कमलेश तिवारी हत्याकांड, गुजरात-राजस्थान बॉर्डर से दोनों मुख्‍य आरोपी गिरफ्तार

मंगलवार, 22 अक्टूबर 2019 (22:14 IST)
लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की हत्या के मामले में पुलिस ने मंगलवार को अशफाक और मोइनुद्दीन को गुजरात एटीएस ने गिरफ्तार कर लिया है। दोनों आरोपियों को गुजरात-राजस्थान बॉर्डर से गिरफ्तार किया गया है।
 
डीआईजी एटीएस गुजरात हिमांशु शुक्ला के निर्देशन में एसपी बीपी रोजिया, एसीपी बीएस चावड़ा और अन्य अधिकारियों ने कमलेश तिवारी की हत्या के मामले में वॉन्टेड आरोपियों अशफाक हुसैन और मोइनुद्दीन को गिरफ्तार कर लिया। गुजरात एटीएस ने गिरफ्तारी का वीडियो भी जारी किया है।

उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह ने भी गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए कहा कि दोनों ही आरोपी जल्द से जल्द लखनऊ लाए जाएंगे और उन्हें कड़ी से कड़ी सजा दिलवाई जाएगी।

इससे पहले गुजरात से पकड़े गए तीन आरोपियों को लखनऊ की कोर्ट में पेश किया गया। तीनों को 4 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया।
 
उत्तरप्रदेश की राजधानी लखनऊ में शुक्रवार को एक सनसनीखेज घटनाक्रम में हिंदू महासभा के नेता कमलेश तिवारी की उनके कार्यालय में ही गोरी मारकर हत्या कर दी गई थी। बताया जा रहा है कि भगवा कपड़े पहने दो हमलावर हाथ में मिठाई के डिब्बा लेकर कार्यालय में घुसे। बातचीत के बाद अचानक मिठाई के डिब्बा में छिपाकर लाई बंदूक से गोली मार दी।
 
उल्लेखनीय है कि हिंदू महासभा के नेता कमलेश तिवारी की पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ विवादित बयान देने के मामले में गिरफ्तारी हुई थी। वह जमानत पर रिहा चल रहे थे। इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने अभी हालही में इपनर लगी राष्ट्रीय सुरक्षा कानून(रासुका) को हटाई थी।
 
तिवारी ने महात्मा गांधी के हत्यारे गोडसे के सम्मान में मंदिर बनवाने का भी ऐलान किया था। कुछ साल पहले उन्होंने फिल्म अभिनेता आमिर खान का सिर कलम करने की बात भी कही थी।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख नौशेरा सेक्टर में पाक गोलीबारी में सेना का जवान शहीद, अंवतीपोरा में तीन आतंकी ढेर