मुरादाबाद कोर्ट में पेशी पर ले जाते समय, आजम खान के पैर डगमगाये

हिमा अग्रवाल

शुक्रवार, 24 जुलाई 2020 (14:39 IST)
इसे राजनीति की उतरी खुमारी कहें, उम्र का ढलता पड़ाव या जेल में आयी कमजोरी। जी हां हम आज बात कर रहे है सपा के कद्दावर नेता आजम खान की। रामपुर के सपा सांसद आजम खां और उनके बेटे अब्दुल्ला तीन महीने के बाद आज पेशी के लिए मुरादाबाद एमपी-एमएलए कोर्ट भेजे गए हैं। जहां कोर्ट के अंदर सीढ़ी चढ़ते हुए उनके पैर डगमगा गये, बेटे और कांस्टेबिल ने उन्हें संभाला।
 
आजमखान का साल 2008 में मुरादाबाद के छजलैट थाना क्षेत्र में पुलिस द्वारा गाड़ी चेक करने के मामले में विवाद हुआ था। उस दौरान समाजवादी पार्टी नेताओं ने सड़क को जाम करते हुए पुलिस के खिलाफ नारेबाजी और हंगामा किया था। इस मामले में पुलिस ने कुल 9 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था। जिसमें सांसद आजम खां और उनके बेटे अब्दुल्ला के साथ अन्य लोगों के नाम शामिल हैं।
 
आज इसी मामले के चलते आजमखान और उनके बेटे पर छजलैट में हाईवे जाम करने और बवाल के मामले में आजम खां की एडीजे दो एमपी-एमएलए स्पेशल कोर्ट में पेशी है।
 
कोरोना संक्रमण के चलते आजम खां पिछले तीन महीने से न तो पेशी पर ही जा पाए और न ही अपने किसी रिश्तेदार से मिल पाए थे। आज उन्हें सीतापुर जेल से मुरादाबाद लाया गया है, संभवतः उनकी मुलाकात अपने नजदीकियों और रिश्तेदारों से हो पायेगी।
 
तीन माह के लंबे अंतराल समय के बाद पुलिस आजम खान और उनके बेटे अब्दुल्ला आजम को मुरादाबाद कोर्ट में पेशी होने के चलते सीतापुर जिला कारागार से मुरादाबाद के लिए कड़ी सुरक्षा के बीच लेकर मुरादाबाद पहुंची है।
 
मुरादाबाद में पेशी के बाद उन्हें आज ही वापस सीतापुर जेल लाया जाएगा जहां उनकी पत्नी तंजीम फातिमा बंद हैं।
 
आजमखान को मुरादाबाद कोर्ट में पेश करते हुए सुरक्षा कके पुख्ता इंतजाम किये गये। कोर्ट परिसर को छावनी में तब्दील कर दिया गया। पेशी पर ले जाते समय सपा समर्थकों ने जमकर नारेबाजी की।
 
मुरादाबाद कोर्ट में आज आजमखान और उनके बेटे पर दो केसों की सुनवाई हुई और उन्हें पुलिस कस्टडी में भेज दिया गया है। आजम खान के वकील के अनुसार थाना छजलैट में 2008 का मुकदमा दर्ज है, इस मुकदमें में पेश न होने के कारण आजम खान के खिलाफ वारंट जारी होने के बाद थाना छजलैट में ही एक मुकदमा और दर्ज किया गया था। अब दोनों में ही मुकदमों में आजम खान और बेटे अब्दुल्ला आजम को कस्टडी में लिया गया है। एक केस में 6 अगस्त और दूसरे केस में 24 अगस्त तक पुलिस कस्टडी में भेज दिया है।
 
मुरादाबाद के जिला सत्र एवं न्यायालय में आजम खां पेशी के दौरान करीब डेढ़ घण्टा रहे। फिलहाल आजम खान और अब्दुल्ला को फिर से सीतापुर जेल ले जाया जा रहा है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख जीएफपी नेता सरदेसाई बोले, चर्चा बिना बजट पारित करना गोवा के लोगों के साथ धोखा