Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

डेरा अनुयायी की हत्या : मुख्यमंत्री मान ने कहा, किसी को शांति भंग नहीं करने दी जाएगी

हमें फॉलो करें webdunia
गुरुवार, 10 नवंबर 2022 (23:44 IST)
चंडीगढ़। पंजाब में एक हफ्ते के अंदर हत्या के दूसरे मामले को लेकर विपक्ष के निशाने पर आए प्रदेश के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने गुरुवार को कहा कि उनकी सरकार असामाजिक तत्वों को किसी भी कीमत पर मेहनत से अर्जित शांति और सांप्रदायिक सद्भाव को भंग करने की अनुमति नहीं देगी।

उन्होंने डेरा अनुयायी की हत्या को अंजाम देने वालों को यथाशीघ्र पकड़ने का निर्देश भी पुलिस को दिया। फरीदकोट जिले में छह अज्ञात हमलावरों ने गुरुवार को 2015 के बेअदबी मामले में आरोपी व डेरा सच्चा सौदा के अनुयायी की गोली मारकर हत्या कर दी।

प्रदीप सिंह (37) को फरीदकोट के कोटकपूरा स्थित डेयरी की दुकान में सुबह करीब सवा सात बजे गोली मारी गई। इस हमले में प्रदीप का अंगरक्षक और एक अन्य व्यक्ति भी गोली लगने से घायल हो गया। प्रशासन व पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों की एक बैठक की अध्यक्षता करते हुए मान ने कहा कि दोषियों को कानून के मुताबिक सख्त सजा दी जानी चाहिए।

बैठक के दौरान पुलिस अधिकारियों ने मुख्यमंत्री को फरीदकोट की वारदात के बारे में जानकारी दी। मान ने कहा कि इस संवेदनशील मामले की गहन जांच होनी चाहिए और मामले को बिना किसी पक्षपात के कानूनी निष्कर्ष तक पहुंचाया जाएगा। उन्होंने कहा कि किसी भी आपराधिक घटना को जाति या धर्म के संकीर्ण नजरिए से नहीं देखा जा सकता। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस अपराध के दोषियों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा।

फरीदकोट में डेरा सच्चा सौदा के अनुयायी की हत्या के बारे में उन्होंने कहा, इन दुर्भाग्यपूर्ण घटनाओं को दशकों पुराने भाईचारे, सांप्रदायिक सद्भाव, आपसी प्रेम और एकता के मजबूत बंधनों को तोड़ने के लिए नापाक मंसूबों के साथ अंजाम दिया जा रहा है।

मान ने कहा कि राज्य सरकार पंजाब में कानून-व्यवस्था की स्थिति बनाए रखने के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है और किसी को भी किसी भी कीमत पर कड़ी मेहनत से अर्जित शांति भंग करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसी ताकतों को मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा। बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को राज्यभर में लाइसेंसी आग्नेयास्त्रों की समीक्षा करने का भी आदेश दिया।(भाषा)
Edited by : Chetan Gour

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

सामूहिक बलात्कार के आरोपियों से जुड़े मुद्दों की जांच के लिए उच्चस्तरीय समिति गठित हो : डीसीडब्ल्यू