 वहीं साल 2021 'समर्पण अभियान' नाम दिया गया है।
 
- प्रधानमंत्री गरीब कल्‍याण योजना के तहत 5 किलो वाले राशन बैग लोगों को दिए जाएंगे।
 
- महामारी के दौरान की गई मदद को लेकर पीएम मोदी को धन्‍यवाद देते हुए लाभर्थियों का वीडियो प्रसारित किया जाएगा।
 'गरीबों का मसीहा मोदी जी है' इस प्रकार से संदेश दिया 
 
जाएगा।
 
- पीएम मोदी के राजनीतिक यात्रा पर वीडियो जारी किया जाएगा।
 
- कोरोना काल में अनाथ हुए बच्‍चों का पीएम केयर फंड रजिस्‍ट्रेशन किया जाएगा।
 
-71 महिलाओं को कोरोना वॉरियर्स के रूप में सम्‍मानित किया जाएगा।
 
-17 सितंबर से 20 सितंबर तक हेल्‍थ चेकअप कैंपेन ऑर्गेनाइज किए जाएंगे।
 
- युवा नेताओं द्वारा ब्‍लड डोनेशन कैंप ऑर्गेनाइज किए जाएंगे।
 
- अनुसूचित जाति मोर्चा दल द्वारा फल और जरूरी सामान वितरित किए जाएंगे।
 
- ओबीसी कार्यकर्ता अनाथ आश्रम और वृद्धाश्रम में फल बांटेंगे।
 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

खास खबर: ‘मोदी है तो मुमकिन है’ के भरोसे को बनाए रखने की अब सबसे बड़ी चुनौती!