भोपाल में बुराड़ी कांड जैसी खौफनाक घटना, घर में 4 लाशें मिलने से सनसनी, बेसुध हालत में मिला मुखिया...

भोपाल। राजधानी से सटे इंडस्ट्रीयल इलाके में एक घटना ने दिल्ली के बुराड़ी कांड की यादें ताजा कर दी हैं। मंडीदीप की रहवासी कॉलोनी में 24 घंटे से बंद मकान में 2 बच्चों सहित 4 लोगों के शव मिलने का सनसनीखेज मामला सामने आया है।


घर में परिवार का मुखिया गंभीर अवस्था में मिला है जिसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।  मंडीदीप के वार्ड 23 स्थित हिमांशु कॉलोनी के मकान नंबर सी 55 में मूलतः छत्तीसगढ़ का रहने वाला 25 वर्षीय सन्नू अपने परिवार के साथ रहता है।

सन्नू के पड़ोसी नितिन चौहान के मुताबिक मंगलवार शाम सन्नू को जब उसने किसी काम के लिए आवाज़ लगाई तो कोई जवाब नहीं आया। घर से कोई आहट न मिलने पर उसने आसपास के कुछ लोगों को बताकर फिर आवाज लगाई तो अंदर से बहुत धीमी आवाज सुनाई दी।

इसके बाद पुलिस को सूचना दी और मौके पर बुलाकर दरवाजा खटखटाया, दरवाज़ा नहीं खुलने पर पुलिस ने दरवाजा तोड़ दिया। दरवाजा खुलने के बाद घर के भीतर पांच लोग अचेत अवस्था में मिले। इनमें घर के मुखिया सन्नू की सांस चल रही थी जबकि उसकी पत्नी पूर्णिमा, 12 दिन की बेटी और कुछ दिन पहले महाराष्ट्र से आए 11 वर्षीय साले और सास की मौत हो चुकी थी।

पुलिस को मौके से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। पुलिस को पूरा मामला संदिग्ध प्रतीत हो रहा है। मरने वाले चारों लोगों के मुंह से झाग निकल रहा था। इससे इन सभी की जहर देकर हत्या करने पर शक जा रहा है। जहां से चारों लाशें बरामद हुई, वहां कमरे में सिगड़ी जल रही थी। इससे पुलिस को ये भी शक है कि कहीं दम घुटने से सभी की मौत तो नहीं हुई है।

पूरे मामले पर मंडीदीप थाना प्रभारी संजय सिंह के मुताबिक घर के अंदर से पुलिस को 4 शव मिले हैं जबकि घर का मुखिया गंभीर हालत में मिला है। उसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस घटना के कारणों की जांच कर रही है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख आयुष्मान योजना के बारे में सिर्फ 1 मिनट में जानिए पूरी जानकारी, कैसे मिलेगा आपको इसका लाभ...