सीएम खट्टर बोले, अब हरियाणा के लोग कश्मीर से दुल्हन ला सकेंगे, मचा बवाल

शनिवार, 10 अगस्त 2019 (15:51 IST)
चंडीगढ़। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने यह कहकर विवाद खड़ा कर दिया कि अब हरियाणा के लोग कश्मीर से दुल्हन ला सकेंगे। उनका इशारा संविधान के अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को खत्मकर जम्मू-कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा वापस लिए जाने की ओर था।
 
खट्टर ने शुक्रवार को फतेहाबाद में एक कार्यक्रम में कहा, 'अगर लड़कियों की तादाद लड़कों से कम हो तो दिक्कतें हो सकती हैं। हमारे (ओ पी) धनखड़जी ने कहा था कि उन्हें (दुल्हनों को) बिहार से लाना होगा। लेकिन कुछ लोगों ने कहा, कश्मीर खुला है, लिहाजा उन्हें (दुल्हनों को) वहां से लाया जाएगा। लेकिन मजाक से हटकर, सवाल यह है कि अगर अनुपात (लिंग अनुपात) सही रहे तो समाज में संतुलन ठीक रहेगा।' 
 
गौरतलब है कि धनखड़ ने 2014 में कहा था कि अगर हरियाणा के लड़कों को राज्य में सही जोड़ीदार नहीं मिला तो वह बिहार से उनके लिए दुल्हन लेकर आएंगे। हरियाणा अपने लिंग अनुपात के लिए बदनाम रहा है।

खट्टर के बयान पर बवाल मच गया। सोशल मीडिया पर इस बयान के लिए उन्हें जमकर ट्रोल किया जा रहा है।

राहुल का तीखा हमला : कश्मीरी महिलाओं के संदर्भ में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के एक बयान की निंदा करते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने शनिवार को दावा किया कि यह इस बात का प्रमाण है कि आरएसएस का प्रशिक्षण एक व्यक्ति की सोच को कैसा बना देता है।
 
गांधी ने ट्वीट कर कहा, 'कश्मीरी महिलाओं के बारे में हरियाणा के मुख्यमंत्री खट्टर की टिप्पणी निंदनीय है। यह दिखाता है कि आरएसएस का वर्षों का प्रशक्षिण एक कमजोर, असुरक्षित और दयनीय व्यक्ति की सोच को कैसा बना देता है।'

महिला आयोग मांगेगा स्पष्टीकरण : राष्ट्रीय महिला आयोग ने शनिवार को कहा कि हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से महिलाओं के संबंध में उनके विवादास्पद बयान पर स्पष्टीकरण मांगा जाएगा। आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने ट्वीट कर कहा कि खट्टर से इस मामले में निश्चित रुप से स्पष्टीकरण मांगा जाएगा।
 
श्रीमती शर्मा ने ट्वीट किया कि उनकी कल्पना महिलाओं पर, उनके रंग पर और उनके चेहरे पर क्यों सिमट जाती है? वे महिलाओं के बारे ऐसा कैसे बोल देते हैं? लोग उन्हें सत्ता क्यों सौंप देते हैं? मैं निश्चित रूप से उनसे स्पष्टीकरण देने के लिए कहूंगीं। हालांकि श्रीमती शर्मा ने अपने ट्वीट में खट्टर का उल्लेख नहीं किया।
 

हालांकि बाद में खट्टर ने इस मामले में अपना पूरा बयान जारी करते हुए कहा कि कुछ मीडिया चैनल और न्यूज एजेंसियों के हवाले से एक भ्रामक तथा तथ्यहीन प्रचार चलाया जा रहा है। बेटियां हमारी शान हैं और पूरे देश की बेटियां हमारी बेटियां हैं।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख राहुल गांधी का इस्तीफा नहीं हुआ स्वीकार, फिर होगी कार्य समिति की बैठक