Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

योगी सरकार पर अखिलेश यादव का निशाना, राज्य में लॉ एंड ऑर्डर पर कही यह बड़ी बात...

webdunia
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp
share
रविवार, 14 फ़रवरी 2021 (20:15 IST)
लखनऊ। समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश सरकार पर राज्य में शांति-व्यवस्था कायम करने में पूरी तरह विफल होने का आरोप लगाते हुए रविवार को कहा कि सरकार की कार्यशैली से अपराधियों के हौसले बुलंद हो गए हैं।

अखिलेश ने यहां एक बयान में आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश में सत्ता के संरक्षण में खुलेआम अपराध हो रहे हैं। उन्होंने कहा, सरकार की कार्यशैली से अपराधियों के हौसले बुलंद हो चुके हैं। बदहाल कानून व्यवस्था का आलम यह है कि पुलिस के अधिकारियों पर भी हमले होने लगे हैं।

प्रयागराज में एक फौजी की हत्या, ग्रेटर नोएडा में एक अपहृत बच्चे का कत्ल और औरैया में एक सर्राफा व्यवसायी की गोली मारकर हत्या की घटनाओं का जिक्र करते हुए उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार के पास दृढ़ इच्छाशक्ति का अभाव है और सरकार सूबे में शांति व्यवस्था कायम करने में पूरी तरह विफल हो गई है।
ALSO READ: West Bengal Election 2021 : 'दीदी' के मंत्री का दावा- बंगाल में 'ममता कार्ड' मायने रखता है, मोदी का 'राम कार्ड' नहीं
पूर्व मुख्यमंत्री ने उत्तर प्रदेश की बिगड़ती छवि पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को प्रदेश की जनता को शांत और भयमुक्त बनाने की दिशा में कड़े फैसले लेने चाहिए। उन्होंने कहा कि अराजकता और अपराध में संलिप्त दोषियों को दंडित कर कानून को प्राथमिकता देना सरकार का लक्ष्य होना चाहिए, लेकिन जब भाजपा सरकार का एजेंडा समाज का सद्भाव बिगाड़ना हो तो कानून का राज स्थापित कैसे होगा?

उन्होंने कहा, प्रदेश की जनता को अपराध मुक्त होने का झूठा सपना दिखाकर जनमत हासिल करने वाली भाजपा के खिलाफ जनाक्रोश बढ़ता जा रहा है। जनता परिवर्तन के लिए तैयार है। प्रदेश को खुशहाली, और प्रगति के रास्ते पर ले जाने के लिए समाजवादी सरकार बेहद जरूरी है।

सपा महिला भाजपा कार्यकर्ता गिरफ्‍तार : उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के काफिले के समक्ष नारेबाजी कर विरोध जताने का प्रयास करने के आरोप में पुलिस ने रविवार को समाजवादी पार्टी महिला सभा की नेता डॉ. साधना सिंह सहित कई अन्य महिला कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया।
 
योगी आदित्यनाथ विवार को वृन्दावन में 40 दिवसीय ‘कुम्भ पूर्व वैष्णव बैठक’ का शुभारंभ करने आए थे जिसके चलते यहां सुरक्षा के कड़े प्रबंधन किए गए थे।
 
पुलिस के मुताबिक सपा की महिला नेता डॉ. साधना सिंह विरोध जताने के लिए मुख्यमंत्री के काफिले के सामने तब आने का प्रयास किया जब वे उत्तरप्रदेश ब्रज तीर्थ विकास परिषद की पर्यटन सुविधा केंद्र के सभागार में आयोजित बैठक में शामिल होने के पश्चात मेलास्थल की ओर जा रहे थे।
 
सिंह तथा उनके साथ मौजूद अन्य महिला कार्यकर्ता मुख्यमंत्री के खिलाफ नारेबाजी करते हुए अचानक काफिले की ओर बढ़ी जिसकी वजह से उनकी सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मियों से तीखी नोकझोंक भी हुई। पुलिस ने विरोध प्रदर्शन कर रही महिला सभा की नेता डॉ. साधना सिंह सहित सीमा करण, शबाना खान, शाइस्ता आदि को हिरासत में लिया।
 
वृन्दावन कोतवाली प्रभारी अनुज कुमार सिंह ने बताया कि इन सभी को मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया जाएगा तथा उनके आदेश के अनुसार ही अगली कार्रवाई की जाएगी। (वार्ता/भाषा)

Share this Story:
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

webdunia
West Bengal Election 2021 : 'दीदी' के मंत्री का दावा- बंगाल में 'ममता कार्ड' मायने रखता है, मोदी का 'राम कार्ड' नहीं