Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

मेरठ में पंचायत चुनाव से पहले अवैध हथियार बनाने वाली फैक्टरी का पर्दाफाश

webdunia
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp
share

हिमा अग्रवाल

शनिवार, 27 मार्च 2021 (16:57 IST)
पंचायत चुनाव से ठीक पहले मेरठ में अवैध हथियारों की बड़ी फैक्टरी पकड़ी गई है। एसटीएफ और मेरठ पुलिस के संयुक्त ऑपरेशन में जिले के अलग-अलग 4 स्थानों पर कार्रवाई करते हुए 133 से ज्यादा अवैध तमंचा और पिस्टल बरामद किए हैं। साथ ही मौत का सामान बनाने वाली 2 अवैध असलाह फैक्टरी का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने 8 आरोपियों को गिरफ्तार किया है, लेकिन बड़ा सवाल यह है कि आखिर पुलिस की नाक के नीचे हथियारों की अवैध फैक्टरी चल कैसे रही थी।

वेस्ट यूपी के कई जिलों में मेरठ से अवैध हथियार की सप्लाई की जाती है। एसटीएफ को सूचना मिली थी कि पूरे मेरठ जोन से हथियारों की सप्लाई की जा रही है और सबसे ज्यादा डिमांड .32 बोर की पिस्टल की है। इस सूचना को आधार बनाते हुए कुछ लोगों को ट्रेस किया गया और पुलिस ने थाना ट्रांसपोर्ट नगर के मलियाना और ब्रह्मपुरी थाना क्षेत्र में दबिश दी।

मलियाना से शफीक नाम के हथियार तस्कर को पुलिस ने पकड़ लिया। पुलिस को पता चला कि शफीक हथियारों का होलसेल डीलर है और उससे पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कई हथियार तस्कर हथियारों को थोक के भाव में खरीदकर ले जाते हैं और बाद में अलग-अलग स्थानों पर मनमाने दामों पर बेच देते हैं। हैरत की बात यह है कि शफीक ने घर में ही असलाह बनाने की फैक्टरी संचालित कर रखी थी।
webdunia

मेरठ के थाना ब्रह्मपुरी क्षेत्र में भी एक हथियार बनाने का कारखाना चल रहा था। थाना ब्रह्मपुरी क्षेत्र में हथियार बनाने की यह फैक्टरी चोरी-छुपे चलाई जा रही थी। इस फैक्टरी में बनने वाले तमंचे 1500 से 5000 तक में बेचे जाते हैं। साथ ही पिस्टल 22 से 30 हजार तक बिक जाती है। दरअसल ग्राम प्रधानी और पंचायत चुनाव को लेकर अवैध हथियारों की भारी डिमांड है। ऐसे में इस कारखाने में काम धड़ल्ले से चल रहा था।

एसटीएफ की मेरठ यूनिट ने सबसे पहले टीपी नगर के मलियाना में छापेमारी की कार्रवाई को अंजाम दिया, जहां से 2 लोगों को गिरफ्तार किया गया। इन्हीं की निशानदेही पर ब्रह्मपुरी में भी छापेमारी की गई। जिसके बाद लिसाड़ी गेट और किठौर में मेरठ पुलिस ने छापा मारा। यहां भारी मात्रा में अवैध हथियारों का जखीरा बरामद किया गया है।

अहम बात यह है कि अवैध हथियारों क्या यह गोरखधंधा एक लीगल व्यापार की तरह चलाया जा रहा था, इसके लिए बकायदा होलसेलर बनाया गया था। जो फैक्टरी से अवैध हथियार खरीदकर फुटकर हथियार सप्लायर को बेचता था। पुलिस अब इन हथियार खरीदने वालों की तलाश में जुटी है। हथियारों के इस नेटवर्क में लगभग 50 लोग जुड़े हुए हैं।

Share this Story:
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

webdunia
MP सहित 6 राज्यों में Covid 19 के दैनिक मामलों में आई तेजी, देश में मिले 62,258 नए मामले